Mission Paani: क्यों सूखा रियासतकालीन सागर सरोवर ? यहां देखें कारण

Arbaaz Ahmed | News18 Rajasthan
Updated: September 2, 2019, 5:13 PM IST
Mission Paani:  क्यों सूखा रियासतकालीन सागर सरोवर ? यहां देखें कारण
आमेर रियासत के लिए पीने का पानी मुहैया कराने वाला सागर सरोवर प्रदेशभर में बारिश के अच्छे दौर के बावजूद सूखा है.फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

#Mission Paani: ओह रे ताल मिले नदी के जल में... नदी मिले सागर में... सागर मिले कौनसे जल में.... कोई जाने न... 1968 की फिल्म अनोखी रात के गीतकार इंदीवर (Indivar) का ये गीत जयपुर (Jaipur) के नाहरगढ़ अभ्यारण्य (Nahargarh Sanctuary) में बने सागर सरोवर (Sagar Sarovar) पर इन दिनों सटीक कटाक्ष साबित हो रहा है.

  • Share this:
ओह रे ताल मिले नदी के जल में... नदी मिले सागर में... सागर मिले कौनसे जल में.... कोई जाने न... 1968 की फिल्म अनोखी रात के गीतकार इंदीवर (Indivar) का ये गीत जयपुर (Jaipur) के नाहरगढ़ अभ्यारण्य (Nahargarh Sanctuary) में बने सागर सरोवर (Sagar Sarovar) पर इन दिनों सटीक कटाक्ष साबित हो रहा है. कभी आमेर रियासत (Amer State) के लिए पीने का पानी (drinking water) मुहैया कराने वाला सागर सरोवर प्रदेशभर में बारिश के अच्छे दौर के बावजूद सूखा (Dry) है. चारों तरफ जमकर बारिश हुई और जयपुर में भी उसकी कमी नहीं रही है. लेकिन वन विभाग से लेकर पर्यटन विभाग और पुरातत्व विभाग से लेकर जलदाय विभाग इस मामले में अपनी नींद निकाल रहे हैं.

4 साल से सरोवर में नहीं पहुंचा पानी
सागर सरोवर कभी आमेर की खूबसूरती में चार चांद लगाया करता था. नाहरगढ़ अभ्यारण्य की पहाड़ियों का बरसात का पानी कभी सिमटकर इस सरोवर में समा जाता था. लेकिन गत 3 साल से लगातार सागर का जल स्तर घटने के बाद इस साल यह पूरी तरह से सूख गया है. ना तो पिछले 3 साल की बरसात का पानी सागर में पहुंचा न ही इस साल हुई औसत से भी अच्छी बरसात का पानी वहां पहुंच पाया है. आखिर इसके पीछे क्या कारण हैं. आखिर इतनी बरसात के बाद भी सागर में पानी क्यों नहीं आया.

यह है पानी नहीं पहुंचने का कारण

दरअसल पहाड़ों से रिसकर सागर तक पहुंचने वाला पानी यहां नहीं आकर रास्ते में ही बिखर रहा है. रियासत काल में पहाड़ों के पानी को सागर तक पहुंचाने के लिए बनाई गया नाला कई जगह से अवरुद्ध हो रखा है. पानी का पूरा रास्ता कचरे, मिट्टी और लकड़ियों से रुका है. इस कारण नाहरगढ़ की पहाड़ियों में बरसा पानी सागर में पहुंचने के बजाय यूं ही बेकार पहाड़ों पर ही फैलकर बिखर जाता है.

वन विभाग ने किया कोढ़ में खाज का काम
कुछ स्थानीय लोग लगातार श्रमदान कर पानी के रास्तों को सही करने की कोशिश भी कर रहे हैं, लेकिन सीमित संसाधनों के कारण उनसे पार नहीं पड़ रही है. सागर तक पानी पहुंचाने वाला ये नाला रिसायत काल में बना था. लेकिन अब यह पूरा कचरे से भर गया है. नाले में काफी ज्यादा मिट‌्टी भरी हुई है. इसे वन विभाग द्वारा साफ कराया जाना चाहिए था, लेकिन विभाग ने इसे साफ कराने की बजाय पहाड़ों में ही कई एनीकट बना दिए. इससे पानी पहाड़ों में ही पानी रुक जाता है या फिर बिखर जाता है. इसके चलते आमेर रियासत का यह सागर सरोवर पानी का तरस रहा है. बहुत से पर्यटक परिवार के साथ सागर पर पिकनिक मनाने के लिए आते हैं, लेकिन यहां आने के बाद निराश होकर लौट जाते हैं.
Loading...

इश्किया गणेश मंदिर, यहां प्रेमियों की मनोकामना होती है पूरी

यात्रियों की जिंदगी बचाने को ट्रैक पर दौड़ता रहा ग्रामीण

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 2, 2019, 5:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...