होम /न्यूज /राजस्थान /

Rajasthan: MLA महेंद्रजीत सिंह मालवीय के वायरल वीडियो से गरमायी सियासत, बीजेपी ने कांग्रेस पर साधा निशाना

Rajasthan: MLA महेंद्रजीत सिंह मालवीय के वायरल वीडियो से गरमायी सियासत, बीजेपी ने कांग्रेस पर साधा निशाना

इस वायरल वीडियो में बांसवाड़ा स्थित आनंदपुरी की मुंदरी पंचायत में मालवीय यह कहते हुये बताये जा रहे हैं कि डूंगरपुर वाले बीटीपी के दोनों विधायकों ने 10 -10 करोड़ रुपए लिए हैं.

इस वायरल वीडियो में बांसवाड़ा स्थित आनंदपुरी की मुंदरी पंचायत में मालवीय यह कहते हुये बताये जा रहे हैं कि डूंगरपुर वाले बीटीपी के दोनों विधायकों ने 10 -10 करोड़ रुपए लिए हैं.

राजस्थान में राजनीति (Politics) एक बार गरमाने लगी है. दल-बदल कानून और लव जिहाद के मसले के बाद अब कांग्रेस विधायक महेन्द्रजीत सिंह मालवीय (Mahendrajit Singh Malviya) के वायरल वीडियो ने प्रदेश की सियासत में हलचल मचा रखी है.

जयपुर. प्रदेश में सरकार पर आए सियासी संकट (Political crisis) और बाद में राज्यसभा चुनाव के दौरान उठा विधायकों की खरीद-फरोख्त (Horse Trading) का मुद्दा एक बार फिर गरमा गया है. कांग्रेस के नेता एवं विधायक महेंद्रजीत सिंह मालवीय (Mahendrajit Singh Malviya) का एक वीडियो वायरल (Viral video) होने के बाद बीजेपी ने गहलोत सरकार पर निशाना साधा है. बीजेपी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष अरुण चतुर्वेदी ने कहा है कि राजस्थान में सरकार स्वयं हॉर्स ट्रेडिंग के काम में लगी हुई है.

हाल ही में एक वीडियो वायरल हुआ है. यह वीडियो कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं बागीदौरा से विधायक महेंद्रजीत सिंह मालवीय का 25 नवंबर का बताया जा रहा है. इसमें बांसवाड़ा स्थित आनंदपुरी की मुंदरी पंचायत में मालवीय यह कहते हुये बताये जा रहे हैं कि डूंगरपुर वाले बीटीपी के दोनों विधायकों ने 10 -10 करोड़ रुपए लिए हैं. राज्यसभा चुनाव के दौरान 5-5 करोड़ रुपए और सरकार पर सियासी संकट के समय भी 5-5 करोड़ रुपए लिए हैं. मालवीय इस वीडियो में आगे कहते हैं कि मुझे तो कोई दस करोड़ दे तो मैं चुपचाप घर चला जाऊंगा. लेकिन बीटीपी के दोनों विधायकों को पैसे खा कर मस्ती सूझी है.

Rajasthan: अब सीपी जोशी के बयान ने मचाई हलचल, कहा- निर्वाचित लोग ही पार्टियां चलाएं

बीजेपी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ने कहा- कांग्रेस अपने गिरेबान में झांके
इस वायरल वीडियो को लेकर पूर्व प्रदेशाध्यक्ष डॉ. अरुण चतुर्वेदी ने कहा कि राजस्थान में सरकार स्वयं हॉस ट्रेडिंग के काम में लगी हुई है. बकरा मंडी में माल खरीदने में लगी हुई है. कांग्रेस पार्टी ने अपनी सत्ता को बचाने के लिए विधायकों की जो मंडी लगाई थी. उसमें खरीददार भी कांग्रेस पार्टी है और बिकाऊ भी वहीं है. अरुण चतुर्वेदी ने मुख्यमंत्री को नसीहत देते हुए कहा कि वह अपने गिरेबान में झांके और दूसरों पर आरोप लगाने के स्थान पर अपने घर को संभालें. चतुर्वेदी ने कहा की आपका घर बिखर रहा है उस घर को जमाने की जिम्मेदारी बीजेपी की नहीं है. वह जिम्मेदारी आपकी स्वयं की है.

Tags: BJP, Congress, Rajasthan Politics

अगली ख़बर