लाइव टीवी

विधायक वाजिब अली ने CM गहलोत से की CAA के खिलाफ प्रस्ताव लाने की मांग
Jaipur News in Hindi

News18 Rajasthan
Updated: January 17, 2020, 10:01 PM IST
विधायक वाजिब अली ने CM गहलोत से की CAA के खिलाफ प्रस्ताव लाने की मांग
पंजाब विधानसभा में शुक्रवार को सीएए के खिलाफ प्रस्ताव पारित किया गया.

केरल के बाद अब सीएए (CAA) के खिलाफ पंजाब विधानसभा में भी प्रस्ताव पारित हो गया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान के विधायक वाजिब अली (Wajib Ali) ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) को पत्र लिखकर अगले विधानसभा सत्र में नागरिकता संशोधन कानून (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ प्रस्ताव लाने की मांग की है.

केरल के बाद अब पंजाब विधानसभा में CAA के खिलाफ प्रस्ताव पास

बता दें कि केरल के बाद अब सीएए के खिलाफ पंजाब विधानसभा में भी प्रस्ताव पारित हो गया है. शुक्रवार को इस कानून के खिलाफ पंजाब विधानसभा में प्रस्ताव पेश किया गया. इससे पहले गुरुवार को पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रस्ताव लाने की संभावना जताई थी. कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और बैंस ब्रदर्स की लोक इंसाफ पार्टी ने सीएए के खिलाफ लाए गए प्रस्ताव का समर्थन किया. वहीं, अकाली दल और बीजेपी ने सीएए के खिलाफ लाए गए कांग्रेस के प्रस्ताव का विरोध किया.

क्या है CAA

केंद्र सरकार नागरिकता अधिनियम, 1955 में बदलाव करने हेतु संसद में नागरिकता संशोधन बिल लेकर आई. दोनों सदनों में इस बिल के बहुमत से पास होने के बाद 12 दिसंबर को राष्ट्रपति ने इस पर अपनी मुहर लगा दी. जिसके करीब एक महीने बाद सरकार ने अधिसूचना जारी कर इसे पूरे देश में लागू कर दिया है. इस कानून के मुताबिक अब पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आए हुए हिंदू, सिख, ईसाई, जैन, बौद्ध और पारसी शरणार्थियों को भारत की नागरिकता दे दी जाएगी. कानून लागू होने से पहले इन्हें अवैध शरणार्थी माना जाता था.

क्यों हो रहा है CAA और NRC को लेकर विरोध प्रदर्शन

सीएए को लेकर विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों का मानना है कि यह कानून भारत के संविधान के खिलाफ है. प्रदर्शनकारियों का मानना है कि ये भारत के संविधान की सेक्युलर संरचना पर हमला करता है. लोगों का मानना है कि इस कानून के दायरे में पड़ोसी देशों में पीड़ित मुसलमानों को भी शामिल करना चाहिए. उनका यह भी आरोप है कि जब देश में एनआरसी लागू होगा तो दस्तावेजों के अभाव में लाखों लोगों को नागरिकता साबित करने में मुश्किल आएगी या फिर डिटेंशन सेंटर में जाना पड़ेगा.

ये भी पढ़ें-

गहलोत सरकार ने पाकिस्तानी विस्थापित शरणार्थियों को 50% रियायत पर दी जमीन

कांस्टेबल भर्ती परीक्षा: सीएम ने अभ्यर्थियों को दी आयु सीमा में एक वर्ष की छूट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 17, 2020, 9:56 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर