होम /न्यूज /राजस्थान /मानसून का मेघ-मल्हार: राजस्थान के 22 बड़े बांधों में भराव क्षमता का 94.63 फीसदी पानी आया

मानसून का मेघ-मल्हार: राजस्थान के 22 बड़े बांधों में भराव क्षमता का 94.63 फीसदी पानी आया

Jaipur news: राजस्थान में मानसून में खूब अमृत-वर्षा, बांधों के हालात पर ताजा ग्राउंड रिपोर्ट

Jaipur news: राजस्थान में मानसून में खूब अमृत-वर्षा, बांधों के हालात पर ताजा ग्राउंड रिपोर्ट

Jaipur News: मरुधरा पर इस बार मानसून का मेघ-मल्हार खूब मेहरबान रहा है. सामान्य से ज्यादा बारिश होने से कई बांधों के ओवर ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

कई बांध लबालब, प्रदेश में तीन-चार साल के लिए पानी की किल्लत दूर
सभी बांधों की क्षमता 12608.29 एम.क्यूसेक, 10515.03 एम.क्यूसेक पानी की आवक

जयपुर. राजस्थान में इस साल मानसून (Monsoon) में अमृत-वर्षा खूब हो रही है. मानसून के इस सीजन में 738 बांधों में 83.40% प्रतिशत पानी का स्टोरेज (Water storage) हो चुका है. पिछले साल इस समय तक 69.41% पानी ही आया था. प्रदेश के 22 बड़े बांधों में तो कुल भराव क्षमता का 94.63% पानी अब तक आ चुका है. ताजा रिपोर्ट (Latest Report) के अनुसार प्रदेश के बांधों (Dams of Rajasthan) में 10515.03 एम.क्यूसेक पानी आया है, जबकि इनकी क्षमता 12608.29 एम. क्यूसेक है. इस साल मानसून की जोरदार बरसात के बाद भले ही अब उसकी विदाई का दौर आ गया हो, लेकिन प्रदेश में बांधों में पानी की आवक अब भी जारी है.

प्रदेश के छोटे, बड़े और मझोले 738 बांधों में 83.40% यानी 10515.03 एम. क्यूसेक पानी आ चुका है. प्रदेश में 22 बड़े बांधों में पानी स्टोरेज 94.63% प्रतिशत हो गया है. प्रदेश के मध्यम स्तर के 279 बांधों में 64.98% पानी आया है, जबकि छोटे 437 बांधों में 55.38% पानी आ चुका है. प्रदेश के बांधों में एक साथ एक दशक बाद पानी की इतनी आवक हुई है.

राजस्थान के मंत्री चाहते हैं गहलोत बने रहें सीएम, पायलट के लिए राह होगी मुश्किल!

लघु बांधों में से भी 299 बांध हुए लबालब
प्रदेश में झमाझम बारिश से 738 मध्यम और लघु बांधों में से 299 बांध पूरी तरह से भर कर लबालब हो चुके हैं. 215 बांध में 99 फीसदी तक पानी आया है. जबकि 202 बांध अभी भी खाली हैं. 24 सितम्बर तक की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक 738 में से 125 मध्यम और 174 लघु बांधों पर चादर भी चली है. प्रदेश में जलापूर्ति वाले सबसे महत्वपूर्ण 22 बड़े बांधों के हालात देखें तो 7 बांधों में सौ फसदी पानी है.

जयपुर, टोंक व अजमेर के लिए पेजयल पूरा
जयपुर, टोंक व अजमेर की एक करोड़ से ज्यादा आबादी को पेयजल सप्लाई करने वाली बीसलपुर बांध में अब तक जल स्तर सौ फीसदी यानी 315.50 आरएल मीटर हो गया है. प्रदेश के राणाप्रताप सागर में 99.47%, कोटा बैराज में 98.08%, गुढ़ा डेम में सौ फीसदी, सोम कमला अंबा में 98.65% व जयसमंद बांध में 100% पानी आया है. बांधों पर बनी रिपोर्ट को गौर देखा जाए तो प्रदेश में 279 मध्यम ऊंचाई व कम भराव क्षमता के बांध है. हर बांध की क्षमता 4.25 एमक्यूएम से ज्यादा है. इन बांधों में भराव 34% से बढ़कर 64.98% तक पहुंच गया है.

प्रदेश के टॉप 22 बांधों में कितना आया
कोटा बैराज (कोटा) – 98.08%
राणा प्रताप सागर (चित्तौड़गढ़) – 99.47%
हारो (बांसवाड़ा) – 100.00%
बूंदी गूढ़ा डेम- 100.00%
सोम कमला अंबा बांध (डूंगरपुर) – 98.65%
जाखम बांध (प्रतापगढ़) -100.00%
पार्वती बांध (धौलपुर) -91.42%
माही बजाज सागर (बांसवाड़ा) -100.00%
जवाहर सागर कोटा – 82.05%
गलवा बांध टोंक – 100.00%
जयसमंद (उदयपुर) -100.00%
टोरड़ी सागर (टोंक) – 78.32%
मोरेल (दौसा) – 65.04%
बीसलपुर बांध (टोंक) – 100.00%
जवाई बांध (पाली) – 89.54%
छापरवाड़ा (जयपुर) -52.78%
सरदार समंद (पाली) -27.30%
राजसमंद (राजसमंद) – 23.08%
मेजा बांध (भीलवाड़ा) -5.75%
सिकरी बांध (भरतपुर) -0.00%
रामगढ़ बांध (जयपुर) – 0.00%
कालख सागर (जयपुर) – 0.00 %

Tags: Jaipur news, Rajasthan monsoon

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें