राजस्थान: मानसून की अति सक्रियता फेर सकती है गहलोत सरकार की तैयारियों पर पानी, जानिये कैसे ?

पिछले साल जयपुर में भारी बारिश हुई थी. इससे शहर थम गया था.

Monsoon reached Rajasthan: प्रदेश में इस बार मानसून ने समय पूर्व दस्तक दे चुका है. इससे सरकार के सामने संकट आ खड़ा हुआ है. क्योंकि मानसून के दौरान आने वाली संभावित आपदाओं से निपटने के लिये सरकार अभी तक अपनी तैयारियों को अमली जामा नहीं पहना पाई है.

  • Share this:
जयपुर. मानसून (Monsoon) ने इस बार राजस्थान में 10 दिन पूर्व 18 जून को ही दस्तक दे दी है. इससे किसानों को भले ही राहत मिल गई हो लेकिन सरकार के सामने संकट खड़ा हो गया है. मानसून की अति सक्रियता से गहलोत सरकार (Gehlot Government) की तैयारियां पर पानी फिर सकता है. इसकी वजह यह है कि सरकार अभी तक मानसून में सामने आने वाली संभावित परेशानियों से मुकाबला करने के माकूल इंतजाम नहीं कर पाई है. यह बात दीगर है कि सरकार का दावा है कि उसकी तैयारियां पूरी कर ली गई है.

सूत्रों की मानें तो हालांकि सरकार ने पिछले वर्ष मानसून में भारी बारिश से पैदा हुये हालात से सबक लेते हुये समय से तैयारियां शुरू कर दी थी, लेकिन इस बार मानसून समय से करीब 10 दिन पहले 18 जून को ही आ धमका. इसके कारण उन तैयारियों को अभी तक पूरी तरह से अमली जामा नहीं पहनाया जा सका है. इसके कारण आने वाले कुछ दिनों में भारी बारिश होती है तो मुश्किलों का सामान करना पड़ा सकता है. पिछले वर्ष तैयारियों के अभाव में जयपुर में मानसून में आई भारी बारिश से बाढ़ सरीखे हालात हो गये थे.

सरकार का दावा तैयारियां पूरी हैं
गत वर्ष राज्य में मूसलाधार बारिश के चलते कई जिलों में बाढ़ के हालात पैदा हो गये थे. राजधानी जयपुर में मुख्य बाजार समेत कई कॉलोनियां जलमग्न हो गईं थी. भारी बारिश की वजह से जयपुर ठहर गया था. हालांकि इस बार राज्य सरकार का दावा है कि सरकार ने पिछली बार रही खामियों को दूर कर लिया है. जनधन को बचाने के लिए पुख्ता इंतजाम किए गये हैं. आपदा प्रबंधन विभाग की संयुक्त सचिव कल्पना अग्रवाल का कहना है कि सरकार ने मानसून पूर्व पूरी तैयारी कर ली है. प्रशासन अलर्ट है.

जरुरतमंदों के लिये भोजन- पानी की व्यवस्था भी की जायेगी
सभी कलेक्टर्स को आवश्यक तैयारी करने के निर्देश जारी कर दिए हैं. सभी जिलों के पास पर्याप्त राशि है. राहत एवं बचाव कार्य के लिए सभी इंतजाम कर लिए गए हैं. जिन क्षेत्रों में भारी वर्षा की संभावना होती है वहां विशेष चौकसी रहेगी. स्काउट एवं गाइड के प्रतिनिधि प्रत्येक जिले में स्वयं सेवक के रूप में मौजूद रहेंगे. अप्रिय हालात होने पर जरुरतमंदों के लिये भोजन- पानी की व्यवस्था भी की जायेगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.