Assembly Banner 2021

राजस्थान में 73 प्रतिशत से अधिक मतदान, पोकरण सीट पर सर्वाधिक वोटिंग

कोटा में मतदान करने के लिए लाइन में खड़े मतदाता.

कोटा में मतदान करने के लिए लाइन में खड़े मतदाता.

राज्य की पोकरण विधानसभा सीट पर सबसे अधिक 87.07 प्रतिशत व सुमेरपुर विधानसभा क्षेत्र में सबसे कम 59.97 प्रतिशत मतदान हुआ है. कुमार ने हालांकि 2013 के पिछले चुनाव की तुलना में मतदान प्रतिशत कम रहने पर निराशा जताई.

  • Share this:
राजस्थान में विधानसभा की 199 सीटों के लिए शुक्रवार को हुए मतदान में लगभग 73.62 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. दो तीन छोटी-मोटी घटनाओं को छोड़कर प्रदेश में मतदान पूरी तरह शांतिपूर्ण रहा. मतदान का अंतिम आंकड़ा देर रात तक ही आ पाएगा क्योंकि डाक मतों व सेवा मतों को अभी इसमें जोड़ा जाना बाकी है. इसके साथ ही कुछ मतदान केंद्रों में मतदान देर शाम तक जारी था.

राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी आनंद कुमार ने यहां संवाददाताओं को बताया कि नियमों के अनुसार पांच बजे तक मतदान केंद्र में मतदाताओं की कतार में लगने वाले लोग मतदान कर सकते हैं इसलिए कई जगह मतदान की प्रक्रिया अभी चल रही है. उन्होंने कहा कि डाक मतों व सर्विस मतों को इसमें जोड़ा जाना बाकी है. उन्होंने कहा कि शाम सात बजे तक 72.59% मतदान हो चुका था.

ये भी पढ़ें - 

उन्होंने बताया कि राज्य की पोकरण विधानसभा सीट पर सबसे अधिक 87.07 प्रतिशत व सुमेरपुर विधानसभा क्षेत्र में सबसे कम 59.97 प्रतिशत मतदान हुआ है. कुमार ने हालांकि 2013 के पिछले चुनाव की तुलना में मतदान प्रतिशत कम रहने पर निराशा जताई. 2013 में कुल मिलाकर 75.23% मतदान हुआ था. कुमार ने कहा कि लोगों को जागरुक करने के अभियान तथा अन्य गतिविधियों के चलते मतदान अधिक रहने की उम्मीद थी.

वहीं विशिष्ट पुलिस महानिदेशक (कानून व्यवस्था) एनआरके रेड्डी ने बताया कि दो तीन छोटी घटनाओं को छोड़कर राज्य भर में मतदान शांतिपूर्ण रहा. इन घटनाओं के कारण मतदान की प्रक्रिया बाधित नहीं हुई.

उन्होंने बताया कि बीकानेर के कोलायत तथा सीकर में दो गुटों में झड़प हुई. वहीं अलवर के शाहजहांपुर के एक गांव में कुछ लोगों ने मतदान केंद्र में घुसने की कोशिश की. वहां अर्धसैनिक बलों को हालात पर काबू पाने के लिए हवा में गोलियां चलानी पड़ी. इस घटना के कारण मतदान बाधित हुआ.

बीकानेर के कोलायत में एक मतदान केंद्र के बाहर दो गुट आपस में उलझ गए. एक वाहन फूंक दिया गया. सीकर में भी ऐसी झड़प हुई लेकिन मतदान अप्रभावित रहा. कुमार ने बताया कि कई मतदान केंद्रों पर ईवीएम व वीवीपैट मशीनों को बदलना पड़ा हालांकि यह संख्या बहुत मामूली रही.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज