लाइव टीवी

राजस्थानः लोक अदालतों में 1 लाख से अधिक मामले हुए निस्तारित, कई घर भी दोबारा बसे


Updated: February 12, 2017, 10:25 AM IST
राजस्थानः लोक अदालतों में 1 लाख से अधिक मामले हुए निस्तारित, कई घर भी दोबारा बसे
फोटो-(ईटीवी)

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद देशभर में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में इस बार रिकॉर्ड तोड़ मामलों का निस्तारण हुआ.

  • Last Updated: February 12, 2017, 10:25 AM IST
  • Share this:
सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद देशभर में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में इस बार रिकॉर्ड तोड़ मामलों का निस्तारण हुआ.

राजस्थान में भी आयोजित हुईं लोक अदालतों में 1 लाख 18 हजारर 817 मामलों का निस्तारण हुआ. साथ ही इन मामलों की एवज में करीब 201 करोड़ रुपए का अवॉर्ड भी पारित हुआ.

राजस्थान में रालसा के निर्देश पर हाईकोर्ट से लेकर अधीनस्थ अदालतों में लोक अदालतों का शनिवार को आयोजन किया गया, जिसमें पहली बार हाईकोर्ट सीटिंग जजेज ने मामलों की सुनवाई की.

रालसा के अध्यक्ष एस के जैन ने बताया कि इस बार प्रदेश में लोक अदालतों में उम्मीद से ज्यादा मामलों का निस्तारण हुआ. प्रदेश की अदालतों में करीब साढ़े 15 लाख मामले लम्बित पड़े हैं, जिसमें से शनिवार को एक दिन में ही करीब 1 लाख मामलों का निस्तारण हो गया.

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि शनिवार जिन लोगों को नोटिस तामील होने के बाद भी सुनवाई नहीं हो सकी. ऐसे लोगों के लिए 25 फरवरी को विशेष लोक अदालत आयोजित की जाएंगी.

आपको बता दें कि लोक अदालतों में न केवल अनेक प्रकरणों का निस्तारण हुआ, बल्कि अनेक घर भी बसे. उदाहरण के रूप में दौसा में पारिवारिक न्यायालय में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में 6 प्रकरणों में पति-पत्नी साथ रहने के लिए सहमत हुए और उन्होंने जिला एवं सेशन न्यायाधीश, दौसा के समक्ष आपस में माला पहनाकर सुखद जीवन का आशीर्वाद प्राप्त किया.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 12, 2017, 10:25 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर