• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • राजस्थान के इन 4 शहरों का होगा कायाकल्प, जानें-गहलोत सरकार का मेगा प्लान

राजस्थान के इन 4 शहरों का होगा कायाकल्प, जानें-गहलोत सरकार का मेगा प्लान

मांउट आबू की पहाड़ियां और पुष्कर का विश्वप्रसिद्ध ब्रह्मा मंदिर पर्यटकों को खासा लुभाता है.

मांउट आबू की पहाड़ियां और पुष्कर का विश्वप्रसिद्ध ब्रह्मा मंदिर पर्यटकों को खासा लुभाता है.

Mega development project of gehlot government: राजस्थान की गहलोत सरकार प्रदेश के चार अहम शहरों माउंट आबू, पुष्कर, नाथद्वारा और पिलानी के आधारभूत ढांचे को मजबूत करने की दिशा में आगे बढ़ रही है. इसके लिये 155 करोड़ रुपये के विकास कार्यों की मंजूरी दी गई है.

  • Share this:

    जयपुर. राजस्थान के चार अहम शहर (Important City) अब विकास की नई ऊचाइंयां छूने की ओर अग्रसर होंगे. इनमें राजस्थान का एकमात्र हिल स्टेशन माउंट आबू (Mount Abu), विश्वप्रसिद्ध तीर्थ नगरी पुष्कर (Pushkar), श्रीनाथ की नगरी नाथद्वारा (Nathdwara) और शिक्षा के लिये अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध पिलानी (Pushkar) शहर शामिल हैं. राज्य सरकार इन शहरों के आधारभूत ढांचे के मजबूत करने के लिये 155 करोड़ रुपये खर्च करेगी. इससे इन शहरों का न केवल आधारभूत ढांचा मजबूत होगा बल्कि यहां पर्यटन की संभावनाओं और पंख लगेंगे. इससे पहले राजस्थान में जयपुर, कोटा और अजमेर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत विश्वस्तरीय सुविधाओं से लैस किये जाने के प्रयास चल रहे हैं.

    मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चारों शहरों को आरयूआईडीपी के फेज-4-ट्रेंच-2 में जोड़ने को मंजूरी दे दी है. स्वायत्त शासन विभाग की ओर से भेजे गए प्रस्ताव को सीएम की मंजूरी मिल जाने के बाद इन शहरों के विकास कार्य की राह खुल गई है. योजना के तहत चारों शहरों में विभिन्न प्रकार के विकास और सौन्दर्यकरण के कार्य करवाये जायेंगे. इससे इन शहरों का स्तर बढ़ने के साथ ही यहां के निवासियों को भी कई सुविधायें मुहैया होने की उम्मीद है.

    सबसे ज्यादा पैसा श्रीनाथ की नगरी नाथद्वारा में खर्च होंगे
    योजना के तहत सबसे ज्यादा पैसा श्रीनाथ की नगरी नाथद्वारा में खर्च होंगे. उदयपुर संभाग के राजसमंद जिले में स्थित नाथद्वारा शहर में 80 करोड़ रुपये की लागत से विकास कार्य होंगे. यहां इस राशि से पेयजल आपूर्ति, सड़क सुदृढ़ीकरण और शहर के दो तालाबों के जीर्णोद्धार का कार्य किया जायेगा. नाथद्वारा विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी का निर्वाचन क्षेत्र है. यहां श्रीनाथ जी का प्रसिद्ध मंदिर है. मंदिर के दर्शनों के लिये देशभर से बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हैं. वहीं राजस्थान और गुजरात की सीमा पर स्थित माउंट आबू प्रदेश का एकमात्र हिल स्टेशन है. सिरोही जिले के इस पर्यटन केन्द्र पर राज्य सरकार इस योजना के तहत 25 करोड़ रुपये खर्च करेगी.

    पुष्कर और पिलानी पर खर्च होंगे 50 करोड़ रुपये
    इनके अलावा अजमेर जिले में स्थित घाटों की नगरी एवं विश्वप्रसिद्ध पर्यटन केन्द्र पुष्कर में भी राज्य सरकार 25 करोड़ रुपये खर्च करेगी. पुष्कर का धार्मिक महत्व होने के साथ ही यह विश्वभर में बतौर पर्यटन स्थल काफी अहम स्पॉट है. यहां देश और विदेश से बड़ी संख्या में पर्यटक आते हैं. चौथा शहर जो विकसित किया जायेागा वह सैनिकों की खान कहे जाने वाले वीर भूमि झुंझुनूं जिले का पिलानी शहर है. पिलानी शिक्षा के मामले में अपनी एक अलग पहचान रखता है. यहां भी गहलोत सरकार 25 करोड़ रुपये की लागत से विकाय कार्य करवायेगी. यहां पर्यटन विकास, शहरी सौन्दर्यकरण और अन्य विकास कार्य होंगे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज