Rajasthan: सांसद पीपी चौधरी ने रतलाम स्टेशन पर डेढ़ घंटे रुकवायी रखी ट्रेन, पहली बार हुआ ऐसा, जानिये क्यों

सांसद पीपी चौधरी ने कहा कि कोरना के दौर में केंद्र सरकार की हर एजेंसी और खास तौर पर भारतीय रेल बहुत अच्छा काम कर रही है.

सांसद पीपी चौधरी ने कहा कि कोरना के दौर में केंद्र सरकार की हर एजेंसी और खास तौर पर भारतीय रेल बहुत अच्छा काम कर रही है.

Human story in corona era : कोरोना काल में महाराष्ट्र में लगे लॉकडाउन (Lockdown) के कारण पुणे से पलायन करने अपने घर लौट रहे करीब 900 प्रवासी राजस्थानियों के लिये पाली सांसद पीपी चौधरी ने करीब डेढ़ घंटे तक रतलाम स्टेशन पर ट्रेन को रुकवाये रखा.

  • Share this:
जयपुर. देशभर में फैले कोरोना (COVID-19) के विकराल रूप के बीच कई तरह की मानवीय कहानियां (Human stories) सामने आ रही हैं. लेकिन ऐसा पहली बार हुआ जब पैसेंजरों के इंतजार में कोई ट्रेन (Train) डेढ़ घंटे से ज्यादा समय तक स्टेशन पर इंतजार करती रहे. पूर्व केंद्रीय कानून राज्यमंत्री एवं पाली सांसद पी पी चौधरी (PP Chaudhary) ने ट्रेन रुकवाने के लिए न सिर्फ रतलाम डीआरएम और रेल मंत्री को ट्वीट किया, बल्कि मंत्रालय के अधिकारियों और डीआरएम से फोन पर बात करके इस बात की पुख्ता व्यवस्था करवाई कि सवारियों के आने तक ट्रेन रतलाम स्टेशन पर रुकी रहे.

पुणे में अलग-अलग व्यवसाय कर रहे प्रवासी राजस्थानियों ने महाराष्ट्र में लॉकडाउन लगने के बाद मारवाड़ का रुख करने की सोची. लेकिन दिक्कत यह थी कि पुणे से राजस्थान आने वाली सभी ट्रेनें फुल थी. किसी भी ट्रेन में जगह नहीं मिल रही थी. ऐसे में प्रवासियों ने बुधवार को पुणे से रतलाम और रतलाम से पाली तथा जोधपुर आने के लिए टिकट बुक कराई. लेकिन पुणे से रतलाम के लिए चलने वाली ट्रेन नंबर 02943 पुणे स्टेशन से ही ढाई से 3 घंटे देरी से रवाना हुई.

सुबह करीब 8 बजे रतलाम स्टेशन पहुंची ट्रेन

इस ट्रेन के रतलाम पहुंचने का समय गुरुवार को सुबह 4.30 बजे था. लेकिन देरी होने के कारण यह ट्रेन सुबह करीब 8 बजे रतलाम स्टेशन पहुंची. सभी सवारियों को रतलाम से इंदौर जोधपुर स्पेशल ट्रेन नंबर 04802 पकड़नी थी. इसका रतलाम से रवाना होने का समय सुबह 6.30 बजे था. इस बीच पुणे से ट्रेन में बैठे लोगों ने पाली सांसद पीपी चौधरी को फोन किया. फोन आते ही सांसद कार्यालय के साथ खुद सांसद पीपी चौधरी भी एक्टिव हो गए। पी पी चौधरी ने रतलाम डीआरएम और रेल मंत्रालय के अधिकारियों से बात कर इस बात की पुख्ता व्यवस्था करवाई कि सवारियों के रतलाम स्टेशन पहुंचने तक इंदौर जोधपुर स्पेशल ट्रेन रतलाम स्टेशन से रवाना नहीं किया जाये.
स्टेशन मास्टर और जीआरपी के जवानों ने संभाला मोर्चा

सुबह करीब 8 बजे जब पुणे से आने वाली ट्रेन रतलाम स्टेशन पर पहुंची तो दूसरी ट्रेन पकड़ने की हड़बड़ी में पहुंचे 900 लोगों में किसी तरह का पैनिक न फैले इस बात के लिए रतलाम स्टेशन पर सांसद के फोन के बाद सभी व्यवस्थाएं पहले ही कर ली गई थी. स्पेशल ट्रेन से पाली पहुंचे जवाली के हीराराम ने बताया कि हमारे साथ छोटे बच्चे और उम्रदराज लोग भी थे. ऐसे में एक ट्रेन से उतर कर दूसरी ट्रेन को ढूंढना और उसमें चढ़ना काफी मुश्किल था.

सांसद ने रेल मंत्री और प्रधानमंत्री को दिया धन्यवाद



बकौल हीराराम सांसद पीपी चौधरी की कोशिशों के बाद रतलाम स्टेशन पर जीआरपी और आरपीएफ के जवान हमें गाइड करने और हमारी मदद के लिए तैयार खड़े थे. उनकी मदद से प्लेटफार्म नंबर दो पर खड़ी इंदौर जोधपुर स्पेशल ट्रेन में हम सभी करीब 900 लोग जोधपुर जाने वाली ट्रेन पकड़ पाए. इस मामले में पूछने पर पाली सांसद पीपी चौधरी ने बताया कि कोरना के दौर में केंद्र सरकार की हर एजेंसी और खास तौर पर भारतीय रेल बहुत अच्छा काम कर रही है. आज जिस तरह से रेल मंत्रालय के अधिकारियों ने प्रवासी राजस्थानियों के लिए जो काम किया उसके लिए मैं रेल मंत्री और प्रधानमंत्री को धन्यवाद देता हूं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज