• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना: 1.33 करोड़ परिवार जुड़े, अब तक तकरीबन 1.50 लाख का मुफ्त इलाज

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना: 1.33 करोड़ परिवार जुड़े, अब तक तकरीबन 1.50 लाख का मुफ्त इलाज

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि निशुल्क दवा और जांच योजना की तरह स्वास्थ्य के क्षेत्र में यह भी एक क्रांतिकारी योजना है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि निशुल्क दवा और जांच योजना की तरह स्वास्थ्य के क्षेत्र में यह भी एक क्रांतिकारी योजना है.

Mukhya Mantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana : राजस्थान की गहलोत सरकार का दावा है कि स्वास्थ्य बीमा से जुड़ी इस योजना से प्रदेश में अब तक 1 लाख 46 हजार से अधिक मरीजों का निशुल्क उपचार किया जा चुका है .

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान में मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना (Mukhya Mantri Chiranjeevi Swasthya Bima Yojana) लोगों के लिए वास्‍तव में संजीवनी साबित हो रही है. योजना का लाभ लेने में किसी प्रकार की परेशानी न आए इसके लिए अस्पतालों में हेल्प डेस्क (Help desk) स्थापित की जाएगी. इस योजना से प्रदेश में अब तक करीब 1 करोड़ 33 लाख परिवार जुड़ चुके हैं. योजना के जरिए अब तक 1 लाख 46 हजार से अधिक मरीजों का निशुल्क उपचार किया जा चुका है. इसकी लागत करीब 190 करोड़ रुपए आई है. योजना में क्लेम की संख्या लगातार बढ़ रही है. अब तक कुल 479 निजी अस्पतालों को योजना से जोड़ा जा चुका है.

सीएम अशोक गहलोत ने डोर टू डोर सर्वे कर सभी पात्र परिवारों को मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से जोड़ने के निर्देश दिए हैं. सीएम गहलोत ने बुधवार को योजना की समीक्षा बैठक ली और कहा कि एक भी जरूरतमंद पात्र परिवार योजना में रजिस्ट्रेशन से वंचित न रहे. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना और जांच योजना की तरह स्वास्थ्य के क्षेत्र में यह भी एक क्रांतिकारी योजना है. गहलोत ने निर्देश दिए कि हर स्तर पर योजना की मॉनिटरिंग की जाए. जिन परिवारों का जन आधार पंजीयन हो चुका है, उन्हें आवश्यक रूप से इस योजना से जोड़ा जाए. साथ ही योजना का व्यापक प्रचार-प्रचार भी किया जाए. मुख्यमत्री ने बड़े और अच्छी स्वास्थ्य सुविधाओं वाले निजी अस्पतालों को योजना में जोड़ने के निर्देश दिए हैं.

इलाज पर अब तक 190 करोड़ रुपये खर्च
बैठक में चिकित्सा सचिव वैभव गालरिया ने कहा कि मेडिकल कॉलेज से जुड़े अस्पतालों में अब तक 42 करोड़ के क्लेम निस्तारित किए जा चुके हैं. इसके साथ ही क्लेम के अनुपात को लगातार बेहतर किया जा रहा है. बैठक में स्टेट हैल्थ एश्योरेंस एजेंसी की सीईओ अरुणा राजोरिया ने प्रजेंटेशन दिया. इसके मुताबिक एक जुलाई से अब तक 85 नए अस्पताल योजना में एम्पेनल्ड किए गए हैं. वहीं कोविड की दूसरी लहर में जिन लाभार्थियों से राशि नहीं मिलने की शिकायतें प्राप्त हुई थीं उसे गंभीरता से लेते हुए रिफंड दिलाया गया है. अब तक 267 लाभार्थियों को रिफंड मिल चुका है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज