कांग्रेस ने जोधपुर में मेयर के लिये कुंती परिहार और पूजा पारीक को उतारा मैदान में

सीएम अशोक गहलोत के गृह क्षेत्र जोधपुर में सबसे अंत में प्रत्याशी घोषित किये गये.
सीएम अशोक गहलोत के गृह क्षेत्र जोधपुर में सबसे अंत में प्रत्याशी घोषित किये गये.

Municipal Corporation elections: कांग्रेस ने जोधपुर (Jodhpur) में कुंती परिहार को उत्तर नगर निगम से और पूजा पारीक को दक्षिण नगर निगम से चुनाव मैदान में उतारा है.

  • Share this:
जयपुर. कांग्रेस ने सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के गृह क्षेत्र जोधपुर के दोनों निगमों के मेयर पद (Mayor post) के लिये कुंती परिहार और पूजा पारीक पर दांव खेला है. कुंती परिहार को जोधपुर (Jodhpur) उत्तर निगम से और पूजा पारीक को जोधपर दक्षिण नगर निगम से चुनाव मैदान में उतारा गया है. यहां जोधपुर उत्तर निगम क्षेत्र में कांग्रेस के पास शानदार बहुमत है. वहीं दक्षिण नगर निगम में बीजेपी के पास बहुमत है.

जयपुर में कांग्रेस ने खेला गुर्जर कार्ड
वहीं कांग्रेस ने जयपुर में गुर्जर कार्ड खेला है. यहां उसने दोनों ही निगमों में गुर्जर समाज की महिलाओं को मैदान में उतारा है. इनमें जयपुर हेरिटेज नगर निगम के मेयर के लिये मुनेश गुर्जर और ग्रेटर नगर निगम के लिये दिव्या सिंह गुर्जर को अपना उम्मीदवार बनाया है. जयपुर में दोनों गुर्जर उम्मीदवार बनाये जाने से चर्चाओं का दौर तेज हो गया है. कांग्रेस के फैसले को गुर्जर आरक्षण आंदोलन और सचिन पायलट से जोड़कर देखा जा रहा है. जयपुर में कांग्रेस के पास दोनों ही निगमों में बहुमत नहीं है. यहां ग्रेटर में बीजेपी के पास स्पष्ट बहुमत है. जबकि हेरिटेज में कांग्रेस बीजेपी से लीड पॉजिशन में है और बहुमत के काफी करीब है. इस निगम क्षेत्र में कांग्रेस को बोर्ड बनाने के लिये मात्र चार पार्षदों की जरुरत है.

Big News: गहलोत सरकार ने अधिकारियों और कर्मचारियों के तबादलों पर लगाया बैन, आदेश जारी



कोटा में मंजू मेहरा और राजीव अग्रवाल पर खेला है दांव
कोटा में कांग्रेस ने मंजू मेहरा और राजीव अग्रवाल पर दांव खेला है. इनमें कोटा उत्तर नगर निगम मेयर के लिये मंजू मेहरा को चुनाव मैदान में उतारा गया है, जबकि कोटा दक्षिण निगम से राजीव अग्रवाल को उम्मीदवार बनाया गया है. कोटा उत्तर में कांग्रेस के पास शानदार बहुमत है. वहीं कोटा दक्षिण में कांग्रेस और बीजेपी दोनों बराबर-बराबर हैं. यहां दोनों पार्टियों के पास 36-36 पार्षद हैं. इस निगम क्षेत्र में चुनाव जीतकर आये 8 निर्दलीय पार्षद बोर्ड बनाने में अहम भूमिका निभायेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज