Jaipur: मेयर के चुनाव में बढ़ सकती है कांग्रेस की मुश्किलें, प्रत्याशी नहीं बनाये जाने से मुस्लिम प्रोग्रेसिव फोरम नाराज

जयपुर में एक निर्दलीय मुस्लिम पार्षद ने कांग्रेस के साथ होने की खबरों का खंडन किया है.
जयपुर में एक निर्दलीय मुस्लिम पार्षद ने कांग्रेस के साथ होने की खबरों का खंडन किया है.

Municipal Corporation elections: प्रदेश 6 नगर निगमों में से एक में भी मुस्लिम समुदाय के पार्षद को मेयर पद के लिये प्रत्याशी नहीं बनाने जाने से नाराज मुस्लिम प्रोग्रेसिव फोरम (Muslim Progressive Forum) ने इसको लेकर पीसीसी के बाहर धरना शुरू कर दिया है.

  • Share this:
जयपुर. नगर निगम चुनाव ((Municipal Corporation elections) ) में ज्यादा से ज्यादा मेयर बनाने की रणनीति में जुटी कांग्रेस के सामने अब एक नई मश्किल आन पड़ी है. प्रदेश के जयपुर, जोधपुर और कोटा में कहीं भी मुस्लिम पार्षद (Muslim Councilor) को मेयर प्रत्याशी (Mayor candidate) नहीं बनाये जाने से मुस्लिम समुदाय से जुड़े कई नेताओं की नाराजगी सामने आई है. कांग्रेस पार्टी के इस रवैये से खफा मुस्लिम समुदाय के एक संगठन ने प्रदेश कांग्रेस कमेटी कार्यालय के बाहर धरना शुरू कर दिया है. वहीं कांग्रेस जिन निर्दलीय पार्षदों के अपने खेमे में आने का दावा कर रही है उनमें से एक मुस्लिम पार्षद ने इससे साफ इनकार कर दिया है. अगर मामला तूल पकड़ा तो कांग्रेस को परेशानियों को सामना करना पड़ सकता है.

पीसीसी के बाहर शुरू किया धरना
जयपुर में मुस्लिम प्रोग्रेसिव फोरम ने इस बात को लेकर पीसीसी के बाहर धरना शुरू कर दिया है. धरना फोरम के अध्यक्ष मोहम्मद शरीफ की अगुवाई में दिया जा रहा है. मोहम्मद शरीफ ने कहा कि मुस्लिम समाज 98 फीसदी वोट कांग्रेस को देता है. इसके बावजूद मुस्लिम समुदाय को पहले भी प्रतिनिधित्व नहीं दिया. अब 6 नगर निगमों में कहीं भी एक भी मुस्लिम पार्षद को मेयर का उम्मीदवार नहीं बनाया गया है. यह मुस्लिम समुदाय के साथ घोर अन्याय है. इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. दूसरी तरफ जयपुर हेरिटेज नगर निगम के वार्ड 23 से निर्दलीय पार्षद जायदा बानो ने कांग्रेस के खेमे में जाने की खबरों का खंडन किया है. कांग्रेस ने गुरुवार को 8 अन्य निर्दलीयों पार्षदों के पार्टी के खेमे में आने का दावा किया था. लेकिन जायदा इससे साफ इनकार किया है.

Rajasthan: नगर निगम चुनाव पर भी गुर्जर आरक्षण आंदोलन का साया, तस्‍वीरों से समझें BJP-कांग्रेस की सियासत



एक निर्दलीय पार्षद ने कांग्रेस के साथ होने से किया इनकार
उल्लेखनीय है कि जयपुर ग्रेटर में बीजेपी को स्पष्ट बहुमत मिला हुआ है. वहीं हेरिटेज के कुल 100 वार्डों में से कांग्रेस ने 47 में और बीजेपी ने 42 वार्डों में जीत दर्ज करायी है. यहां उसे बोर्ड बनाने के लिये महज चार पार्षदों की जरुरत है. कांग्रेस ने कल आठ निर्दलीय पार्षद के उनके साथ होने का दावा किया था. लेकिन एक निर्दलीय पार्षद के इससे इनकार कर दिये जाने और मुस्लिम प्रोग्रेसिव फोरम के विरोध के कारण संभावना जताई जा रही है कांग्रेस को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. हेरिटेज निगम क्षेत्र में अल्पसंख्यक पार्षद अच्छी संख्या में जीते हुये हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज