अपना शहर चुनें

States

Rajasthan: मुस्लिम समाज के नेताओं की कांग्रेस प्रभारी से नोकझौंक, अजय माकन ने कही ये बड़ी बात

अजय माकन ने मुस्लिम नेताओं से यहां तक कह दिया कि आप समस्याओं का समाधान चाहते हैं या माहौल बनाना.
अजय माकन ने मुस्लिम नेताओं से यहां तक कह दिया कि आप समस्याओं का समाधान चाहते हैं या माहौल बनाना.

मुस्लिम प्रोग्रेसिव फोरम (Muslim Progressive Forum) के नेताओं ने कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अजय माकन (Ajay Maken) से मुलाकात कर पार्टी द्वारा समाज की उपेक्षा करने का आरोप लगाया है. इस दौरान मुस्लिम नेताओं और माकन में नोकझौंक भी हो गई.

  • Share this:
जयपुर. मुस्लिम समाज के नेताओं (Leaders of muslim society) ने कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी अजय माकन (Ajay Maken) से मुलाकात एक भी मुस्लिम को मेयर नहीं बनाने और समाज की मांगों की अनदेखी करने पर नाराजगी जताई है. मुस्लिम प्रोग्रेसिव फोरम (Muslim Progressive Forum) से जुड़े नेताओं ने मंगलवार को अजय माकन और पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा से मिलकर उनको अपनी मांगों से अवगत करवाया.

इस दौरान अजय माकन और मुस्लिम नेताओं के बीच हल्की नोकझोंक भी हुई. बीच में बोलने पर अजय माकन ने मुस्लिम नेताओं से यहां तक कह दिया कि आप समस्याओं का समाधान चाहते हैं या माहौल बनाना. मुस्लिम प्राग्रेसिव फोरम के नेताओं ने अजय माकन के सामने उर्दू शिक्षकों की भर्ती और मदरसा पैराटीर्च की मांगें भी रखी है. उन्होंने उर्दू और पैराटीचर्स की मांगों को लेकर दांडी मार्च निकाल रहे शमशेर भालू की मांगें पूरी कर सम्मानजनक तरीके से यात्रा का समापन करवाने की मांग भी की है.

Bharatpur: गुर्जर के बाद अब जाट समाज में आरक्षण को लेकर सुगबुगाहट, महापंचायत आज

राजनीतिक नियुक्तियों से लेकर संगठन में भागिदारी की मांग


मुस्लिम नेताओं ने जब माकन से एक भी मुस्लिम को मेयर नहीं बनाने की शिकायत की तो उन्होंने कहा कि डिप्टी मेयर बनाया है. लेकिन इससे मुस्लिम नेता संतुष्ट नहीं हुए. अजय माकन के बाद मुस्लिम नेताओं ने पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा से मुलाकात की. डोटासरा ने उनकी मांगों के जल्द समाधान का आश्वासन दिया. कांग्रेस से जुड़े मुस्लिम नेता अब सत्ता और संगठन में समाज को उचित प्रतिनिधित्व नहीं मिलने का मुद्दा लगातार उठा रहे हैं. वे अब राजनीतिक नियुक्तियों से लेकर संगठन तक में मुस्लिम समाज की भागीदारी की खुलकर मांग कर रहे हैं.

ज्ञापन में कहा मुस्लिम आज ठगा सा महसूस कर रहा है
मुस्लिम प्रोग्रेसिव फोरम ने दोनों नेताओं को दिये ज्ञापन में लिखा है कि कांग्रेस की स्थापना से आज तक मुस्लिम मतदाताओं ने कांग्रेस के पक्ष में मतदान कर पार्टी और संगठन को मजबूत बनाया है. केन्द्र और प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनवाई है. लेकिन वर्तमान में राजस्थान सरकार द्वारा मुसलमानों के मुद्दों की लगातार अनदेखी की जा रही है. इससे प्रदेश का मुस्लिम मतदाता स्वयं को ठगा सा महसूस कर रहा है.

मुस्लिम प्रोग्रेसिव फोरम ने रखी ये मांगें
- दांडी मार्च कर रहे शमशेर भालू की मांगें मानकर उनकी यात्रा का सम्मानजनक समापन करवाया जाये.
- पैराटीचर्स को पहले की तरह प्रबोधक बनाकर नियमित किया जाए.
- स्टाफिंग पैटर्न में संशोधन कर रीट भर्ती में उर्दू के लेवल एक और दो के 5000-5000 पदों पर भर्ती की जाये.
- उर्दू शिक्षा निदेशालय खोल जाये.
- सभी कॉलेजों में उर्दू व्याख्याता का पद सृजित किये जायें.
- सरकारी विवेकानंद मॉडल स्कूल और महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूलों में भी उर्दू लागू की जाये.
- स्कूलों में उर्दू शिक्षा बंद करने के आदेश जारी करने वाले प्रारंभिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी के खिलाफ कार्रवाई की जाये.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज