Rajasthan: छा गया निर्मल का निशाना ! मोबाइल के फ्रंट कैमरे से देखकर साधती है उल्टे निशाने
Others News in Hindi

Rajasthan: छा गया निर्मल का निशाना ! मोबाइल के फ्रंट कैमरे से देखकर साधती है उल्टे निशाने
निर्मल कहती है मोबाइल के फ्रंट कैमरे से देखकर उल्टे निशाना साधना इस कोरोना काल में ही सीखा है.

राजस्थान (Rajasthan) की एक बेटी की निशानेबाजी (Shooting) इन दिनों चर्चा का विषय बनी हुई है. वजह है मोबाइल के फ्रंट कैमरे से देखकर उल्टे निशाने साधना.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) की एक बेटी की निशानेबाजी (Shooting) इन दिनों चर्चा का विषय बनी हुई है. वजह है मोबाइल के फ्रंट कैमरे से देखकर उल्टे निशाने साधना. नागौर जिले के निम्बी जोधा गांव में जन्मी निर्मल जोधा (Nirmal Jodha) ने यूं तो 7-8 साल की उम्र में ही अपने दादा स्वर्गीय उम्मेद सिंह जोधा से निशानेबाजी के गुर सीखने शुरू कर लिए थे, लेकिन कोरोना काल में निर्मल जोधा ने एक नई महारत (Mastery) हासिल की है. यही महारत की इन दिनों चर्चा का विषय बनी हुई है.

श्रेय बचपन से मिली विरासत को
सोशल मीडिया पर निर्मल जोधा के निशाने के किस्से चर्चा का विषय बने हुए हैं. निर्मल न केवल खुद निशाना लगा रही है बल्कि अपनी नन्हीं बेटी दीया सोलंकी को भी निशानेबाजी के गुर सिखा रही है. हर कोई नागौर जिले की लाडली के इस करतब को देखकर हैरान है. निर्मल जोधा इसका श्रेय बचपन से मिली विरासत को देती है. निर्मल कहती है बचपन में मेरे दादोसा ने मुझे और मेरी दीदी विमल जोधा के साथ साथ मेरी चचेरी बहिन जसवंत जोधा को निशानेबाजी सिखाना शुरू कर दिया था. वो मेरे 4 भाइयों गोवर्धन सिंह, लोकेंद्र सिंह, लक्ष्मण सिंह और नरेंद्र सिंह को घुड़सवारी तथा निशानेबाजी सीखने में जितना वक्त देते उससे कहीं ज्यादा अपनी पौत्रियों को निशानेबाजी के गुर सिखाने में जुटे रहते ताकि बेटियां बेटों से उन्नीस न रहें. निर्मल कहती है मोबाइल के फ्रंट कैमरा से देखकर उल्टे निशाना साधना इस कोरोना काल में ही सीखा है.

दादा और पिता के बाद पति ने भी दिया पूरा साथ



गौरतलब है कि नागौर जिले के निम्बी जोधा में हर साल गणगौर का उत्सव धूमधाम से मनाया जाता है और इसमें निशानेबाजी भी एक बड़ा आकर्षण होती है. उसी निशानेबाजी के बीच आकर्षण का विषय होती है यहां की लाड़ली विमल, निर्मल और जसवंत जोधा की निशानेबाजी. इस बार निर्मल जोधा गणगौर उत्सव में एक नई नजीर पेश करेगी और वो है मोबाइल के फ्रंट कैमरा के जरिये देखकर निशाना साधना. भीलवाड़ा-राजसमन्द के सोलंकी परिवार की बहू निर्मल खुद को इस मायने में खुशनसीब मानती है कि पिता प्रताप सिंह जोधा ने तो बेटियों की हौसला अफजाई की ही पति पराक्रम सिंह सोलंकी ने भी बचपन के इस शौक को पूरा करने में हरसंभव मदद की.



Rajasthan Weather Update: आज कई इलाकों में अत्यधिक भारी बारिश की चेतावनी

जस्थान में अगस्त में हो सकते हैं 129 नगरीय निकायों में चुनाव! तैयारी शुरू
First published: June 4, 2020, 7:06 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading