जयपुर: पड़ोसी ही निकला SDM की बहन का हत्यारा, 8 घंटे में पुलिस ने किया खुलासा, हैरान करने वाली है वजह

पुलिस गिरफ्त में आरोपी कृष्ण.

पुलिस गिरफ्त में आरोपी कृष्ण.

राजधानी जयपुर (Jaipur) में सोमवार को हुए महिला के सनसनीखेज हत्याकांड (Murder Case) का पुलिस ने महज 8 घंटे में खुलासा कर आरोपी पड़ोसी युवक को गिरफ्तार कर लिया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्‍थान की राजधानी जयपुर के शिप्रापथ थाना इलाके में RAS अधिकारी की बहन अध्यापिका विद्या देवी शर्मा की हत्या (Murder) का पुलिस ने महज 8 घंटों में खुलासा करते हुए आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. विद्या देवी की हत्या उनके ही पड़ोसी युवक ने की थी. वारदात का कारण आरोपी युवक द्वारा कुत्ता घुमाने के दौरान विद्या देवी की ओर से की गई टोका-टाकी सामने आया है. बताया जाता है कि टोका-टाकी से युवक विद्या देवी से नाराज था. उसने अध्यापिका का चुन्नी से गला घोंट दिया और फिर हाथ-पैर सीढ़ियों की रेलिंग से बांध दिए थे. इसके बाद मुंह, आंख और नाक पर भी चुन्नी लपेट दी थी.

विद्या शर्मा के हत्या का खुलासा करने वाली टीम के प्रमुख एडिशनल कमिश्नर अजयपाल लांबा ने बताया कि सोमवार सुबह करीब पौने दस बजे थड़ी मार्केट के पास दो मंजिला मकान में अकेली रहने वाली महिला की हत्या की सूचना मिली थी. उक्त सूचना के बाद वह मौके पर पहुंचे. मृतका के घर का निरीक्षण करने पर यह सामने आया कि नीचे का गेट बंद था और ऊपर का गेट खुला था. ऐसे में वारदात करने वाला कोई पड़ोसी हो सकता है, लेकिन हत्या की वजह नहीं मिल पा रही थी.

इस तरह हुई आरोपी की पहचान

एसीपी ने बताया कि सादी वर्दी में स्पेशल टीम के पुलिसकर्मियों को सभी पड़ोसियों की गोपनीय रूप से जानकारी जुटाने के लिए लगाया गया. इस दौरान स्पेशल टीम के एक कांस्टेबल को विद्या शर्मा के पड़ोस में रहने वाले कृष्ण कुमार के आंख के पास खरोंच के निशान दिखे. जब उससे इस बाबत पूछा गया तो बताया कि कुत्ते को ट्रेनिंग दे रहा था, इसलिए खरोंच लग गई. लेकिन, बार-बार उस पर शक हो रहा था. इसलिए महिला अधिकारियों सहित सभी टीमों ने कृष्ण व उसके परिजनों से अलग-अलग पूछताछ की. उसके बाद कृष्ण को पूछताछ के लिए थाने पर ले जाया गया. वहां पर सख्ती से पूछताछ करने पर उसने विद्या देवी की हत्या करना कबूल कर लिया.
पुलिस को गुमराह करने के लिये हाथ-पैर बांधे

कृष्ण ने पूछताछ में बताया कि विद्या जब गाय को चारा देने गई तब उनके घर का गेट खुला हुआ था. कृष्ण गेट से अंदर घुसकर ऊपर छत का गेट खोलकर अपनी छत पर चला गया. कुछ देर बाद विद्या जब वापस आईं तो छत के रास्ते से वापस उनके घर में घुस गया. वहां पर आरोपी ने महिला का गला दबाकर हत्या कर दी. उसके बाद आरोपी ने पुलिस को गुमराह करने के लिए महिला के हाथ-पैर बांध दिए.

यूं चला घटना का पता



एडिशनल पुलिस कमिश्नर अजयपाल लांबा का कहना है कि घटना का पता उस समय चला जब सुबह स्कूल के एक सहकर्मी अध्यापक ने अध्यापिका विद्या को फोन किया. अध्यापिका ने फोन रिसीव नहीं किया. इस पर अध्यापक ने फोन कर पड़ोसी महिला से जानकारी ली. पड़ोसी महिला का बेटा अध्यापिका के मकान की छत के खुले पड़े गेट से अंदर पहुंचा तब वारदात का पता चला. सूचना पर पुलिस अधिकारी और अध्यापिका के भाई एसडीएम प्रथम युगांतर शर्मा मौके पर पहुंचे.

सीसीटीवी कैमरे लगवाने की अपील

वारदात के खुलासे के बाद एडिशनल पुलिस कमिश्नर ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि घरों के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगवायें ताकि उसके जरिये सुरक्षा बढ़ सके. इस वारदात में सीसीटीवी कैमरे नहीं होने की वजह से खुलासे में समय लग गया. सीसीटीवी कैमरे होने से दिन में ही वारदात का खुलासा हो सकता था. बहरहाल पुलिस ने 8 घंटों में वारदात का खुलासा कर आरोपी कृष्ण कुमार को गिरफ्तार कर लिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज