होम /न्यूज /राजस्थान /Rajasthan: निजी क्षेत्र के सहयोग से भिवाड़ी में बनेगा नया औद्योगिक क्षेत्र, ये है सरकार का मेगा प्लान

Rajasthan: निजी क्षेत्र के सहयोग से भिवाड़ी में बनेगा नया औद्योगिक क्षेत्र, ये है सरकार का मेगा प्लान

सीएम गहलोत ने अधिकारियों से कहा है कि राजस्थान को निवेशकों का बेस्ट डेस्टीनेशन बनायें.

सीएम गहलोत ने अधिकारियों से कहा है कि राजस्थान को निवेशकों का बेस्ट डेस्टीनेशन बनायें.

प्रदेश में औद्योगिक विकास को गति देने के लिये अलवर के भिवाड़ी में नया औद्योगिक क्षेत्र (New industrial zone) विकसित किय ...अधिक पढ़ें

जयपुर. प्रदेश में निजी क्षेत्र के सहयोग से अलवर जिले के भिवाड़ी में नया औद्योगिक क्षेत्र (New industrial zone) विकसित किया जायेगा. सीएम अशोक गहलोत ने निवेशकों की सुविधा के लिए लाई गई वन स्टॉप प्रणाली (One stop system) और दिल्ली-मुम्बई इंडस्ट्रियल कॉरीडोर (DMIC) से जुड़े मुद्दों की समीक्षा बैठक में इसके निर्देश दिए हैं. सीएम ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र होने के साथ-साथ दिल्ली के नजदीक होने के कारण भिवाड़ी में औद्योगिक क्षेत्र के विस्तार की अपार संभावनाएं मौजूद हैं. सीएम ने निर्देश दिए कि टाउन प्लानिंग विशेषज्ञों की देख-रेख में भिवाड़ी में नया औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने की प्लानिंग करें. इससे हम अधिक से अधिक निवेशकों को आकर्षित कर पाएंगे.

सीएम ने भिवाड़ी के वर्तमान औद्योगिक क्षेत्र में सड़क, बिजली, पानी, सीवरेज और उद्यमियों के ठहरने के लिए गेस्ट हाउस जैसी सुविधाएं विकसित करने के भी निर्देश दिए हैं. सीएम गहलोत ने कहा कि प्रदेश में औद्योगिक विकास के लिए प्राइवेट सेक्टर के सहयोग से भी औद्योगिक क्षेत्र विकसित करने के प्रयास किए जाएं. उन्होंने कहा कि प्रदेश के ज्यादा से ज्यादा औद्योगिक क्षेत्रों को डीएमआईसी का लाभ मिल सके. इस दिशा में आवश्यक कदम उठाए जाएं. उन्होंने डीएमआईसी के कार्यों को और गति देने के निर्देश दिए.

Rajasthan: कांग्रेस की राजनीति में आ सकता है भूचाल, अजय माकन 26 दिसंबर को लेंगे फीडबैक

राजस्थान को निवेशकों का बेस्ट डेस्टीनेशन बनायें
सीएम ने अफसरों से कहा कि राजस्थान में देश और दुनिया के निवेशकों को आकर्षित करने की हर क्षमता मौजूद है. बस अनुकूल माहौल तैयार करने की जरूरत है. सोलर विंड सेक्टर में ऊर्जा उत्पादन की अपार क्षमता, कुशल मानवीय संसाधन, विस्तृत लैंड बैंक, मुफीद भौगोलिक स्थिति और बेहतर कानून-व्यवस्था के साथ निवेशकों के हित में तैयार की गई नीतियां और फैसले ऐसे मजबूत पक्ष हैं जिनकी ब्रांडिंग कर बड़ी संख्या में उद्यमियों को निवेश के लिए प्रोत्साहित किया जा सकता है. सीएम ने निर्देश दिए कि अधिकारी राजस्थान की इन खूबियों को राष्ट्रीय-अंतरराष्ट्रीय निवेश सम्मेलनों और रोड-शो सहित अन्य प्लेटफार्म के माध्यम से शो-केस करें. राजस्थान के लोगों को अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध कराने के लिए निवेश लाना सरकार की प्राथमिकता है. अधिकारी सरकार के उद्योगों के हित में किए निर्णयों को प्रभावी रूप से लागू कर राजस्थान को निवेशकों का बेस्ट डेस्टीनेशन बनायें.

एक ही छत के नीचे मिल सकेंगी निवेश के लिए स्वीकृतियां
सीएम ने कहा कि वन स्टॉप शॉप राज्य सरकार का महत्वपूर्ण नवाचार है. इसके जरिए एक ही छत के नीचे 14 विभागों के माध्यम से उद्यमियों के निवेश प्रस्तावों को जल्द से जल्द मंजूरी दिलाने का काम किया जाएगा. रीको एमडी आशुतोष एटी पेंडणेकर ने बताया कि प्रदेश में उद्योगों की स्थापना के लिए आवश्यक अनुमतियां एक ही स्थान से प्रदान करने के लिए वन स्टॉप शॉप प्रणाली शुरू की गई है. इसके तहत प्रथम चरण में 14 विभागों के अधिकारियों को 98 तरह की स्वीकृतियां देने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं. ये अधिकारी उद्योग भवन में सोमवार और गुरुवार को उपस्थित रहकर उद्यमियों की मदद करेंगे.

Tags: Ashok Gahlot, Delhi-NCR region, Industrial units

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें