Rajasthan: सरकारी भर्तियों का खुला पिटारा, लंबे समय से खाली चल रहे इन 161 पदों पर होगी भर्ती

राज्य सरकार ने पिछले काफी समय से भर्तियां निकालने पर जोर दे रखा है.
राज्य सरकार ने पिछले काफी समय से भर्तियां निकालने पर जोर दे रखा है.

Government jobs: प्रदेश की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot) ने एक बार फिर सरकारी नौकरियां का पिटारा खोल दिया है. जल्दी ही 161 सरकारी पदों पर भर्तियां (recruitment) की जायेंगी.

  • Share this:
जयपुर. सामान्य प्रशासन विभाग (General Administration Department) के अधीन संचालित हो रहे सर्किट हाउसेज में लंबे समय से खाली चल रहे 161 पदों पर भर्ती का रास्ता साफ हो गया है. सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने सर्किट हाउसेज में खाली चल रहे 161 पदों पर भर्ती की मंजूरी दे दी है. इसके लिए अभ्यर्थना राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड (Rajasthan Staff Selection Board) को भेजी जाएगी. सर्किट हाउसेज में 33 हाउस कीपर, 33 देशी कुक, 66 वेटर और 29 मशालची के पदों पर भर्ती किए जाने की मंजूरी दी गई है. मुख्यमंत्री ने वर्ष 2020-21 के बजट में सामान्य प्रशासन विभाग में 200 पदों पर भर्ती की घोषणा की थी. इसके तहत इन 161 पदों पर भर्ती की मंजूरी दी गई है.

कनिष्ठ सहायक के 29 पदों के अस्थाई सृजन को मंजूरी
मुख्यमंत्री ने राज्य बीमा व प्रावधायी निधि विभाग में एससी और एसटी के बैकलॉग के पदों पर नियुक्ति देने के लिए कनिष्ठ सहायक के 29 अतिरिक्त पद अस्थाई रूप से सृजित करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है. इस मंजूरी से राज्य बीमा व प्रावधायी निधि विभाग में बैकलॉग के पदों पर कनिष्ठ सहायक भर्ती-2018 की रिजर्व लिस्ट से चयनित किए गए एससी के 9 और एसटी वर्ग के 20 अभ्यर्थियों को नियुक्ति दिया जाना संभव हो सकेगा.

Good News: 10 अक्टूबर से फिर शुरू होगी जयपुर-दिल्ली डबल डेकर ट्रेन, यहां देखें टाइमटेबल
जयपुर के 2 न्यायालयों में सात नए पदों के सृजन को मंजूरी


सीएम ने जयपुर के दो न्यायालयों में सात नए पदों के सृजन को मंजूरी दी है. जिला एवं सेशन न्यायाधीश जयपुर महानगर द्वितीय में लिपिक ग्रेड-प्रथम के चार पद सृजित करने की मंजूरी दी है. वरिष्ठ सिविल न्यायाधीश एवं मुख्य महानगर मजिस्ट्रेट जयपुर-द्वितीय के कोर्ट में लिपिक ग्रेड-द्वितीय के एक और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी के दो नए पद सृजित करने की भी सहमति दी है. उल्लेखनीय है कि गत पिछले कुछ समय से गहलोत सरकार ने रोजगार सृजन पर काफी फोकस कर रखा है। इसके तहत न केवल नई भर्तियां निकाली जा रही है, बल्कि लंबे समय से कानूनी पचड़ों में पड़ी भर्तियों का रास्ता भी साफ किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज