Home /News /rajasthan /

कोरोना 'वैक्सीन कवच को ना नहीं' NEWS 18 राजस्थान की मुहिम, यही है महामारी से बचने का एकमात्र उपाय

कोरोना 'वैक्सीन कवच को ना नहीं' NEWS 18 राजस्थान की मुहिम, यही है महामारी से बचने का एकमात्र उपाय

Rajasthan News. वैक्सीनेशन को लेकर राजस्थान एक माइलस्टोन कायम कर चुका है. कई जिले पहले डोज का लक्ष्य पूरा कर चुके हैं और दूसरे डोज के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में तेज़ी से बढ़ रहे है.

Rajasthan News. वैक्सीनेशन को लेकर राजस्थान एक माइलस्टोन कायम कर चुका है. कई जिले पहले डोज का लक्ष्य पूरा कर चुके हैं और दूसरे डोज के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में तेज़ी से बढ़ रहे है.

Corona Vaccination.कोरोना वैक्सीनेशन के प्रति जागरुक करने के लिए न्यूज़ 18 की टीम भी अब लोगों के बीच जाएगी और बताएगी कि वैक्सीन ही कोरोना से लड़ाई का सबसे कारगर हथियार है. यही वो कवच है जो वायरस के हर वार को नाकाम करेगा. इसलिए वैक्सीन कवच को ना नहीं कहिए और न्यूज़ 18 की मुहिम को सफल बनाइए.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) प्रोसेस शुरू हुए एक साल हो गया है. फिलहाल महामारी की तीसरी लहर आने तक ये साबित हुआ है कि कोरोना से लड़ाई का सबसे कारगर हथियार वैक्सीन है. ये ऐसा कवच है जिसे आपने पहन लिया तो इस वायरस का हर वार नाकाम होगा. बावजूद इसके कई लोग अभी भी वैक्सीन लेने से परहेज कर रहे हैं. ऐसे में न्यूज़ 18 ने मुहिम शुरू की है. इस मुहिम के तहत हमारे रिपोर्टर मरुधरा को बताएंगे कि वैक्सीन ही कोरोना से बचाव का सबसे बड़ा सुरक्षा कवच है.

कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है जिसकी चपेट में रोज़ लाखों लोग आ रहे हैं. लेकिन मौत का आंकड़ा कम है और हॉस्पिटलाइजेशन भी कम हो रहा है. इसके पीछे सबसे बड़ा कारण है बड़ी संख्या में लोगों का वैक्सीनेट होना. राजस्थान में भी कोरोना वैक्सीनेशन अभियान का एक साल पूरा हो चुका है. इस दौरान प्रदेश में 18 साल से ऊपर आयु वर्ग के 93.8 फीसदी लोगों को कोरोना का पहला और 77.3 फीसदी लोगों को कोरोना का दूसरा टीका लग चुका है. जबकि 15 से 18 साल की आयु वर्ग के 51.5 फीसदी बच्चों को कोरोना का पहला टीका लगाया जा चुका है. वहीं 3 लाख 32 हजार 305 लोगों को प्रिकॉशन डोज भी लग चुकी है. लेकिन चिंता की बात ये है कि 66 लाख लोगों ने अभी भी कोरोना की दूसरी डोज नहीं लगवाई है..

दूसरी लहर के बाद आयी जागरुकता
16 जनवरी 2021 को पूरे देश में वैक्सीनेशन की शुरुआत हुई. वैक्सीनेशन को सफल बनाने के लिए कई लोग आगे तो आए लेकिन एक बड़ी आबादी वैक्सीनेशन को लेकर उदासीन बनी रही. कोरोना की दूसरी लहर में मचे कोहराम के बाद एकाएक वैक्सीनेशन अभियान ने रफ्तार पकड़ी और लोग वैक्सीनेशन सेंटर्स पर उमड़ने लगे. सेंटर्स पर भारी भीड और हंगामे की तस्वीरें आम होने लगीं. लेकिन जैसे ही दूसरी लहर थमने लगी लोगों ने फिर से वैक्सीनेशन को लेकर उदासीनता दिखानी शुरू कर दी. हालांकि अब वैक्सीनेशन को लेकर राजस्थान एक माइलस्टोन कायम कर चुका है. कई जिले पहले डोज का लक्ष्य पूरा कर चुके हैं और दूसरे डोज के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में तेज़ी से बढ़ रहे है. हालांकि कई ऐसे ज़िले भी हैं जो अभी तक पहली डोज़ का लक्ष्य भी नहीं पूरा कर पाये हैं. ऐसे ज़िलों में स्वास्थ्य विभाग वैक्सीनेशन को रफ़्तार देने में जुटा हुआ है.

ये भी पढ़ें- Rajasthan: 67 पुलिसकर्मियों को बिठाया घर, 576 सस्पेंड, 77 FIR, जानें क्या है पूरा मामला

66 लाख ने नहीं लगनायी दूसरी डोज
वैक्सीनेशन अभियान के दौरान स्वास्थ्य विभाग को कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ा. वैक्सीन को लेकर लोगों में तरह-तरह की भ्रांतियां सामने आयीं. कई जगहों पर वैक्सीनेशन टीम पर हमले भी हुए.सच्चाई ये है कि अभी भी प्रदेश में क़रीब 66 लाख लोग ऐसे हैं जिन्होंने कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज नहीं ली है जबकि कोरोना की तीसरी लहर आ चुकी है.

वैक्सीन ही कारगर हथियार
वैक्सीनेशन को रफ्तार देने की तमाम कोशिशें जारी हैं.181 हेल्पलाइन नंबर के जरिये वैक्सीनेशन हो रहा है तो जनप्रतिनिधियों और धर्मगुरुओं की भी सहायता ली जा रही है. वैक्सीनेशन के प्रति जागरुक करने के लिए न्यूज़ 18 की टीम भी अब लोगों के बीच जाएगी और बताएगी कि वैक्सीन ही कोरोना से लड़ाई का सबसे कारगर हथियार है. यही वो कवच है जो वायरस के हर वार को नाकाम करेगा. इसलिए वैक्सीन कवच को ना नहीं कहिए और न्यूज़ 18 की मुहिम को सफल बनाइए.

Tags: Corona vaccination drive, Rajasthan latest news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर