Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    निरंजन कुमार आर्य बने राजस्थान के मुख्य सचिव, राजीव स्वरूप को नहीं मिला एक्सटेंशन

    यह पहला मौका नहीं है जब किसी आईएएस अधिकारी को वरिष्ठता लांघकर सीएस बनाया गया है.  (राजस्थान सचिवालय की फाइल  फोटो)
    यह पहला मौका नहीं है जब किसी आईएएस अधिकारी को वरिष्ठता लांघकर सीएस बनाया गया है. (राजस्थान सचिवालय की फाइल फोटो)

    पूर्व मुख्य सचिव राजीव स्वरूप (Rajeev Swaroop) को एक्सटेंशन नहीं मिला, शनिवार की रात करीब ढाई बजे वित्त विभाग में तैनात निरंजन आर्य की मुख्य सचिव के पद पर हुई नियुक्ति.

    • Share this:
    जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) की ब्यूरोक्रेसी में 31 अक्टूबर यानि शनिवार को दिन भर सस्पेंस रहने के बाद रात करीब 2:30 बजे वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव निरंजन कुमार आर्य (Niranjan Kumar Arya) को राज्य का नया मुख्य सचिव (Chief Secretary) नियुक्त कर दिया गया. निरंजन कुमार आर्य अनुसूचित जाति से आने वाले राज्य के पहले मुख्य सचिव हैं. इससे पहले सेवा विस्तार की चर्चाओं के बीच निवर्तमान मुख्य सचिव राजीव स्वरूप सेवानिवृत्त हो गए. दिल्ली से ग्रीन सिग्नल नहीं मिलने के कारण राजीव स्वरूप (Rajeev Swaroop) को 3 महीने का एक्सटेंशन नहीं मिला. राज्य के कार्मिक विभाग में निरंजन कुमार आर्य की मुख्य सचिव पद पर नियुक्ति के आदेश जारी करने के साथ ही 21 आईएएस अफसरों के तबादले भी कर दिए गए. सरकार ने आठ आईएएस अफसरों की वरिष्ठता लांघकर निरंजन कुमार आर्य को ब्यूरोक्रेसी का नया मुखिया बनाया है.

    8 आईएएस अफसरों की लांघी वरिष्ठता
    हालांकि, यह पहला मौका नहीं है जब किसी आईएएस अधिकारी को वरिष्ठता लांघकर सीएस बनाया गया है. आर्य से वरिष्ठ सचिवालय में तैनात आईएएस राजेश्वर सिंह, वीनू गुप्ता और सुबोध अग्रवाल को सचिवालय से बाहर भेज दिया गया है. जबकि वरिष्ठ आईएएस अधिकारी रविशंकर श्रीवास्तव, गिरिराज सिंह ,पीके गोयल सचिवालय से बाहर तैनात हैं. वहीं, उषा शर्मा और नीलकमल दरबारी दिल्ली में पदस्थापित हैं. पिछली वसुंधरा सरकार के कार्यकाल में निरंजन कुमार आर्य वैदिक कम महत्व वाले विभागों में तैनात रहे थे.

    राजीव स्वरूप को नहीं मिला एक्सटेंशन
    31 अक्टूबर यानि शनिवार को दिन भर पूर्व मुख्य सचिव राजीव स्वरूप को एक्सटेंशन मिलने का इंतजार होता रहा. लेकिन दिल्ली से ग्रीन सिग्नल नहीं मिला. एक्सटेंशन मिलने के इंतजार में दिन में कई बार मुख्य सचिव कार्यालय खुलवाया गया. करीब 5:00 बजे पूर्व मुख्य सचिव राजीव स्वरूप मुख्यमंत्री निवास पहुंचे और मुख्यमंत्री के साथ 1 घंटे तक बैठक की. 6:00 बजे पूर्व मुख्य सचिव राजीव स्वरूप को एक्सटेंशन मिलने की संभावनाओं पर पूर्ण विराम लग गया. कार्मिक विभाग ने राजीव स्वरूप का नाम सेवानिवृत्त अफसरों की सूची में डाल दिया. देर रात मंथन करने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव निरंजन कुमार आर्य को मुख्य सचिव बनाने की हरी झंडी प्रदान कर दी.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज