Home /News /rajasthan /

कोई नहीं सुन रहा है चार बार विधायक रह चुके राजनीति के इस महारथी की पीड़ा

कोई नहीं सुन रहा है चार बार विधायक रह चुके राजनीति के इस महारथी की पीड़ा

पूर्व विधायक नवनीतलाल निनामा। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

पूर्व विधायक नवनीतलाल निनामा। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

चार बार विधायक रह चुके निनामा को दक्षिण राजस्थान में हर कोई जानता है. सादगी और सरल व्यक्तित्व के धनी निनामा ने आदिवासी अंचल बांसवाडा-डूंगरपुर में उस वक्त बीजेपी का झंडा थामा था जब वहां कोई पार्टी का नामलेवा नहीं था.

ये तस्वीर है नवनीतलाल निनामा. चार बार विधायक रह चुके नवनीतलाल निनामा को दक्षिण राजस्थान में हर कोई जानता है. सादगी और सरल व्यक्तित्व के धनी निनामा ने आदिवासी अंचल बांसवाडा-डूंगरपुर में उस वक्त बीजेपी का झंडा थामा था जब वहां कोई पार्टी का नामलेवा नहीं था.

लोकसभा चुनाव-2019: धनबलियों को ही टिकट थमाते हैं राजनीतिक दल- रिपोर्ट

वर्ष 1980 से लेकर साल 2018 तक करीब 38 साल पार्टी की सेवा करने वाले निनामा को हाल में हुए विधानसभा चुनावों में पार्टी ने दरकिनार करते हुए टिकट नहीं दिया. इससे नाराज निनामा निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरे, लेकिन हार गए. निनामा का आरोप है की चुनाव में उनके साथ धोखा हुआ है. पार्टी ने आखिरी वक्त तक उनको अधरझूल में रखा और अंत में टिकट नहीं दिया.

लोकसभा चुनाव-2019: CEC की बैठक आज, देर रात तक हो सकता है प्रत्याशियों का ऐलान

नाम और फोटो के गलत इस्तेमाल का आरोप
यही नहीं चुनाव में घाटोल से निर्दलीय रूप से खड़े होने के बावजूद बीजेपी के प्रत्याशी ने उनके नाम और फोटो का गलत इस्तेमाल किया. राजनीति के इस 80 वर्षीय बुजुर्ग महारथी का आरोप है की उनकी स्वीकृति के बिना बीजेपी के प्रत्याशी ने अपनी प्रचार सामग्री में उनके फोटो और नाम का इस्तेमाल किया.

लोकसभा चुनाव में सचिन पायलट, वैभव गहलोत के साथ इन 11 दिग्गजों को उतारेगी कांग्रेस!

जांच तो दूर शिकायत तक दर्ज नहीं हुई
लोगों में ऐसा प्रचार किया गया की उन्होंने बीजेपी प्रत्याशी को समर्थन दे दिया है. इसकी उन्होंने पुलिस और निर्वाचन विभाग में शिकायत भी की. चुनाव के वक्त शिकायत करने वाले नवनीतलाल निनामा हाल ही में उस वक्त और हैरान हो गए जब उन्हें ये पता चला की पुलिस ने अभी उनकी शिकायत पर मामला ही दर्ज नहीं किया है.

लोकसभा चुनाव-2019: प्रदेश की 9 सीटों पर BJP ने घोषित नहीं किए प्रत्याशी, जानिए क्यों ?

हाईकोर्ट जाने का बनाया मन
बकौल निनामा 30 नवंबर 2018 को इस मामले में निर्वाचन विभाग, जिला कलेक्टर और पुलिस समेत तमाम संबंधित संस्थाओं को इस मामले में शिकायत की थी. अफसोस जांच तो दूर आज तक इस मामले में अभी तक एफआईआर दी दर्ज नहीं हुई है. अब पूर्व विधायक निनामा ने इस मामले में हाईकोर्ट में परिवाद देने का मन बनाया है.

लोकसभा चुनाव-2019: कांग्रेस में कई सीटों पर फंसा पेच, 26 मार्च के बाद आएगी सूची

लोकसभा चुनाव-2019: 23 मार्च से 6 अप्रेल तक कांग्रेस करेगी 100 चुनावी सभाएं

प्रत्याशी चयन में बदलाव की आहट, कांग्रेस नए जातीय समीकरण और बीजेपी देख रही फीडबैक

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट

Tags: Amit shah, BJP, Jaipur news, Pm narendra modi, Rajasthan news, Vasundhara raje

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर