जयपुर में अब बिना कोविड जांच के ही घर पर मिलेगी दवा, प्रशासन ने बनाया ये 'मेगा प्लान', जानिये क्यों ?

इसके लिए जयपुर में 2 लाख किट तैयार कराये गए हैं. इनको एएनएम, आशा सहयोगिनी और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर सर्वे करवाकर वितरित किया जाएगा.

इसके लिए जयपुर में 2 लाख किट तैयार कराये गए हैं. इनको एएनएम, आशा सहयोगिनी और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर सर्वे करवाकर वितरित किया जाएगा.

Uncontrolled corona infection in Jaipur: जयपुर में बेहद तेजी से फैलते कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिये जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने 'मेगा प्लान' बनाया है. इसके तहत अब कोरोना लक्षण वालों को बिना कोविड जांच के ही घर पर दवा (Medicine) उपलब्ध करायी जायेगी.

  • Share this:

जयपुर. राजधानी जयपुर में कोरोना संक्रमण (Corona infection) से बिगड़े हालात को सुधारने के लिए जिला प्रशासन ने अहम कदम उठाया है. अब जयपुर में बिना कोविड जांच के ही घर पर दवा (Medicine) उपलब्ध करायी जायेगी. ऐसे मरीज जिनमें कोरोना जैसे लक्षण हैं और जिनकी RTPCR जांच नहीं हुई है तो उनको घर पर ही किट पहुंचाया जाएगा ताकि जांच के इंतजार में संक्रमण से मरीज की हालत न बिगड़ पाये.

दरअसल जयपुर में समय पर जांच और इलाज नहीं मिलने के करण मरीजों की स्थिति गंभीर होती जा रही है. ऐसे में कोरोना लक्षण वाले मरीजों का बिना जांच इलाज शुरू करने के लिए जयपुर में घर घर सर्वे शुरू कर दिया गया है. जयपुर जिला कलेक्टर के निर्देशों के बाद एएनएम, आशा सहयोगिनी और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने इस सर्वे को शुरू किया है. इसमें खांसी, जुखाम और बुखार के मरीजों की सूची तैयार की जा रही है.

जयपुर में तीसरी टेस्ट पॉजिटिव आ रहा है

जिला कलेक्टर अंतर सिंह नेहरा ने बताया कि जयपुर में कोरोना संक्रमण बड़ी तेजी से फैलता जा रहा है. यहां हर तीसरी जांच में एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिल रहा है. इसे देखते हुए जयपुर जिले में सर्वे करवाकर आईएलआई मरीजों का बिना जांच किए इलाज शुरू करवाया जा रहा है. इन लक्षणों वाले मरीजों को स्वास्थ्य विभाग की ओर से तैयार किया गया कोरोना किट वितरित किया जाएगा ताकि समय पर लोगों को इलाज मिल सके.
2 लाख किट तैयार कराये गए हैं

इसके लिए जयपुर में 2 लाख किट तैयार कराये गए हैं. इनको एएनएम, आशा सहयोगिनी और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर सर्वे करवाकर वितरित किया जाएगा. अगर जिला प्रशासन की यह मुहिम कारगर साबित होती है तो जयपुर में कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने में कामयाबी मिल सकती है. फिलहाल जयपुर प्रदेशभर में कोरोना का सबसे बड़ा हॉट स्पॉट बना हुआ है. वहीं शहर में कोरोना संक्रमितों की मौत का आंकड़ा भी लगातार बढ़ता जा रहा है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज