• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Rajasthan: वनरक्षकों की भर्ती में अब स्थानीय युवाओं को मिलेगी प्राथमिकता, नियमों में होगा बदलाव

Rajasthan: वनरक्षकों की भर्ती में अब स्थानीय युवाओं को मिलेगी प्राथमिकता, नियमों में होगा बदलाव

गहलोत सरकार की कथित विफलताओं को उजागर करने के लिए बीजेपी 'ब्लैक पेपर' जारी करेगी.

सीएम अशोक गहलोत ने वनरक्षकों की भर्ती (Recruitment of forest guards) में स्थानीय युवाओं को प्राथमिकता दिये जाने की पैरवी की है. इसके लिये उन्होंने अधिकारियों से नियमों में बदलाव (Change of rules) के लिये इसका परीक्षण करने के निर्देश दिये हैं.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के लिये अच्छी खबर (Good News) है. सीएम अशोक गहलोत ने वाइल्ड लाइफ डिविजन का अलग से कैडर बनाने और वनरक्षकों की भर्ती (Recruitment of forest guards) में स्थानीय लोगों को प्राथमिकता दिये जाने की पैरवी की है. इसके लिये सीएम ने भर्ती नियमों में बदलाव (Change of rules) के बारे में परीक्षण करने के भी निर्देश दे दिए हैं. वनरक्षकों की भर्ती में स्थानीय युवाओं को प्राथमिकता मिलने से टाइगर रिजर्व और अभयारण्यों के आसपास के गांवों के युवाओं को रोजगार के ज्यादा अवसर मिल सकेंगे. इस प्रावधान से अब राजस्थान के मूल निवासी स्थानीय युवाओं को वनरक्षक भर्ती में ज्यादा नौकरियां मिल सकेंगी.

सीएम अशोक गहलोत की अध्यक्षता में हुई स्टेट वाइल्ड लाइफ बोर्ड की 11 वीं बैठक में कई फैसले किए गये हैं. बैठक में सीएम ने टाइगर रिजर्व में आने वाले पर्यटकों से ली जाने वाली इको डवलपमेंट सरचार्ज राशि को इन रिजर्व और आसपास के गांवों के विकास पर खर्च करने की मांग का परीक्षण करके उचित रास्ता निकालने के निर्देश भी दिए हैं.

Rajasthan: पायलट कैम्प के 3 विधायकों ने बंद लिफाफे में सौंपे अजय माकन को सुझाव, अटकलबाजी शुरू

साल में कम से कम दो बार हो स्टेट वाइल्ड लाइफ बोर्ड की बैठक
सीएम ने कहा कि स्टेट वाइल्ड लाइफ बोर्ड की बैठक साल में कम से कम दो बार होनी चाहिये ताकि सदस्यों और विशेषज्ञों के सुझावों के आधार पर वनों के विकास तथा वन्य जीव संरक्षण के लिए उचित कदम उठाए जा सकें. सीएम ने तीनों बाघ परियोजनाओं के प्रबंधन और मॉनिटरिंग व्यवस्था को बेहतर बनाने के निर्देश भी दिए.

Rajasthan: कांग्रेस नेताओं की पीड़ा, अजय माकन से कहा- नहीं चलती हमारी 'चवन्नी', सरकार का इकबाल बुलंद करें



वन क्षेत्रों से हटाये जायेंगे विलायती बबूल
सीएम ने सांभर लेक सहित प्रदेश के वन क्षेत्रों में तेजी से फैल रहे जूलीफ्लोरा (विलायती बबूल) के प्रभावी उन्मूलन पर जोर दिया है. सीएम ने पिछले साल सांभर झील में प्रवासी पक्षियों की मृत्यु पर चिंता जताते हुए स्टेट वाइल्ड लाइफ ऑथोरिटी को योजनाबद्ध तरीके से ठोस कदम उठाने को भी कहा है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज