Home /News /rajasthan /

nri couple attacked by influential people for roaming dogs in residential society shocking incident in jaipur rjsr

डॉगी घुमाने को लेकर एनआरआई दंपति पर रसूखदारों का हमला, सोशल मीडिया पर मचा बवाल

जयपुर में हुई इस घटना में पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई करने के आरोप लग रहे हैं.

जयपुर में हुई इस घटना में पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई करने के आरोप लग रहे हैं.

जयपुर में सोसाइटी में डॉगी घूमा रहे एनआरआई दंपति को पीटा: राजधानी जयपुर के जगतपुरा इलाके में स्थित सिटी विला में अपने डॉगी को घूमा रहे एनआरआई दंपति (NRI couple) पर वहां रहने वाले रसूखदारों ने हमला (Attacked) कर दिया. बाद में उसके घर में भी तोड़फोड़ कर डाली. आरोप है कि पुलिस ने भी पीड़ित की शिकायत पर कार्रवाई करने की बजाय उसे ही शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. पढ़ें क्या है पूरा मामला.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. राजस्थान की राजधानी जयपुर में रह रहे इंडो-जर्मन दंपती (NRI couple) के साथ डॉगी घुमाने की बात पर रसूखदारों द्वारा मारपीट करने और हमले का मामला सामने आया है. आरोप है कि इस पूरे मामले में पुलिस की ओर से एकतरफा कार्रवाई (Unilateral action) की गई है. पुलिस ने रसूखदार परिवार के दबाव में उल्टे पीड़ित को ही शांतिभंग के आरोप में गिरफ्तार कर लिया. इससे पुलिस की कार्रवाई पर सवाल खड़े हो रहे हैं. पुलिस और रसूखदारों के दबाव के चलते एनआरआई दंपति जयपुर शहर छोड़ने पर मजबूर हो गए हैं. ये मामला सोशल मीडिया में भी काफी वायरल हो रहा है.

जानकारी के अनुसार मामला जयपुर के रामनगरिया थाने इलाके के जगतपुरा स्थित सिटी विला का है. वहां पर रह रही जर्मन महिला जूली और उसके पति अर्जुन शर्मा बीते दिनों सोसाइटी में अपने कुत्ते को घुमा रहे थे. तभी कॉलोनी में रहने वाले दो रसूखदार परिवारों के लोगों ने उनको कुत्ता घुमाने और उसको शौच कराने पर टोका. रसूखदारों ने हॉकी स्टिक से उन पर हमला करने की कोशिश की. रसूखदार परिवारों ने दंपति के साथ मारपीट की. इस पर एनआरआई दंपति जैसे तैसे वहां से अपनी जान बचाकर घर भागे.

दंपती के घर पर तोड़फोड़ भी की
घटना के बाद एनआरआई दंपति के घर पर करीब दो दर्जन लोगों ने हमला कर दिया और वहां तोड़फोड़ की. एनआरआई दंपति की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस के सामने भी रसूखदारों के परिवार के लोगों ने उनको धमकाया. पीड़ित एनआरआई अर्जुन ने एफआईआर दर्ज कराने की कोशिश की तो बयान लेने के बहाने पुलिस उन्हें थाने ले गई.

पुलिस ने पीड़ित पक्ष को ही किया गिरफ्तार
पुलिस ने पहले अर्जुन को कई घंटे बिठाए रखा और बाद में शांतिभंग के आरोप में उसे ही गिरफ्तार कर लिया. मामले में पीड़ित पक्ष की रिपोर्ट पर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है. इससे रसूखदारों के हौंसले बुलंद है और उन्होंने एनआरआई दंपति को इतना डराया कि दहशत में आ गये और उन्होंने जयपुर ही छोड़ दिया है. अब परेशान दंपति ने सरकार से मदद की गुहार लगाई है.

पुलिस ने कार्रवाई के नाम पर दिया ये तर्क
वहीं पूरे मामले में रामनगरिया थाना पुलिस का कहना है एनआरआई दंपति एक परिवाद देकर गए हैं लेकिन बयान नहीं दे रहे हैं. बयानों के बिना कैसे कार्रवाई की जाए ? जबकि पुलिस के पास इस बात जवाब नहीं है कि उन्होंने मामले में केवल एनआरआई अर्जुन शर्मा को ही क्यों गिरफ्तार किया? जबकि रसूखदार परिवार के लोगों ने उनके घर पर तोड़फोड़ भी की थी.

एक साल पहले हुई थी शादी
एनआरआई दंपति का विवाह एक साल पहले हुआ था. मूलतया सीकर जिले के रहने वाले अर्जुन शर्मा ने जर्मनी की रहने वाली जूली के साथ कोरोना की दूसरी लहर के दौरान विवाह किया था. उसके बाद दोनों अपना जीवन हंसी खुशी बिताने के लिए जयपुर में आकर बसे थे. एनआरआई दंपति अर्जुन शर्मा और जूली शर्मा का कहना है जहां वो रह रहे थे वहां के रसूखदार परिवारों की ओर से उन्हें पालतू कुत्तों के मुद्दे को लेकर उन्हें बार बार निशाना बनाया जा रहा था. इससे परेशान होकर जयपुर छोड़ना पड़ा.

Tags: Crime News, Jaipur news, NRI, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर