Operation Clean Sweep: 4 महीने, 250 मामले दर्ज, 317 आरोपी सलाखों के पीछे
Jaipur News in Hindi

Operation Clean Sweep: 4 महीने, 250 मामले दर्ज, 317 आरोपी सलाखों के पीछे
डीसीपी राहुल जैन के अनुसार नशे के खिलाफ अभियान के साथ-साथ हुक्का बार पर भी लगातार कार्रवाइयां की जा रही हैं.

नशे के खिलाफ जयपुर पुलिस कमिश्नरेट (Jaipur Police Commissionerate) की ओर से चलाई जा रही मुहीम 'ऑपरेशन क्लीन स्वीप' (Operation Clean Sweep) को जबर्दस्त सफलता (Success) मिल रही है.

  • Share this:
जयपुर. नशे के खिलाफ जयपुर पुलिस कमिश्नरेट (Jaipur Police Commissionerate) की ओर से चलाई जा रही मुहीम 'ऑपरेशन क्लीन स्वीप' (Operation Clean Sweep) को जबर्दस्त सफलता (Success) मिल रही है. पिछले 4 महीनों में पुलिस जयपुर शहर के अलग अलग हिस्सों में कार्रवाई करते हुए अब तक एनडीपीएस एक्ट (NDPS Act) में 250 से अधिक मामले दर्ज कर 317 आरोपियों को सलाखों के पीछे भेज चुकी है. पुलिस की इन ताबड़तोड़ कार्रवाइयों से ड्रग तस्करों (Drug smugglers) में खौफ का माहौल हो गया है.

अब बड़ी मात्रा में मादक पदार्थ सप्लाई नहीं हो रहे हैं
डीसीपी राहुल जैन के अनुसार अब शहर में बड़ी मात्रा में मादक पदार्थ सप्लाई नहीं हो रहा है. लेकिन उड़ीसा, बिहार, पश्चिम बंगाल और उत्तरप्रदेश से थोड़ी थोड़ी मात्रा में अभी भी सप्लाई आ रही है. ऐसे मामलों में भी इंटेलिजेंस के आधार पर नजर रखते हुए लगातार कार्रवाइयां की जा रही है. ऑपरेशन क्लीन स्वीप में लगातार मिल रही सफलता से जयपुर पुलिस उत्साहित है. डीसीपी राहुल जैन के अनुसार नशे के खिलाफ अभियान के साथ-साथ हुक्का बार पर भी लगातार कार्रवाइयां की जा रही है. अब जनसहभागिता से सीसीटीवी कैमरे लगाने के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया जा रहा है ताकि हर तरह के अपराधों पर अंकुश लगाया जा सके.

9 क्विंटल 15 किलो गांजा बरामद करने में मिली सफलता



उल्लेखनीय है कि ऑपरेशन क्लीन स्वीप के तहत मादक पदार्थों के खिलाफ जयपुर कमिश्नरेट पुलिस ने गत माह बड़ी कार्रवाई करते हुए 9 क्विंटल 15 किलो गांजा बरामद किया था. इस कार्रवाई को अंजाम देने के लिए पुलिस की स्पेशल टीम ने 3 महीने तक अंडर कवर रहकर काम किया था.



जयपुर में पहली बार विदेशी मॉर्डन ड्रग्स एलएडी बरामद किया गया
वहीं पुलिस ने गत सप्ताह शुक्रवार को शहर के विभिन्न हिस्सों में एक साथ 40 स्थानों पर दबिश देकर 21 आरोपियों को गिरफ्तार किया था. इस कार्रवाई में चौंकाने वाला खुलासा हुआ था. जयपुर शहर में पहली बार विदेशी मॉर्डन ड्रग्स लिसर्जिक एसिड डाईएथीमेलाईड बरामद कर बीटेक डिजायनर के एक छात्र गिरफ्तार किया गया था. ड्रग्स की दुनिया में 'स्वर्ग का टिकट' भी कहते हैं.

 

जयपुर: 707 ग्राम पंचायतों में चुनाव कार्यक्रम की घोषणा, 15 मार्च को होगा मतदान



पंचायत चुनाव: कानूनी अड़चनें हुईं दूर, अप्रेल माह में ही होंगे बचे हुए चुनाव

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading