राजस्थान का ये शहर बना पंजाब और गुजरात में हो रही स्मगलिंग का केन्द्र

चूरू जिले से होकर मध्यप्रदेश से अफीम, गांजा व डोडा-पोस्त पंजाब व हरियाणा पहुंच रहा है तो वहीं हरियाणा, पंजाब से चूरू के रास्ते भारी मात्रा में अवैध शराब की गुजरात में तस्करी की जा रही है.

Manoj K. Sharma | News18 Rajasthan
Updated: March 15, 2019, 3:30 PM IST
राजस्थान का ये शहर बना पंजाब और गुजरात में हो रही स्मगलिंग का केन्द्र
पुलिस नष्ठ करती अवैध शराब
Manoj K. Sharma | News18 Rajasthan
Updated: March 15, 2019, 3:30 PM IST
हरियाणा की सीमा से सटा चूरू राजस्थान के साथ-साथ पंजाब, हरियाणा, गुजरात में होने वाली शराब, अफीम, डोडा-पोस्त और गांजे जैसे नशे की तस्करी के लिए आसान रास्ता बन चुका है. चुरू जिले से होकर मध्यप्रदेश से अफीम, गांजा व डोडा-पोस्त पंजाब व हरियाणा पहुंच रहा है तो वहीं हरियाणा, पंजाब से चूरू के रास्ते भारी मात्रा में अवैध शराब की गुजरात में तस्करी की जा रही है. हालात यह है कि पिछले विधानसभा चुनाव में अकेले चूरू में करीब 5 करोड़ रुपये की अनुमानित अवैध शराब जब्त करने में पुलिस को सफलता मिली थी और अब लोकसभा चुनाव में फिर से मादक पदार्थों की तस्करी ने जोर पकड़ लिया है. नशीली वस्तुओं की तस्करी पर पुलिस की कड़ी सख्ती के बाद तस्करों ने भी तस्करी ने नए-नए तरीके इजाद कर लिए, लेकिन पुलिस ने खूफिया तंत्र को मजबूत कर अधिकतर तस्करों के मंसुबों पर पानी फेर दिया है. डोडा पोस्त व अफीम तस्करी में पकड़े गए आरोपियों ने इन मादक पदार्थों को पंजाब ले जाना स्वीकार किया, वहीं शराब तस्करों ने अवैध शराब गुजरात ले जाना कबूल किया है. पुलिस की सख्ती ने 2018 में नशीले पदार्थों की तस्करी के कारोबार को काफी हद तक प्रभावित किया. विजेंद्र उर्फ टीलीया जैसे अंतरराज्यीय शराब तस्कर को भी पुलिस ने गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है.

यह भी पढ़ें-  विधानसभा चुनावों में शराब तस्करी चरम पर, चूरू पुलिस ने पकड़ी पांच करोड़ की शराब

चूरू जिले में साल 2017 में नौ ट्रक, एक ट्रेलर, एक कंटेनर, एक टाटा 407, आठ पिकअप, चार बोलेरो, एक कैम्पर, एक मैक्स वाहन, 11 बाइक तस्करी के आरोपियों से जब्त की गई है. इस प्रकार एनडीपीएस एक्ट के तहत दो क्विंटल 83 किलो 200 ग्राम डोडा पोस्त, दो किलो 9 सौ ग्राम अफीम, 8 किलो 555 ग्राम गांजा जब्त किया है. चूरू में कुल 498 मामले दर्ज हुए है 498 लोगों को ही गिरफ्तार किया गया है. इसके अलावा चूरू में देशी शराब के 71 हजार 495 पव्वे, 4 हजार 141 बोतल, अंग्रेजी शराब के 1 लाख 3 हजार 975 पव्वे, 53 हजार 946 बोतलें, 1279 बीयर, 4548 शराब केन, 152 लीटर हथकड़ व 50 लीटर कच्चा वाश जब्त किया गया है. यह भी पढ़ें-  नागौर पुलिस की बड़ी कार्रवाई, शराब से लदे ट्रक के साथ चालक गिरफ्तार साल 2018 में चूरू जिले में अफीम तस्करी के खिलाफ कुल पांच कार्रवाई की गई, जिनमें 12 किलो 327 ग्राम अफीम जब्त की गई. जिले में एक मामला गांजा तस्करी का आया, जिसमें करीब 900 ग्राम गांजा जब्त किया गया. जिले में 3 हजार 724 किलो 970 ग्राम डोडापोस्त, नशीली दवा की 311 शीशियां, 5310 टैबलेट, 720 कैप्सूल भी पकड़े गए. इन मामलों में 54 आरोपियों को गिरफ्तार करने में पुलिस को सफलता मिली. चूरू पुलिस ने शराब तस्करी में करीब 592 मुकदमें दर्ज कर 614 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. साल 2018 में पुलिस ने 96 हजार 52 देशी शराब के पव्वे, 8 हजार 936 देशी शराब की बोतल, 3 लाख 27 हजार 831 अंग्रेजी शरीब के पव्वे, 86 हजार 841 अंग्रेजी शराब की बोतल, 18031 बीयर, 175 लीटर हथकड़, 10 लीटर लाहन, और 100 लीटर स्पिट जब्त करने में सफलता प्राप्त की थी.
Loading...

पुलिस ने मादक पदार्थों की तस्करी और तस्करों पर कुछ हद क तो अंकुश लगान में सफलता प्राप्त की है, लेकिन जिले में बिक रही अफीफ व गांजे की तस्करी पर अंकुश लगाने में पुलिस का खुफिया तंत्र कारगार साबित नहीं हो सका. यह भी पढ़ें-  चूरू में 40 लाख रुपए कीमत की हरियाणा निर्मित अवैध शराब बरामद, एक गिरफ्तार यह भी पढ़ें-  ट्रैक्टर-ट्रॉली से हो रही है हरियाणा से शराब तस्करी, 68 पेटी शराब जब्त एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsApp अपडेट्स
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...