Rajasthan: राज्य निर्वाचन आयोग ने 44 जिला आबकारी अधिकारियों के तबादलों पर लगाई रोक, जानिये क्या है वजह
Jaipur News in Hindi

Rajasthan: राज्य निर्वाचन आयोग ने 44 जिला आबकारी अधिकारियों के तबादलों पर लगाई रोक, जानिये क्या है वजह
प्रथम चरण के चुनाव की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है.

राज्य निर्वाचन आयोग (State election commission) ने हाल ही में उसकी अनुमति के बिना आबकारी विभाग के 44 अधिकारियों के किये गये तबादलों को आचार संहिता का हवाला देते हुये उन पर रोक (Ban on transfers) लगा दी है.

  • Share this:
जयपुर. राज्य निर्वाचन आयोग (State election commission) ने पंचायती राज संस्थाओं (Panchayat Election-2020) के चुनाव के मद्देनजर प्रदेश में लागू आदर्श आचार संहिता के बीच किए गए 44 जिला आबकारी अधिकारियों के तबादलों पर रोक (Ban on transfers) लगा दी है. आयोग ने निर्वाचन प्रक्रिया की समाप्ति तक तबादलों पर रोक लगाई है. आयोग का कहना है कि सरकार को तबादलों से उनसे चर्चा करनी चाहिये. आचार संहिता के दौरान आयोग की अनुमति के बिना तबादले किया जाना अनुचित है.

आबकारी विभाग ने 15 सितंबर को किए थे तबादले
15 सितंबर को राज्य के आबकारी विभाग ने 44 जिला आबकारी अधिकारियों के तबादले कर दिये थे. आयोग से बिना पूछे किये गये इन तबादलों पर राज्य चुनाव आयोग ने नाराजगी जताते हुए इन पर रोक लगा दी है. आयोग का कहना है कि राज्य सरकार ने आयोग से बिना परामर्श किए ही तबादले कर दिए. यह अनुचित है. प्रदेश में आदर्श चुनाव संहिता लागू है. मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्याम सिंह राजपुरोहित ने कहा की सरकार आचार संहिता के दौरान तबादलों के प्रस्ताव औचित्य और परिस्थिति के आधार पर आयोग को भेजने चाहिये. इसके बाद आयोग आवश्यकतानुसार उनकी अनुमति देगा.

Rajasthan: भरत सिंह के 'चिट्ठी बम' से कांग्रेस में सियासत उबाल पर, मंत्री प्रमोद जैन भाया ने की पायलट से मुलाकात
28 सितंबर को प्रथम चरण के लिये मतदान होगा


उल्लेखनीय है कि राज्य निर्वाचन आयोग ने ग्राम पंचायत-2020 के लिए चुनाव से वंचित रह रही प्रदेश की 3848 ग्राम पंचायतों के चुनाव घोषित कर रखे हैं. ये चुनाव चार चरण में होने हैं. चुनाव के लिये लोक सूचना जारी की जा चुकी है. प्रथम चरण के चुनाव की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है. 28 सितंबर को प्रथम चरण के लिये मतदान होगा. ऐसे में आयोग ने बिना अनुमति के तबादले करने पर रोक लगा दी है.

Rajasthan: गहलोत सरकार किसानों को बिजली वीसीआर में आज या कल में दे सकती है बड़ी राहत

मंत्रियों के सरकारी दौरों पर भी लग चुकी है रोक
पंचायत चुनाव के कारण राज्य सरकार के मंत्रियों के सरकारी दौरों पर भी ब्रेक लग चुका है. इस संबंध में सामान्य प्रशासन विभाग (ग्रुप-2) ने बुधवार को आदेश जारी करके कह दिया कि मंत्रीगण चुनाव क्षेत्रों में चुनाव समाप्त तक शासकीय दौरे नहीं कर सकेंगे. वे केवल कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ने या फिर किसी आपात स्थिति के कारण ही वहां जा सकेंगे. मंत्री ना ही निर्वाचन क्षेत्र में सरकारी वाहन का उपयोग कर सकेंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading