अपना शहर चुनें

States

Panchayati Raj Election: मतदान की सुस्त रफ्तार, दोपहर 12 बजे तक महज 25.79 फीसदी वोट पड़े

विजयशांति का भाजपा में शामिल होना एक तरह से घर वापसी कर तरह होगा (सांकेतिक तस्वीर)
विजयशांति का भाजपा में शामिल होना एक तरह से घर वापसी कर तरह होगा (सांकेतिक तस्वीर)

Rajasthan Panchayati Raj Election: चुनाव के प्रथम चरण के लिये सुबह 7.30 बजे मतदान शुरू हो गया है. इसमें 21 जिलों की 65 पंचायत समितियों के 1310 और जिला परिषद के सदस्यों का चुनाव होगा. मतदान शाम 5 बजे तक चलेगा.

  • Share this:
जयपुर. पंचायती राज चुनाव (Panchayati Raj Election) के प्रथम चरण में आज ग्रामीण मतदाता 21 जिलों की 65 पंचायत समितियों के 1310 सदस्यों का चुनाव करेंगे. इनके साथ ही इन जिलों की जिला परिषद के सदस्यों के लिये भी मतदान होगा. इसके लिये मतदान (Voting) प्रातः 7.30 बजे शुरू हुआ.  उसके बाद अब धीरे-धीरे मतदान की रफ्तार बढ़ने लगी है. सुबह 10 बजे 10.82 फीसदी वोट डाले गये. दोपहर 12 बजे तक यह आंकड़ा बढ़कर 25.79 फीसदी हो गया. मतदान शाम 5 बजे तक चलेगा. चुनाव अजमेर, बांसवाड़ा, बाड़मेर, भीलवाड़ा, बीकानेर, बूंदी, चित्तौड़गढ़, चूरू, डूंगरपुर, हनुमानगढ़, जैसलमेर, जालोर, झालावाड़, झुझूंनूं, नागौर, पाली, प्रतापगढ़, राजसमंद, सीकर, टोंक और उदयपुर जिले में हो रहे हैं.

जिला परिषद एवं पंचायत समिति चुनाव के प्रथम चरण में आज 72 लाख 38 हजार 66 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे. इनमें 37 लाख 47 हजार 347 पुरुष मतदाता शामिल हैं. वहीं 34 लाख 90 हजार 696 महिला और 23 अन्य मतदाता गांव की पंचायती राज की सरकार को चुनेंगे. मतदान के लिये करीब 25 हजार ईवीएम मशीनों का इस्तेमाल किया जाएगा. करीब 50 हजार से ज्यादा कर्मचारी ये चुनाव सम्पन्न करवाएंगे.

Love Jihad: राजस्थान में BJP-Congress में छिड़ा घमासान, गहलोत के ट्वीट पर शेखावत ने किया ये पलटवार

21 जिलों में 10131 मतदान केंद्र बनाये गए हैं


प्रथम चरण के लिये प्रदेश के 21 जिलों में 10131 मतदान केंद्र बनाये गए हैं. पंचायती राज के सभी चार चरणों के चुनाव होने के बाद मतगणना 8 दिसंबर को संबंधित जिला मुख्यालयों पर सुबह 9 बजे से होगी. चुनाव के लिये सुरक्षा के कड़े सुरक्षा प्रबंध किये गये हैं. राज्य चुनाव आयोग ने प्रत्याशियों और मतदाताओं के लिये कोरोना गाइड लाइन जारी की है. इसका पालन करना सभी के आवश्यक है. गाइडलाइन का उल्लंघन करने वाले के खिलाफ महामारी अधिनियम के तहत जुर्माने और सजा का प्रावधान किया गया है. कोरोना संक्रमण के बीच चुनाव कराना आयोग और पुलिस-प्रशासन के लिये एक बड़ी चुनौती है. इन चुनावों में बीजेपी और कांग्रेस के साथ ही राष्ट्रीय लोकतांत्रित पार्टी भी पूरे दमखम के साथ चुनाव मैदान में उतरी है. तीनों ने पार्टियों ने चुनाव जीतने के लिये पूर दमखम लगा दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज