• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • राजस्थान पंचायतीराज चुनाव: दांव पर है गहलोत सरकार के इन 6 मंत्रियों और 16 विधायकों की प्रतिष्ठा

राजस्थान पंचायतीराज चुनाव: दांव पर है गहलोत सरकार के इन 6 मंत्रियों और 16 विधायकों की प्रतिष्ठा

सबसे ज्यादा लोगों की नजरें जोधपुर जिले पर टिकी है. यह सीएम गहलोत का गृह जिला भी है.

सबसे ज्यादा लोगों की नजरें जोधपुर जिले पर टिकी है. यह सीएम गहलोत का गृह जिला भी है.

Rajasthan Panchayati Raj Election: पंचायतीराज चुनाव में गहलोत सरकार के 6 मंत्रियों और करीब 16 कांग्रेस विधायकों की प्रतिष्ठा (Reputation) दांव पर है. इनमें से दो लालचंद कटारिया और परसादी लाल मीणा कैबिनेट मंत्री हैं.

  • Share this:

जयपुर. राजस्थान के 6 जिलों में होने वाले पंचायतीराज चुनाव (Rajasthan Panchayati Raj Election) में इन जिलों से ताल्लुक रखने वाले गहलोत सरकार (Gehlot Government) के 6 मंत्रियों और करीब 16 कांग्रेस विधायकों की प्रतिष्ठा (Reputation) दांव पर लगी है. वहीं कांग्रेस सरकार का समर्थन कर रहे आधा दर्जन निर्दलीय विधायकों की भी इन चुनावों में अग्नि परीक्षा होगी. हालांकि कांग्रेस पदाधिकारियों का कहना है कि पिछले चुनावों की मुकाबले इस बार पंचायत चुनाव में कांग्रेस लीड करेगी और उसे बड़ी सफलता मिलेगी. दूसरी तरफ चुनावों में टिकटों को लेकर पार्टी में घमासान मच चुका है. यहां तक की पार्टी के वरिष्ठ नेता और पाली के पूर्व सांसद बद्रीराम जाखड़ के साथ तो धक्का मुक्की तक हो चुकी है.

मंत्रियों की अगर बात करें तो जयपुर जिले में लालचंद कटारिया और राजेंद्र यादव, दौसा जिले में परसादी लाल मीणा और ममता भूपेश की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है. वहीं पूर्वी राजस्थान में भरतपुर जिले में सुभाष गर्ग और भजनलाल जाटव की प्रतिष्ठा दांव पर होगी. इनमें से दो मंत्री लालचंद कटारिया और परसादी लाल मीणा कैबिनेट मंत्री हैं. इन चुनावों में पार्टी की हार जीत मंत्रियों के प्रभाव को दर्शायेगा.

इन विधायकों की साख दांव पर
पंचायती राज चुनावों में जयपुर जिले में विधायक इंद्राज गुर्जर, आलोक बेनीवाल, गोपाल मीणा, बाबूलाल नागर, वेद प्रकाश सोलंकी और लक्ष्मण मीणा की प्रतिष्ठा दांव पर हैं. भरतपुर जिल में विधायक विश्वेंद्र सिंह, अमर सिंह जाटव, जाहिदा खान, वाजिब अली और जोगिंदर अवाना की अग्नि परीक्षा है. दौसा जिले में मुरारीलाल मीणा और जी आर खटाणा को खुद को साबित करके दिखाना है. वहीं सवाईमाधोपुर जिले में दानिश अबरार, इंद्रा मीणा और अशोक बैरवा की प्रतिष्ठा का सवाल है. सबसे ज्यादा लोगों की नजरें जोधपुर जिले पर टिकी है. यह गहलोत का गृह जिला है. यहां विधायक किशनाराम विश्नोई, महेंद्र विश्नोई, हीरालाल मेघवाल, मीना कंवर और दिव्या मदेरणा को खुद को साबित करना है. जबकि सिरोही जिले में सरकार के नजदीकी विधायक संयम लोढ़ा की प्रतिष्ठा दांव पर हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज