Rajasthan: आज सज जायेगा पंचायतीराज का चुनावी दंगल, बगावत से जूझ रही कांग्रेस-बीजेपी

ये चुनाव नवंबर और दिसंबर में चार चरणों में होंगे.
ये चुनाव नवंबर और दिसंबर में चार चरणों में होंगे.

Panchayati Raj elections: जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्य के चुनाव के लिये आज नामांकन (Nomination) दाखिल करने की अंतिम तिथि है. आज पर्चे दाखिल करने वालों की भीड़ रहेगी.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश में आज पंचायतीराज का चुनावी (Panchayati Raj elections) दंगल सज जायेगा. आज जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्य चुनाव के लिये नामांकन-पत्र (Nomination) दाखिल करने की अंतिम तिथि है. उसके बाद 10 नवंबर को नामांकन-पत्रों की जांच होगी. 11 नवंबर को दोपहर 3 बजे तक नाम वापस लिए जा सकेंगे. प्रदेश के 21 जिलों में 636 जिला परिषद सदस्यों और 4371 पंचायत समिति सदस्यों के चुनाव होने हैं. बीजेपी और कांग्रेस (BJP and Congress) ने अपने अधिकांश प्रत्याशी घोषित कर दिये हैं.

इन चुनावों में 2 करोड़ 41 लाख, 87 हजार, 946 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे. ये चुनाव चार चरणों में होंगे. प्रथम चरण के लिए 23 नवंबर को मतदान होगा. द्वितीय चरण के लिए 27 नवंबर, तृतीय चरण के लिए 1 दिसंबर और चतुर्थ चरण के लिए 5 दिसंबर को मतदान होगा. मतदान प्रातः 7.30 बजे से शाम 5 बजे तक होगा. सभी की मतगणना एक साथ ही 8 दिसंबर को सभी जिला मुख्यालयों पर सुबह 9 बजे से होगी.

सचिन पायलट बोले- मैं हर कीमत पर अपने कार्यकर्ताओं और लोगों के साथ



टिकटें नहीं मिलने से उठे बगावत के सुर
नगर निगम चुनावों की तर्ज पर पंचायती राज चुनाव में भी कांग्रेस-बीजेपी में टिकट वितरण के बाद बगावत के सुर उठने लगे हैं. दोनों ही पार्टियों में कई जगह कार्यकर्ता और पार्टी पदाधिकारी टिकट नहीं मिलने से नाराज दिखाई दे रहे हैं. दोनों पार्टियां कई जगह बगावत से जूझ रही है. पार्टियों ने नाराज कार्यकर्ताओं को मनाने की जिम्मेदारी स्थानीय बड़े नेताओं को दी है. यह दीगर बात है कि वे इसमें कितने सफल हो पायेंगे. आज नामांकन का आखिरी दिन होने के कारण पर्चे दाखिल करने वालों की धूम रहेगी.

आरएलपी देगी कड़ी टक्कर
पंचायत चुनावों में नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी दोनों प्रमुख पार्टियों के लिये चुनौती बनी हुई है. आरएलपी इन चुनावों में बीजेपी और कांग्रेस को कड़ी टक्कर देनी की तैयारी में है. पिछले विधानसभा चुनावों से ठीक पहले गठित हुई आरएलपी का पश्चिमी राजस्थान के ग्रामीण इलाकों में खासा प्रभाव है. इस पार्टी ने विधानसभा चुनाव में इस इलाके में तीन सीटें जीती थी. वहीं इसके दो प्रत्याशी बेहद कम मार्जिन से चुनाव हारे थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज