• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • राजस्थान पंचायतीराज चुनाव: आयोग ने किया साफ, पूरे 5 साल का कार्यकाल होगा चुने हुये जनप्रतिनिधियों का

राजस्थान पंचायतीराज चुनाव: आयोग ने किया साफ, पूरे 5 साल का कार्यकाल होगा चुने हुये जनप्रतिनिधियों का

फिलहाल इन 12 जिलों में पंचायतीराज संस्थाओं का कामकाज प्रशासक संभाल रहे हैं.

फिलहाल इन 12 जिलों में पंचायतीराज संस्थाओं का कामकाज प्रशासक संभाल रहे हैं.

Rajasthan panchayatiraj election: राज्य के 12 जिलों में होने वाले पंचायतीराज चुनाव को लेकर आयोग ने साफ किया है कि इनमें चुने जाने वाले जनप्रतिनिधियों को कार्यकाल पूरे 5 साल का होगा. अगस्त के अंत तक चुनावों की घोषणा हो सकती है.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना के कारण प्रदेश के 12 जिलों में जिला परिषद और पंचायत समितियों के बार-बार स्थगित हो रहे चुनावों (Rajasthan panchayatiraj election) को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने असमंजस दूर कर दिया है. राज्य निर्वाचन आयोग के अनुसार इन 12 जिलों के जीते हुए पंचायतीराज जनप्रतिनिधियों का कार्यकाल पूरे 5 वर्ष का होगा. जिस दिन चुनाव परिणाम घोषित किया जाएगा उस दिन से लेकर पूरे 5 वर्ष तक उनका कार्यकाल माना जाएगा. बार-बार चुनाव कार्यक्रम स्थगित होने के कारण यह माना जा रहा था कि चुने हुए जनप्रतिनिधि कार्यकाल बेहद कम होगा. लेकिन आयोग ने स्थिति स्पष्ट कर दी है कि कार्यकाल पूरे 5 वर्ष का होगा.

राज्य निर्वाचन आयोग के उप सचिव अशोक जैन ने बताया कि चुनाव परिणाम घोषित होने से आगामी 5 वर्ष तक कार्यकाल माना जाएगा. राज्य निर्वाचन आयोग कोरोना की वजह से इन 12 जिलों में चुनाव कार्यक्रम जारी नहीं कर पाया था. अब यह प्रबल संभावना बन रही है कि आयोग अगस्त माह के अंतिम सप्ताह तक प्रदेश के 12 जिलों में पंचायतीराज चुनाव का कार्यक्रम जारी कर सकता है. राज्य निर्वाचन आयोग के जुड़े सूत्रों के अनुसार आयोग को संबंधित जिलों के कलेक्टर्स ने कोरोना संबंधी रिपोर्ट भेज दी है. इन 12 जिलों में कोरोना के केस बेहद कम हैं.

इन जिलों में नहीं हो पाए चुनाव
कोरोना और अन्य कानूनी अड़चनों के कारण प्रदेश के अलवर, बारां, दौसा, भरतपुर, धौलपुर, जयपुर, जोधपुर, करौली, कोटा, सवाई माधोपुर, सिरोही और श्रीगंगानगर के जिला परिषद एवं पंचायती समिति सदस्यों के चुनाव नहीं हो पाये थे. पहले जनवरी 2020 में होने वाले इन चुनावों के लिये राज्य सरकार की ओर से पंचायती राज संस्थाओं के परिसीमन बाबत जारी की गई अधिसूचनाओ को कोर्ट में चुनौती देने कारण चुनाव नहीं हो सके थे. उसके बाद कोविड- 19 के कारण चुनाव नहीं हो सके थे. फिलहाल इन 12 जिलों में पंचायतीराज संस्थाओं का कामकाज प्रशासक संभाल रहे हैं.

25 जुलाई को उपचुनाव के लिये होगा मतदान
उल्लेखनीय है कि आयोग ने हाल ही में 8 जुलाई को प्रदेश के 22 जिलों के 50 सरपंच, 8 उपसरपंच और 71 वार्ड पंचों का उपचुनाव कार्यक्रम जारी किया था. इनके 25 जुलाई को मतदान होगा. उसके बाद उसी दिन शाम को मतगणना कर परिणाम घोषित कर दिया जायेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज