जयपुर के प्रदूषण की रफ्तार थामेंगी सड़कों पर दौड़ती हुई 100 इलेक्ट्रिक बसें, जानें खास बातें

जयपुर की सड़कों पर इस साल 100 इलेक्ट्रिक बसें दौड़ने लगेंगी. (सांकेतिक तस्वीर)

जयपुर की सड़कों पर इस साल 100 इलेक्ट्रिक बसें दौड़ने लगेंगी. (सांकेतिक तस्वीर)

पहली बार 100 इलेक्ट्रिक बसें जयपुर में चलाई जाएंगी. जयपुर में लो फ्लोर बसों का संचालन करने वाले विभाग जयपुर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विस लिमिटेड को उम्मीद है कि जून तक ये सभी 200 बसें जयपुर आ जाएंगी.

  • Share this:
जयपुर. नया साल 2021 (new year 2021) जयपुर (Jaipur) के लिए कुछ खास रहने वाला हैं. क्योंकि नए साल में जयपुरवासियों के सफर को सुगम बनाने के लिए 200 नई बसें सड़क पर उतारने की तैयारी हैं. खास बात ये है कि बढ़ते प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए पहली बार 100 इलेक्ट्रिक बसें (electric buses) भी जयपुर में चलाई जाएंगी. जयपुर में लो फ्लोर बसों (Low floor buses) का संचालन करने वाले विभाग जयपुर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विस लिमिटेड (JCTSL) को उम्मीद है कि जून तक ये सभी 200 बसें जयपुर आ जाएंगी.

बसों में होगा पैनिक बटन

बीते दिनों बसों का मॉडल भी JCTSL को वेंडर की तरफ से मुहैया करवाया गया था. जिसमें कुछ सुधार करने के लिए JCTSL ने वेंडर को ताकीद किया है. इन बसों की हर सीट पर एक पैनिक बटन भी लगाया जाएगा. जब कोई मुसाफिर किसी परेशानी में होगा तो वह इस बटन को दबाएगा. बटन के दबाते ही उसकी सूचना JCTSL और पुलिस तक पहुंच जाएगी.

जनवरी में 50 डीजल बसें आने की उम्मीद
JCTSL के विशेषाधिकारी वीरेंद्र वर्मा के मुताबिक, जून तक 200 बसें जयपुर आ जाएंगी. जनवरी महीने में 50 डीजल बसें आने की उम्मीद है. डीजल बसें बगराना डिपो और इलेक्ट्रिक बसें सांगानेर डिपो से संचालित होंगी.

खास बातें
JCTSL के पास आएंगी 200 नई बसें. जिनमें 100 बसें डीजल की होंगी जबकि 100 बसें इलेक्ट्रिक. उम्मीद की जा रही हैं कि जून तक ये सभी बसें जयपुर आ जाएंगी.
100 इलेक्ट्रिक बसों के लिए केंद्र सरकार का भारी उद्योग विभाग राशि दे रहा है. GCC के तहत वेंडर टाटा कंपनी को एक इलेक्ट्रिक बस पर करीब 40 लाख रुपये दिए जाएंगे. बाकी राशि टाटा कंपनी खुद वहन करेगी.
100 डीजल बसों के लिए स्मार्ट सिटी के तहत राशि मिल रही है. इन 100 बसों में 30 एसी और 70 नन एसी बसें होंगी. GCC के तहत वेंडर कंपनी पारस को एक डीजल बस पर करीब 15 लाख रुपये दिए जाएंगे.
बसों के संचालन के लिए JCTSL इलेक्ट्रिक बस पर 66 रुपये 50 पैसे, डीजल एसी बस पर 38 रुपये 45 पैसे और डीजल नन एसी बस पर 36 रुपये 45 पैसे का भुगतान वेंडर को करेगा.
इन बसों पर JCTSL सिर्फ अपना कंडक्टर ही लगाएगा जबकि चालक समेत अन्य मेंटेनेन्स का खर्च वेंडर वहन करेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज