• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • राजस्‍थान: पर्यटन मंत्री के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर, सार्वजनिक स्थान पर मास्क नहीं पहनने का आरोप

राजस्‍थान: पर्यटन मंत्री के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर, सार्वजनिक स्थान पर मास्क नहीं पहनने का आरोप

पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर हुई है.

पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर हुई है.

राजस्‍थान के पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह (Tourism Minister Vishvendra Singh) के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर हुई है. याचिका में कोर्ट से कहा गया है कि पर्यटन मंत्री कोरोना काल में सार्वजनिक स्थल पर बिना मास्क घूम रहे थे.

  • Share this:
जयपुर. राजस्‍थान के पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह (Tourism Minister Vishvendra Singh) के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर हुई है. आरोप है कि उन्होंने सार्वजनिक स्थान पर मास्क नहीं पहनकर कानून का उल्‍लंघन किया है. अधिवक्तता पूनमचंद भंडारी ने यह याचिका राजस्‍थान हाईकोर्ट (Rajasthan High Court) में दायर की है.

डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट तहत हो कार्रवाई
याचिका में कोर्ट से कहा गया है कि पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह इस कोरोना काल में सार्वजनिक स्थल पर बिना मास्क घूम रहे थे. वहीं पुलिसकर्मियों को निर्देश भी दे रहे थे. जबकि सरकार ने 19 अप्रैल के आदेश से सार्वजनिक स्थान पर मास्क पहनना अनिवार्य किया था. वहीं ऐसा नहीं करने पर डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट 2005 के सेक्शन 51 के तहत एक साल की सजा और जुर्माने का प्रावधान किया है. विश्वेन्द्र सिंह एक जिम्मेदार व्यक्ति हैं और उन्हें कानून का पालना करना चाहिए था.

पर्यटन मंत्री का वीडियो हुआ था वायरल
राजस्‍थान के पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह का एक वीडियो कुछ समय पहले सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था, जिसमें वो कुम्हेर थाने के बाहर पुलिसकर्मियों को कर्फ्यू की कड़ाई से पालन कराने के निर्देश देते हुए नज़र आ रहे थे. इसमें उन्होंने मास्क नहीं पहना हुआ था. जबकि बाकी सभी पुलिस अधिकारियों और जवानों ने मास्क पहन रखा था.

याचिकाकर्ता को मिल रही धमकियां
याचिकाकर्ता पूनमचंद भंडारी की ओर से अधिवक्ता टीएन शर्मा और अधिवक्ता अभिनव भंडारी ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की है, जिसमें राज्य सरकार, डीजीपी भूपेंद्र सिंह, भरतपुर रेंज डीआईजी लक्ष्मण गौड़ और एसपी भरतपुर हैदर अली ज़ैदी को भी पक्षकार बनाया गया है. याचिका में कहा गया है कि घटना के बाद याचिकाकर्ता ने भरतपुर एसपी को इसकी शिकायत की थी, लेकिन उस पर कोई कार्रवाई नहीं हुई. जबकि उल्टा याचिकाकर्ता को ही फोन पर धमकियां मिलने लगी हैं. इसकी शिकायत भी पुलिस से की गई है, जिस पर भी आज तक कोई एक्शन नहीं हुआ है.

ये भी पढ़ें

Rajasthan: लॉकडाउन और मंदी के दौर के बीच भी करोड़ों कमा लिए, जानिए कौन है यह

Lockdown: राजस्थान में होम डिलीवरी के लिए खुल सकेंगे रेस्टोरेंट्स और भोजनालय

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज