तेल की कीमतों में लगी आग, जयपुर में पेट्रोल 77.82 और डीजल 70.93 प्रति लीटर

पिछले तीन दिन में पेट्रोल पचास पैसे और डीजल 68 पैसे महंगा हो गया है. और पहली बार पेट्रोल कीमतें 80 रुपए प्रति लीटर के पार जा सकती हैं.

Ankit Tiwari
Updated: May 16, 2018, 9:25 PM IST
तेल की कीमतों में लगी आग, जयपुर में पेट्रोल 77.82 और डीजल 70.93 प्रति लीटर
पिछले तीन दिन में पेट्रोल पचास पैसे और डीजल 68 पैसे महंगा हो गया है. और पहली बार पेट्रोल कीमतें 80 रुपए प्रति लीटर के पार जा सकती हैं.
Ankit Tiwari
Updated: May 16, 2018, 9:25 PM IST
कर्नाटक चुनावों के चलते थमी पेट्रोल - डीजल कीमतें फिर से रफ्तार पकड़ने लगी हैं. पिछले तीन दिन में पेट्रोल पचास पैसे और डीजल 68 पैसे महंगा हो गया है. 24 अप्रैल के बाद से पेट्रोलियम कंपनियों ने अपने स्तर पर ऑयल कीमतें नहीं बढ़ाई थी, जबकि कीमतों में बदलाव प्रतिदिन होना तय है. कर्नाटक में सत्ता के जादूई आंकड़े से राजनीतिक पार्टियां दूर है, लेकिन कीमतों की तल्खी असर दिखाने लगी हैं.

क्रूड ऑयल कीमतों में इजाफे के बावजूद प्राइज कंट्रोल करने वाली पेट्रोलियम कंपनियों ने 13 मई की शाम को ही अपने हाथ खोल दिए थे. इसका असर वाहन चालकों की जेब पर दिखने लगा है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल कीमतों पर निगाह डाले तो कीमतों में मई माह में तेजी बरकरार रहने की उम्मीद है. पेट्रोलियम विशेषज्ञों का यहां तक कहना है कि पहली बार पेट्रोल कीमतें 80 रुपए प्रति लीटर के पार जा सकती हैं. कीमतों में यह तेजी उपभोक्ताओं को अब अखरने लगी है.
14 मई के बाद पेट्रोल 50 पैसे और डीजल 68 पैसे महंगा
प्रदेश में रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची ऑयल कीमतें

पेट्रोल कीमतों में बुधवार को 16 पैसे प्रति लीटर की तेजी
77.82 रुपए प्रति लीटर पहुंची जयपुर में पेट्रोल कीमतें
डीजल 22 पैसे की बढ़त के साथ 70.93 रुपए प्रति लीटर


पेट्रोल-डीजल कीमतों में तेजी के बाद से उपभोक्तओं ने पिछली केंद्र सरकार और वर्तमान सरकार की नीतियों की तुलना करना शुरू कर दी है.वाहन चालकों का कहना है कि इतनी कीमतें तो तब भी नहीं थी जब क्रूड ऑयल प्रति बैरल 100 डॉलर के पार था.

पेट्रोलियम पदार्थ वर्तमान में जीएसटी से बाहर हैं केंद्र और राज्य सरकारों का अलग अलग टैक्स लागू हैं. वर्तमान कीमतों के आधार पर 35 से 40 रुपए प्रतिलीटर महज टैक्स के रूप में वाहन चालकों से वसूले जा रहे हैं. अगर जीएसटी काउंसिल समय रहते कोई ठोस निर्णय नहीं लेती हैं तो ऑयल कीमतों में लगातार बढ़ोतरी केंद्र और राज्यों में विपक्ष के लिए बेहतर मुद्दा साबित हो सकता है. हालांकि तब तक वाहन चालकों को सवारी का लुत्फ उठाने के लिए जेब ढीली ही करनी होगी.
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Rajasthan News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर