पैकेज को लेकर CM गहलोत का केंद्र पर हमला, कहा- पैकेज डिफेक्टिव, PM से करूंगा बात

सीएम अशोक गहलोत ने अब पीएम केयर्स से मिले पैकेज को डिफेक्टिव बताया है.

अब पैकेज को लेकर गहलोत का केन्द्र सरकार पर हमला...कहा, केन्द्र सरकार का पैकेज डिफेक्टिव, इसमें कई तरह कंफ्यूजन...प्रधानमंत्री से करूंगा बात

  • Share this:
जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक बार फिर से केन्द्र सरकार पर सीधा हमला बोला है. गहलोत ने इस बार केन्द्र सरकार के पीएम केयर्स के तहत घोषित किए गए पैकेज को लेकर केन्द्र सरकार पर निशाना साधा है. बड़ा बयान देते हुए आज मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा अनाउंस किया गया पैकेज डिफेक्टिव है. उन्होंने कहा कि इस पैकेज में कई तरह के कंफ्यूजन हैं, जिसे लेकर मैं अलग से प्रधानमंत्री से बात करुंगा. उन्हें बताऊंगा कि आपका पैकेज डिफेक्टिव है. आज कोरोना वेक्सीनेशन के प्रति सहभागिता बढाने के लिए आयोजित राज्यस्तरीय वीसी में सीएम गहलोत ने यह बात कही. इससे पहले गहलोत फ्री वैक्सीन और ऑक्सीजन की कमी जैसे मुद्दों पर केन्द्र सरकार को घेर चुके हैं. अब गहलोत ने राज्य सरकार द्वारा घोषित पैकेज से केन्द्र सरकार के पैकेज की तुलना कर एक बार फिर केन्द्र पर हमला बोला है.

पैकेज में कई तरह के कंफ्यूजन

गहलोत ने कहा कि केन्द्र सरकार ने अपने पैकेज में प्रावधान किया है कि जिस बच्चे के माता-पिता दोनों का निधन हो गया है. उन्हें भी 18 साल के बाद आर्थिक मदद मिलेगी. पैकेज के तहत अभी केवल इन अनाथ बच्चों की पढाई-लिखाई का इंतजाम किया जाएगा. केन्द्र सरकार ने अपने पैकेज में 18 से 23 साल तक मदद की बात कही है, जिसे लेकर भी कंफ्यूजन है. मुख्यमंत्री ने कहा कि 23 साल की उम्र में 10 लाख की सहायता की बात कही गई है, लेकिन यह नहीं बताया गया कि यह पूरा पैसा प्रभावित को मिलेगा या उसमें 18 से 23 साल का खर्च शामिल होगा. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि केन्द्र सरकार ने विधवा हुई महिलाओं के लिए कुछ भी सहायता का ऐलान नहीं किया. वहीं, अनाथ बच्चों को भी 18 साल बाद मदद का कहा गया है लेकिन उस वक्त कैसी परिस्थितियां हों किसे पता. गहलोत ने कहा कि संकटकाल में पीड़ितों को तत्काल मदद की आवश्यकता है.

राजस्थान ने दिया शानदार पैकेज

सीएम गहलोत ने कहा कि राजस्थान सरकार ने अनाथ बच्चों और विधवा महिलाओं के लिए शानदार पैकेज का ऐलान किया है. इस पैकेज के तहत एक लाख रुपए की मदद तत्काल दी जा रही है. राजस्थान सरकार ने कोरोना काल में अनाथ हुए बच्चों के लिए मुख्यमंत्री कोरोना बाल कल्याण योजना शुरू की है, जिसके तहत 18 साल तक हर महीने ढाई हजार रुपए की सहायता, 18 साल पूरे होने पर 5 लाख की सहायता और 12वीं तक निशुल्क शिक्षा जैसे भी प्रावधान किए गए हैं. वहीं विधवा हुई महिलाओं को भी डेढ हजार रुपए प्रतिमाह विधवा पेंशन और उनके बच्चों को 1 हजार रुपए हर महीने प्रति बच्चा सहायता जैसी घोषणा की गई है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.