जयपुर में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा तोड़ने के आरोप में एक गिरफ्तार

जयपुर में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा को तोड़ने के आरोप में पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया है.

News18 Rajasthan
Updated: August 19, 2019, 10:45 AM IST
जयपुर में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा तोड़ने के आरोप में एक गिरफ्तार
RSS संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा तोड़ने के आरोप में एक गिरफ्तार (फाइल फोटो)
News18 Rajasthan
Updated: August 19, 2019, 10:45 AM IST
राजस्थान की राजधानी जयपुर में श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा को तोड़ने के आरोप में पुलिस ने एक शख्स को गिरफ्तार किया है. आरोपी की गिरफ्तारी के बाद भीलवाड़ा के एसपी एचके महावर ने कहा कि 11-12 अगस्त को कुछ असामाजिक तत्वों ने श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा को तोड़ दिया था जिन्हें अब गिरफ्तार कर लिया गया है.




पुलिस ने एक आरोपी को किया गिरफ्तार

जानकारी के मुताबिक़ सागर चौराहे पर एक छोटे से सर्किल में लगी श्यामा प्रसाद मुखर्जी की प्रतिमा को अज्ञात लोगों ने तोड़ दिया था. प्रतिमा का सिर धड़ से अलग टूटा हुआ जमीन पर गिरा हुआ था. वहीं श्यामा प्रसाद मुखर्जी की मूर्ति को तोड़ने की घटना से बीजेपी नेताओं और कार्यकर्ताओं में आक्रोश था, जिसके बाद कार्यकर्ताओं ने पुलिस से अज्ञात लोगों को गिरफ्तार करने की मांग की थी. फिलहाल पुलिस ने अब प्रतिमा को तोड़ने के आरोप में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है.
Loading...

आर्टिकल 370 के विरोधी थे श्यामा प्रसाद मुखर्जी

बता दें कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी का स्वतंत्रता आंदोलन में अहम योगदान था और वो बीजेपी (पूर्व में भारतीय जनसंघ) के संस्थापक भी थे और आजादी के बाद देश में पंडित जवाहर लाल नेहरू के नेतृत्व में बनी पहली सरकार में उद्योग मंत्री थे और उनकी मृत्यु 23 जून 1953 को श्रीनगर की जेल में संदिग्ध परिस्थितियों में हुई थी. डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी जम्मू-कश्मीर में आर्टिकल 370 लगाए जाने के घोर विरोधी थे. उनकी इच्छा थी कि इसे राज्य से पूरी तरह खत्म कर दिया जाए.

यह भी पढ़ें- कैसे हुई थी श्यामाप्रसाद मुखर्जी की मौत? जिसकी जांच चाहती है BJP

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 19, 2019, 10:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...