Rajasthan: बोर्ड-निगमों में नियुक्तियों की कवायद, मलाईदार पदों के लिए ये रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट्स भी लगा रहे दौड़
Jaipur News in Hindi

Rajasthan: बोर्ड-निगमों में नियुक्तियों की कवायद, मलाईदार पदों के लिए ये रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट्स भी लगा रहे दौड़
RPSC और RSMSSB जैसी संस्थाओं में बदलाव संभव है.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) द्वारा ऋषभ शर्मा को अपना निजी सचिव नियुक्त करने के साथ ही प्रदेश के विभिन्न बोर्ड-निगमों में राजनीतिक नियुक्तियों (Political appointments) का सिलसिला शुरू हो गया है.

  • Share this:
जयपुर. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) द्वारा ऋषभ शर्मा को अपना निजी सचिव नियुक्त करने के साथ ही प्रदेश के विभिन्न बोर्ड-निगमों में राजनीतिक नियुक्तियों (Political appointments) का सिलसिला शुरू हो गया है. सरकार के खास रहे करीब एक दर्जन रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट्स (Retired bureaucrats) को विभिन्न बोर्डों में प्रमुख पदों पर तैनाती मिल सकती है. राजनीतिक नियुक्तियों के लिए कांग्रेस कार्यकर्ता और पदाधिकारियों के साथ-साथ ही रिटायर ब्यूरोक्रेट्स भी जुगत भिड़ाने में जुटे हैं.

पिछली सरकार ने भी नवाजा था
पिछली वसुंधरा सरकार ने भी अपने चहेते करीब एक दर्जन रिटायर्ड ब्यूरोक्रेट्स को विभिन्न बोर्डों में मलाईदार पदों से नवाजा था. गहलोत सरकार अब इस सिलसिले को आगे बढ़ा सकती है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सत्ता संभालने के कुछ दिनों बाद ही रिटायर्ड आईएएस गोविंद शर्मा को सीएम का सलाहकार और अरविंद मायाराम को आर्थिक सलाहकार नियुक्त किया था.

राजस्थान: उत्तर पश्चिम रेलवे जुलाई माह से 48 नई पैसेंजर ट्रेनें शुरू करेगा! यहां देखें पूरी लिस्ट
सीएम के खास रहे ब्यूरोक्रेट्स को मिलेगी जिम्मेदारी


गहलोत सरकार को सत्ता में आए करीब पौने दो वर्ष का समय हो गया है, लेकिन आपसी रस्साकशी एवं टकराव के कारण विभिन्न बोर्डों एवं निगमों में राजनीतिक नियुक्तियां नहीं हो पाई है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खास राजस्व विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव रहे खेमराज चौधरी को नई जिम्मेदारी मिल सकती है. सरकार उनको किसी बोर्ड का चेयरमैन बना सकती है. कुछ महीने पहले ही सेवानिवृत्त हुए पूर्व डीजीपी कपिल गर्ग मुख्यमंत्री के खास माने जाते हैं. उन्हें नई जिम्मेदारी मिल सकती है. पूर्व मुख्य सचिव अशोक जैन और पूर्व आईएएस मंजीत सिंह अपने अपने तरीके से प्रयास कर रहे हैं.

Jaipur: करीब 4 हजार कर्मचारियों को रोडवेज ने माला पहनाकर घर रवाना कर दिया, क्या है माजरा, पढ़ें इनसाइड स्टोरी

इन अहम पदों पर भी हो सकता है बदलाव
राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड (RSMSSB) के अध्यक्ष बाबूलाल जाटावत और राजस्थान लोक सेवा आयोग (RPSC) के चेयरमैन दीपक उप्रेती की नियुक्ति पिछली वसुंधरा सरकार ने की थी. ऐसे में सरकार इनमें भी फेरबदल कर सकती है. विभिन्न सरकारों में पूर्व मुख्य सचिव अशोक जैन, विपिन चंद्र शर्मा, मंजीत सिंह और अशोक शेखर की खूब चलती रही है. यदि विभिन्न बोर्डों में नियुक्तियों का इंतजार लंबा खींचता है तो इस साल रिटायर होने वाले ब्यूरोक्रेट्स को भी सरकार खुश कर सकती है.

ये ब्यूरोक्रेट्स हैं रिटायर होने की कतार में
मुख़्य सचिव डीबी गुप्ता सितंबर में रिटायर हो रहे हैं. गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव राजीव स्वरूप का रिटायरमेंट अक्टूबर महीने में है. राजस्व मंडल के चेयरमैन मुकेश कुमार शर्मा, जयपुर संभागीय आयुक्त-केसी वर्मा, भरतपुर संभागीय आयुक्त- चंद्र शेखर मुथा और मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्याम सिंह राजपुरोहित इस वर्ष रिटायर हो जाएंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज