• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Political Appointments: राजस्थान में अल्पसंख्यकों ने इन जिलों में जताई जिलाध्यक्ष पद की दावेदारी

Political Appointments: राजस्थान में अल्पसंख्यकों ने इन जिलों में जताई जिलाध्यक्ष पद की दावेदारी

राजस्थान कांग्रेस के अल्पसंख्यक वर्ग के नेता जिलाध्यक्ष बनने के लिए जयपुर शहर के साथ ही सवाईमाधोपुर, धौलपुर, टोंक, चूरू, सीकर, जैसलमेर और नागौर आदि जिलों में लॉबिंग कर रहे हैं.

राजस्थान कांग्रेस के अल्पसंख्यक वर्ग के नेता जिलाध्यक्ष बनने के लिए जयपुर शहर के साथ ही सवाईमाधोपुर, धौलपुर, टोंक, चूरू, सीकर, जैसलमेर और नागौर आदि जिलों में लॉबिंग कर रहे हैं.

Rajasthan Congress News: कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष इमरान प्रतापगढ़ी (Imran Pratapgarhi) ने कहा कि हर समाज की प्रतिनिधित्व पाने की बड़ी इच्छा होती है. यदि इसे लेकर किसी के दिल में कोई कसक है भी तो वह जल्द ही खत्म हो जाएगी.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार, राजनीतिक नियुक्तियों और संगठनात्मक नियुक्तियों को लेकर कवायद चल रही है तो अल्पसंख्यक वर्ग ने भी इनमें पर्याप्त प्रतिनिधित्व देने की मांग की है. अल्पसंख्यक वर्ग के नेता और पदाधिकारी इसके लिए दबाव बनाने में भी जुटे हैं. कांग्रेस के अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष इमरान प्रतापगढ़ी (Imran Pratapgarhi) के राजस्थान दौरे में भी नेताओं ने पर्याप्त प्रतिनिधित्व की मांग उठाई. अये नेता और कार्यकर्ता मंत्रिमंडल के साथ ही राजनीतिक नियुक्तियों और संगठन में ज्यादा पदों की मांग कर रहे हैं.

इमरान प्रतापगढ़ी ने कहा कि ये हमारे परिवार के अंदर का मसला है. उन्होंने कहा कि पार्टी आलाकमान ने भी इस मसले पर चर्चा की है. उन्होंने आश्वस्त किया है कि अल्पसंख्यक वर्ग को पर्याप्त प्रतिनिधित्व मिलेगा. राजस्थान में अल्पसंख्यकों से जुड़े बोर्ड-निगमों में भी पद खाली पड़े हैं. इमरान प्रतापगढ़ी ने कहा कि राजनीतिक नियु्क्तियों पर वे राहुल गांधी से भी बात करेंगे और जल्द ही इन पदों पर नियुक्तियां होंगी.

8-9 जिलों में पार्टी जिलाध्यक्ष पदों के लिए दावा
मंत्रिमंडल और राजनीतिक नियुक्तियों के साथ ही अल्पसंख्यक वर्ग के नेता संगठनात्मक नियुक्तियों के लिए भी दबाव बना रहे हैं. राजस्थान में करीब 8-9 जिलों में पार्टी जिलाध्यक्ष पदों के लिए अल्पसंख्यक समुदाय के नेताओं का दावा है. जयपुर शहर के साथ ही सवाईमाधोपुर, धौलपुर, टोंक, चूरू, सीकर, जैसलमेर और नागौर आदि जिलों में अल्पसंख्यक वर्ग के नेता जिलाध्यक्ष बनने के लिए लॉबिंग कर रहे हैं.

जल्द दूर होगी कसक !
समुदाय से ताल्लुक रखने वाले नेता अपनी बातें प्रदेश प्रभारी और मुख्यमंत्री के साथ ही आलाकमान तक पहुंचाने में लगे हैं. इमरान प्रतापगढी का कहना है कि हर समाज की प्रतिनिधित्व पाने की बड़ी ख्वाहिश होती है. लेकिन राजस्थान में अल्पसंख्यक समुदाय ही नहीं बल्कि सभी वर्ग संतुष्ट हैं और यदि किसी के दिल में कोई कसक है भी तो वह जल्द ही खत्म हो जाएगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज