Rajasthan Crisis : CLP बैठक के बाद विश्वेंद्र सिंह बोले- CM गहलोत ने हमें बुलाया, वह हमारे नेता हैं
Jaipur News in Hindi

Rajasthan Crisis : CLP बैठक के बाद विश्वेंद्र सिंह बोले- CM गहलोत ने हमें बुलाया, वह हमारे नेता हैं
विश्वेंद्र सिंह ने बड़ा बयान दिया है. (Pic Credit-ANI)

Rajasthan Political Crisis Update: कांग्रेस विधायक दल की बैठक (Congress Legislature Party Meeting) में शामिल होने के बाद विधायक विश्वेंद्र सिंह ( Vishvendra Singh ) ने कहा, 'हम पर लगाए जा रहे सभी आरोप लगत हैं. मैं कांग्रेस से कभी अलग नहीं हुआ.'

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में तकरीबन एक महीने से चल रहा पॉलिटिकल ड्रामा तब खत्म होने के ओर है. सियासी हचलच के बीच बागी तेवर वाले सचिन पायलट (Sachin Pilot) और सीएम अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) की मुलाकात हुई. दोनों ने हाथ मिलाकर अपनी खुशी भी जाहिर की. सीएम आवास में हो रही कांग्रेस विधायक दल की बैठक (Congress Legislature Party Meeting) में पायलट खेमे के विधायक भी शामिल हुए. सीएलपी बैठक में शामिल होने के बाद कांग्रेस विधायक विश्वेंद्र सिंह ( Vishvendra Singh ) ने पार्टी में एक जुटता होने का दावा किया है. विश्वेंद्र सिंह ने कहा,  कांग्रेस एकजुट है. मुख्यमंत्री CLP नेता हैं और सब उनका सम्मान करते हैं. उन्होंने कहा अगर भाजपा चाहती है तो वो कल अविश्वास प्रस्ताव ला सकती है. ये उनका काम है.

विधायक विश्वेंद्र सिंह ने कहा कि अब दूध का दूध पानी का पानी हो गया है. हमा पर जो आरोप लगाए जा रहे हैं वे निराधार है. साथ ही उन्होंने कहा कि मैंने हमेशा कहा, मैं कांग्रेस में था और कांग्रेस में हूं. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने स्वागत किया और हमें बुलाया. उन्होंने कहा, जो भी आरोप थे उनका पर्दाफाश हो गया है. हम एक महीने इसलिए बाहर रहे ताकि हमारे साथ किसी प्रकार की कोई घटना नहीं हो. हमने न पहले कभी कुछ मांगा था और नहीं अब. हम जनता की सेवा के लिए आए हैं.

ये भी पढ़ें: मिलिए 100 बरस की बुजुर्ग महिला से, जो हर साल चुकाती हैं इनकम टैक्स



सचिन पायलट ने जताया आभार
महीनेभर तक चले सियासी संग्राम के बाद आज आखिरकार सचिन पायलट और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मुलाकात हुई. जयपुर में मुख्यमंत्री आवास में हुई कांग्रेस विधायक दल की बैठक में सचिन पायलट ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष के रूप में 6 साल तक मौका देने के लिए सोनिया गांधी को धन्यवाद दिया. साथ ही उप मुख्यमंत्री के रूप में मौका देने के लिए अशोक गहलोत का आभार जताया. बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि 19 विधायकों के बिना भी वह विधानसभा में बहुमत साबित कर देते, लेकिन वह खुशी नहीं मिलती. पायलट के आने पर खुशी जाहिर करते हुए सीएम ने कहा कि अपने-अपने होते हैं. बैठक में सीएम गहलोत ने कहा कि कांग्रेस विधानसभा में विश्वासमत प्रस्ताव पेश करेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज