Rajasthan: सियासी संकट में NSUI की गांधीगिरी, बागी MLAs को मनाने के लिए अपनाया अनूठा तरीका
Jaipur News in Hindi

Rajasthan: सियासी संकट में NSUI की गांधीगिरी, बागी MLAs को मनाने के लिए अपनाया अनूठा तरीका
कांग्रेस समर्थक और एनएसयूआई कार्यकर्ता रविवार को अपनी इस मुहिम के तहत सचिन पायलट समेत पार्टी के सभी 19 बागी विधायकों के आवासों पर पहुंचे.

राज्य में चल रहे सियासी संग्राम (Political crisis) के बीच कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई ने रविवार को बागी विधायकों की मान मनौव्वल के लिए एक नई मुहिम शुरू की है.

  • Share this:
‌जयपुर. राजस्‍थान में चल रहे सियासी संग्राम (Political crisis) के बीच कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई ने रविवार को बागी विधायकों की मान मनौव्वल के लिए एक नई मुहिम चलाई. इस मुहिम के तहत एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने बागी विधायकों के निवास पर जाकर उनके परिजनों को गुलदस्ते (Bouquet) भेंट किए. इसके माध्‍यम से विधायकों तक संदेश पहुंचाने की कोशिश की गई ताकि वे पार्टी में दोबारा लौट आएं.

कांग्रेस समर्थक और एनएसयूआई कार्यकर्ता रविवार को अपनी इस मुहिम के तहत सचिन पायलट समेत पार्टी के सभी 19 बागी विधायकों के आवास पर पहुंचे. एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष अभिषेक चौधरी के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं की टीम पहले विधायक जीआर खटाना के निवास पर पहुंची. वहां कोई नहीं मिला तो एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने उनके निवास के मेन गेट पर गुलदस्ते रख दिए. उसके बाद वे विधायक वेदप्रकाश सोलंकी और मुरारीलाल मीणा के निवास पर पहुंचे. वहां उन्होंने उनके परिजनों से समझाइश की. इस दौरान विधायक वेदप्रकाश सोलंकी की मां भावुक हो गईं और उन्होंने एनएसयूआई कार्यकर्ताओं को आशीर्वाद दिया.

Rajasthan: बेकाबू सियासी संकट और कोरोना, एक ही दिन में रिकॉर्ड 1132 पॉजिटिव आये सामने, 11 की मौत



गहलोत और पायलट खेमों में बंटे हैं विधायक
इस मुहिम के तहत एनएसयूआई कार्यकर्ता पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट के निवास पर भी पहुंचे. एनएसयूआई के प्रदेश अध्यक्ष अभिषेक चौधरी ने बताया कि संगठन प्रदेश कांग्रेस में चल रहे इस माहौल से आहत है. लेकिन, उन्हें अंतिम समय तक उम्मीद है कि बागी विधायक उनकी अपील और आग्रह को जरूर स्वीकार करेंगे. उल्लेखनीय है कि राजस्थान में गत करीब 15 दिन से भी ज्यादा समय से सियासी संकट गहराया हुआ है. सरकार और कांग्रेस संगठन अशोक गहलोत तथा सचिन पायलट खेमों में बंटा हुआ है. गहलोत खेमा जयपुर में एक होटल में बंद है, वहीं पायलट खेमा दिल्ली में एक होटल में डेरा जमाये हुए है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading