होम /न्यूज /राजस्थान /सचिन पायलट नहीं, सीपी जोशी को मिलेगी राजस्थान की कमान? गहलोत गुट के विधायकों ने भी दिखाया समर्थन

सचिन पायलट नहीं, सीपी जोशी को मिलेगी राजस्थान की कमान? गहलोत गुट के विधायकों ने भी दिखाया समर्थन

राजस्थान में सीएम पद को लेकर कांग्रेस में चल रही अंदरुनी लड़ाई के बीच सीपी जोशी का नाम एक बार फिर से चर्चा में आ गया है.

राजस्थान में सीएम पद को लेकर कांग्रेस में चल रही अंदरुनी लड़ाई के बीच सीपी जोशी का नाम एक बार फिर से चर्चा में आ गया है.

राजस्थान में सीएम पद को लेकर चल रहे उठा-पटक के बीच एक बार फिर सीपी जोशी का नाम चर्चा में आ गया है. वहीं गहलोत कैंप के व ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

अशोक गहलोत सीएम पद की जिम्मेदारी सीपी जोशी को देना चाहते हैं.
सीएम पद के तौर पर सचिन पायलट को लेकर गहलोत कैंप के विधायक विरोध में हैं.
गहलोत कैंप के विधायकों का कहना है कि सीएम की जिम्मेदारी उसे मिलनी चाहिए, जिसने पार्टी को मजबूत किया है.

जयपुर. अशोक गहलोत द्वारा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद से राजस्थान में सीएम पद को लेकर लगातार गतिरोध जारी है. एक तरफ सचिन पायलट सीएम बनना चाहते हैं तो वहीं गहलोत कैंप के विधायक सचिन पायलट को सीएम के तौर पर स्वीकार नहीं कर रहे हैं. इस बीच केंद्रीय पर्यवेक्षक विधायक दल की बैठक के लिए जयपुर पहुंचे तो विधायक बैठक में जाने के बजाए विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी के आवास पर चले गए. बता दें कि एक तरफ कांग्रेस पार्टी का आलाकमान सचिन पायलट को सीएम बनाना चाहता है तो वहीं अशोक गहलोत अपनी जगह सीपी जोशी को देना चाहते हैं.

इसी गतिरोध को रोकने के लिए रविवार को पर्यवेक्षक के तौर पर अजय माकन और मल्लिकार्जुन खड़गे जयपुर पहुंचे. लेकिन सीएम अशोक गहलोत के एक दांव से पूरी राजनीतिक गणित ही बदल गई. विधायक दल की बैठक से पहले अशोक गहलोत के सबसे वफादार मंत्री माने जाने वाले शांति धारीवाल के आवास पर एक बैठक हुई. सूत्रों के अनुसार अशोक गहलोत नहीं चाहते कि सचिन पायलट सीएम बनें. अशोक गहलोत सीपी जोशी को सीएम पद देना चाहते हैं. सूत्रों के अनुसार शांति कुमार धारीवाल के आवास पर हुई बैठक में विधायकों को बताया गया कि सीएम सचिन पायलट बनेंगे. इसके बाद सभी विधायकों ने अपना-अपना इस्तीफा लिख दिया.

इसके बाद मंत्री के आवास से बाहर निकल कर सभी विधायक विधानसभा स्पीकर सीपी जोशी के आवास पर पहुंच गए. सूत्रों के अनुसार गहलोत कैंप में निर्दलीय विधायकों को मिलाकर कुल 92 विधायक हैं. विधायकों का कहना था कि गहलोत का उत्तराधिकारी कोई ऐसा होना चाहिए, जिन्होंने 2020 की राजनीतिक संकट में सरकार बचाने में अहम भूमिका निभाई हो ना कि कोई ऐसा सीएम बने, जो सरकार गिराने के प्रयास में शामिल था.

वहीं रविवार को होने वाली विधायक दल की बैठक अभी तक नहीं हुई. साथ ही सोनिया गांधी ने निर्देश दिया है कि एक-एक विधायक से बात की जाए. वहीं सोनिया गांधी ने सचिन पायलट और अशोक गहलोत को दिल्ली बुलाया है. वहीं इस गतिरोध के बीच सीपी जोशी का नाम एक बार फिर से चर्चा में आ गया है.

Tags: Ashok gehlot, Rajasthan Congress

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें