Political crisis in Rajasthan: पायलट के विद्रोह पर भाजपा 'इंतजार करो और देखो' की मुद्रा में, पढ़ें पूरी खबर

भाजपा के एक नेता ने कहा कि ऐसा लगता है कि पायलट ने अपना मन बना लिया है और वह गहलोत के नेतृत्व के साथ जाने को तैयार नहीं हैं. (फाइल फोटो)

माना जा रहा है कि राजस्थान कांग्रेस (Rajasthan Congress) के अध्यक्ष पायलट भाजपा के कुछ नेताओं के संपर्क में हैं. लेकिन भाजपा सूत्रों ने इस बारे में कुछ भी कहने से इनकार किया है कि उसकी पायलट से कोई बात हुई है या नहीं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. राजस्थान (Rajasthan) में कांग्रेस सरकार के ऊपर छाए संकट के बादलों पर भारतीय जनता पार्टी (BJP) “इंतजार करो और देखो” की मुद्रा में है. पार्टी सूत्रों ने रविवार को कहा कि अगली कार्रवाई की योजना पर निर्णय लेने से पहले भाजपा, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और सचिन पायलट (Sachin Pilot) के बीच शक्ति प्रदर्शन के परिणाम का इंतजार करेगी. गहलोत ने सोमवार को कांग्रेस विधायकों की बैठक बुलाई है जिसमें इस बात के स्पष्ट संकेत मिलने की उम्मीद है कि गहलोत और पायलट को कितने विधायकों का समर्थन प्राप्त है.

    माना जा रहा है कि राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष पायलट भाजपा के कुछ नेताओं के संपर्क में हैं. लेकिन भाजपा सूत्रों ने इस बारे में कुछ भी कहने से इनकार किया है कि उसकी पायलट से कोई बात हुई है या नहीं. पायलट अभी दिल्ली में हैं और उन्होंने खुले तौर पर पार्टी के खिलाफ असंतोष प्रकट किया है. पायलट का दावा है कि उन्हें कांग्रेस के 30 विधायकों और कुछ अन्य निर्दलीय सदस्यों का समर्थन प्राप्त है. भाजपा के एक नेता ने कहा कि ऐसा लगता है कि पायलट ने अपना मन बना लिया है और वह गहलोत के नेतृत्व के साथ जाने को तैयार नहीं हैं.

    उन्हें हाशिय पर किया जा रहा है
    दरअसल, सचिन पायलट को पार्टी और सरकार में महत्व नहीं मिल रहा है. उन्होंने खुद आरोप लगाया है उन्हें हाशिय पर किया जा रहा है. यही  वजह है कि रविवार को सचिन पायलट ने दिल्ली में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल से बात की थी. इसमें उन्होंने राजस्थान में सियासी हलचल की जानकारी दी थी. सूत्रों के मुताबिक पायलट ने अहमद पटेल को बताया था कि गहलोत उन्हें हाशिये पर धकेलने की कोशिश कर रहे हैं. सचिन पायलट को फिलहाल आश्वासन दिया गया है कि उनके साथ अन्याय नहीं होने दिया जाएगा.

    देर रात सचिन पायलट जयपुर वापस लौट गए
    सूत्रों के मुताबिक अहमद पटेल से बातचीत के बाद शनिवार देर रात सचिन पायलट जयपुर वापस लौट गए. बताया जा रहा है कि बीते शनिवार को सचिन पायलट समर्थक 10 से ज्यादा विधायक दिल्ली पहुंचे थे. लेकिन वे एक जगह इकट्ठा नहीं हुए. बता दें कि विधायकों की खरीद फरोख्त के आरोप मामले में स्पेशल आपरेशन ग्रुप (SOG) ने बड़ी कार्रवाई की है. मामले में एसओजी ने एफआईआर दर्ज की है. इसमें सचिन पायलट की भूमिका भी संदिग्ध बताई जा रही है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.