Assembly Banner 2021

Rajasthan Crisis: पायलट नोटिस याचिका केस में पक्षकार बनने के लिए एक और प्रार्थना-पेश

पब्लिक अगेंस्ट करप्शन संस्था की ओर से यह प्रार्थना-पत्र एडवोकेट पूनमचंद भण्डारी, आईजे खतुरिया, अभिनव राकेश चंदेल और डॉ. टीएन शर्मा ने पेश किया है.

पब्लिक अगेंस्ट करप्शन संस्था की ओर से यह प्रार्थना-पत्र एडवोकेट पूनमचंद भण्डारी, आईजे खतुरिया, अभिनव राकेश चंदेल और डॉ. टीएन शर्मा ने पेश किया है.

प्रदेश में सियासी संकट के दौर में कांग्रेस के बागी विधायकों को विधानसभा अध्यक्ष की ओर से व्हिप उल्लंघन को लेकर दिये गए नोटिस के मामले में हाईकोर्ट में चल रही सुनवाई के बीच इसमें पक्षकार बनने के लिये एक और प्रार्थना पत्र पेश किया गया है.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश में सियासी संकट (Political crisis) के दौर में कांग्रेस के बागी विधायकों को विधानसभा अध्यक्ष की ओर से व्हिप उल्लंघन (Whip violation) को लेकर दिये गए नोटिस के मामले में हाईकोर्ट में चल रही सुनवाई के बीच इसमें पक्षकार बनने के लिये एक और प्रार्थना पत्र पेश किया गया है. यह प्रार्थना-पत्र पब्लिक अगेंस्ट करप्शन संस्था की ओर से कोर्ट में पेश किया गया है.

प्रार्थना-पत्र पेश करके यह कहा
पब्लिक अगेंस्ट करप्शन संस्था की ओर से यह प्रार्थना-पत्र एडवोकेट पूनमचंद भण्डारी, आईजे खतुरिया, अभिनव राकेश चंदेल और डॉ. टीएन शर्मा ने पेश किया है. इन्होंने प्रार्थना-पत्र पेश करके कहा है कि पार्टी से टिकट लेकर विधायक बनने वालों पर दलबदल कानून लागू हो. अनुसूची 10 के 2-A-1 के प्रावधान को हर हाल में बरकरार रखा जाये. क्योंकि इस प्रावधान के कमजोर होने पर भ्रष्टाचार बढ़ेगा.

Rajasthan Crisis: ऑडियो क्लिप प्रकरण पर रणदीप सुरजेवाला बोले- BJP ने इस बार गलत राज्य चुन लिया
19 विधायकों को दिये गये हैं नोटिस


उल्लेखनीय है कि सचिन पायलट समेत कांग्रेस से बगावत करने वाले सभी 19 विधायकों को विधानसभा अध्यक्ष की ओर से गत मंगलवार रात को व्हिप के उल्लंघन को लेकर नोटिस जारी किये गये थे. इस नोटिस की वैधानिकता को चैलेंज करते हुए सचिन पायलट खेमे ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. इस पर गत सप्ताह हाईकोर्ट सीजे इंद्रजीत माहन्ती और जस्टिस प्रकाश गुप्ता की बैंच ने सुनवाई की थी. सुनवाई के पहले चरण में पायलट खेमे की ओर से बहस पूरी हो चुकी है.

Rajasthan crisis: पायलट के 4 खास विधायक मित्रों ने ही बिगाड़ा उनका गेम! पढ़ें इनसाइड स्टोरी

आज हो रही है सुनवाई
शुक्रवार को स्पीकर की तरफ से हो रही बहस अधूरी रह गई थी. उस पर आज सुनवाई हो रही है. स्पीकर की ओर से अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी इस मामले में पैरवी कर रहे हैं. मुख्य सचेतक की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता एके भंडारी और एनके मालू पैरवी करेंगे. हाईकोर्ट में बहस शुरू हो चुकी है. अभिषेक मनु सिंघवी अपने तर्क पेश कर रहे हैं. इससे पहले सरकार के मुख्य सचेतक ने इसमें पक्षकार बनने का प्रार्थना-पत्र दिया था. उसे कोर्ट ने स्वीकार कर लिया था. सरकारी मुख्य सचेतक को इसमें चौथा पक्षकार बनाया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज