Rajasthan Crisis: पायलट और उनके समर्थक विधायकों के खिलाफ कार्रवाई का प्रस्ताव पारित
Jaipur News in Hindi

Rajasthan Crisis: पायलट और उनके समर्थक विधायकों के खिलाफ कार्रवाई का प्रस्ताव पारित
सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों को पार्टी से निकालने के प्रस्ताव का समर्थन करते विधायक.

Rajasthan Crisis: अशोक गहलोत सरकार को संकट से उबारने से लिए हुई मंगलवार को हुई विधायक दल की बैठक में डिप्टी सीएम एवं पीसीसी चीफ सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों के खिलाफ कार्रवाई का प्रस्ताव पारित किया गया है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार (Ashok Gehlot government) को संकट से उबारने से लिये हुई मंगलवार को हुई विधायक दल की बैठक में डिप्टी सीएम एवं पीसीसी चीफ सचिन पायलट (Sachin Pilot) और उनके समर्थक विधायकों के खिलाफ कार्रवाई का प्रस्ताव पारित किया गया है. सियासी संकट के बीच सोमवार को हुई विधायक दल की बैठक में भी कार्रवाई का प्रस्ताव पारित किया गया था. पायलट और उनके समर्थक विधायक आज भी बैठक में शामिल नहीं हुए. पायलट खेमा अपनी मांगों पर अड़ा हुआ है.

बैठक में 101 विधायक मौजूद होने का दावा

राजधानी जयपुर में दिल्ली रोड पर कूकस स्थित होटल फेयरमोंट में आयोजित विधायक दल की बैठक में पायलट और उनके समर्थक विधायकों के खिलाफ कार्रवाई का यह प्रस्ताव पारित किया गया है. गहलोत खेमे की ओर से इस बैठक में 101 विधायक मौजूद होने का दावा किया गया है. इसी होटल में गहलोत समर्थक पार्टी और निर्दलीय विधायकों की बाड़ेबंदी की गई है. सीएम गहलोत खुद यहां रहकर पूरे मामले में नजर रखे हुए हैं. होटल और उसके आसपास कड़े सुरक्षा बंदोबस्त किये गए हैं. बिना अनुमति के ना तो किसी को अंदर जाने दिया जा रहा है और ना ही किसी बाहर विधायक को बाहर आने दिया जा रहा है.



Rajasthan Crisis: अशोक गहलोत को सीएम मानने को तैयार नहीं सचिन पायलट, कहा- चाहें तो किसी तीसरे को बना लें- सूत्र
कांग्रेस कमेटी के महासचिव ने भी की यह मांग

वहीं राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महासचिव रूपेश कान्त व्यास ने भी पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी से अनुशासनहीनता कर रहे विधायकों के खिलाफ शीघ्र कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है. व्यास ने कहा कि पार्टी की मजबूती ही हर कार्यकर्ता की प्राथमिकता होनी चाहिए. व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा बाद में आती है. व्यास ने कहा कि अनुशासन एवं वफादारी ही सच्चे कांग्रेसजन की पहचान है. राजनीति जनसेवा एवं जनकल्याण के लिए कार्य करने का एक महत्त्वपूर्ण तरीका है. लेकिन कुछ लोग इसे व्यक्तिगत स्वार्थ एवं फायदे के लिए इस्तेमाल करते हैं जो बहुत ही शर्मनाक एवं अफसोसजनक है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading