Rajasthan Crisis: पायलट गुट के निशाने पर CM गहलोत, कहा- ACB और SOG से खौफ में परिवार!
Jaipur News in Hindi

Rajasthan Crisis: पायलट गुट के निशाने पर CM गहलोत, कहा- ACB और SOG से खौफ में परिवार!
पायलट खेमे के विधायकों ने सीएम गहलोत पर बड़ा आरोप लगाया है.

Rajasthan Government Crisisi: सचिन पायलट (Sachin Pilot) खेमे के विधायक सुरेश मोदी ने कहा कि CM गहलोत (Ashok Gehlot) ने कहा हमे बंधक बना रखा है. हमे किसी ने बंधक नहीं बनाया है और न ही हम आंसू बहा रहे हैं. ना ही हम जयपुर (Jaipur) आने के लिए तड़प रहे हैं.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में सियासी हलचल तेज हो गई है. अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और सचिन पायलट (Sachin Pilot) की लड़ाई अब राजभवन तक पहुंच गई है. एक ओर जहां सीएम गहलोत समर्थक विधायक राजभवन में रातभर धरना देने की तैयारी कर रहे हैं तो वहीं दूसरी ओर सचिन पायलट गुट ने सीएम गहलोत पर बड़े आरोप लगा दिए हैं. सचिन पायलट खेमे के विधायक सुरेश मोदी ने कहा कि CM गहलोत ने कहा हमे बंधक बना रखा है. हमे किसी ने बंधक नहीं बनाया है और न ही हम आंसू बहा रहे हैं. ना ही हम जयपुर आने के लिए तड़प रहे हैं. सुरेश मोदी ने कहा कि हम हमारी स्वेच्छा से दिल्ली में हैं. अपनी कुर्सी बचाने के लिए सीएम गहलोत बेवजह आरोप ना लगाएं. उन्होंने कहा कि डेढ़ साल से इलाके में पानी के लिए मुख्यमंत्री से मांग की जा रही थी. जिले बनाने की भी मांग रखी, लेकिन उन्होंने ध्यान नहीं दिया.

वहीं, सचिन खेमे के एक और विधायक मुरारी लाल मीणा ने कहा कि अशोक गहलोत तीसरी बार सीएम बने हैं, लेकिन अनर्गल आरोप लगा रहे हैं. उन्होंने कहा कि न हमने बीजेपी से सम्पर्क किया और ना ही कांग्रेस छोड़ी है. हमारी जो उपेक्षा उन्होंने की है उसके लिए हम आलाकमान से मिलने आए हुए हैं. मुरारी लाल मीणा ने कहा कि ACB और SOG का जो प्रयोग किया जा रहा है उससे हमारे परिवार में भय है. वेद प्रकाश सोलंकी ने कहा कि हम सचिन पायलट के साथ हैं और उनके साथ ही रहेंगे. जयपुर में बैठे कुछ लोग बेवजह आरोप लगा रहे हैं.


ये भी पढ़ें: Rajasthan Crisis LIVE: CM गहलोत ने कहा- ऐसा क्या षडयंत्र है कि विधानसभा सत्र बुलाने की अनुमति नहीं दी जा रही



सीएम गहलोत का विपक्ष पर हमला

राज्यपाल से मुलाकात के बाद सीएम गहलोत ने विपक्ष पर जमकर निशाना साधा. मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने विधानसभा सत्र बुलाने की मांग की है. विधानसभा में हम बहुमत सिद्ध करेंगे. कोरोना पर चर्चा भी करेंगे. हमने गुरुवार रात को ही राज्यपाल से सत्र को लेकर निवेदन किया था. आज हमने फिर कहा है कि राज्यपाल सत्र बुलाने पर फैसला करें. उन्होंने कहा कि राज्यपाल को बोल्ड डिसीजन लेना चाहिए. उम्मीद करते हैं कि जल्दी राज्यपाल अपना फैसला सुनाएंगे. फैसला आने तक हम धरना देंगे.

ये भी पढ़ें: बनारसी चाय की दुकान बंदकर वाराणसी का ये शख्स पिला रहा काढ़ा, जानें क्या है मामला

सीएम गहलोत ने कहा, हमेशा विपक्ष विधानसभा सत्र बुलाने की मांग करता है. यहां सत्ता पक्ष विधानसभा सत्र बुलाने की मांग कर रहा है. ऐसा क्या षड्यंत्र है कि विधानसभा सत्र बुलाने की अनुमति नहीं दी जा रही है. वहीं, राजभवन घेराव बयान पर सीएम अशोक गहलोत ने कहा, यह बयान राजनीतिक बयान था. भैरोंसिंह शेखावत ने भी राजभवन में धरना दिया था. बीजेपी के नए नेताओं को इसकी जानकारी नहीं होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading