Rajasthan Crisis: सतीश पूनिया का बड़ा बयान, CM गहलोत को अपने ही विधायकों पर भरोसा नहीं
Jaipur News in Hindi

Rajasthan Crisis: सतीश पूनिया का बड़ा बयान, CM गहलोत को अपने ही विधायकों पर भरोसा नहीं
सतीश पूनिया ने सीएम अशोक गहलोत के इस्तीफे की मांग की है. (File)

Rajasthan Political Crisis Update: डाॅ. सतीश पूनिया (Satish Poonia) ने कहा कि राज्य सरकार (Gehlot Government) असुरक्षित है, भयभीत है. जॉगिंग करने वालों के पीछे पुलिस लगा रखी है. यह सब ऐथिकली ठीक नहीं हैं.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डाॅ. सतीश पूनिया (Satish Poonia) ने ट्वीट कर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) और राज्य सरकार पर निशाना साधा है. पूनिया ने कहा कि अशोक गहलोत के जैसलमेर के बाड़े वाले भगवान श्री राम से रूठ गए दिखते हैं. राहुल गांधी और प्रियंका गांधी ने श्री राम में आस्था को लेकर भी ट्वीट किया था, लेकिन प्रदेश में कांग्रेस वालों ने कोई दीपक, आरती, भजन की फोटो नहीं लगाई. हवाई जहाज, जोगिंग, राखी, बावर्ची, क्रिकेट, सैल्फी और तो और नमाज की भी फोटो आई ही, भली करै रामजी!. डाॅ. सतीश पूनिया ने कहा कि राज्य सरकार असुरक्षित है, भयभीत है, अपने लोगों पर भरोसा नहीं है. विधायक बीमार हो रहे हैं. जॉगिंग करने वालों के पीछे पुलिस लगा रखी है. यह सब ऐथिकली ठीक नहीं हैं.

सतीश पूनिया ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत कांग्रेस पार्टी में एकता का दावा करते थे, लोकतंत्र और नैतिकता की बात की. धीरे-धीरे सब चीजें सामने आ रही है कि कांग्रेस में कितना लोकतंत्र है और कैसी नैतिकता है. मीडिया की खबरों से पता चलता है इनके विधायक होटल में एक-दूसरे से मिल नहीं सकते, बातचीत नहीं कर सकते है, जैमर लगा रखा है, सोशल मीडिया का उपयोग नहीं कर सकते हैं. होटल के अंदर बाड़े में जो विधायक रह रहे हैं, वो मुख्यमंत्री की नजर में संदिग्ध हैं, जिन पर मुख्यमंत्री को विश्वास नहीं है. इसलिए विधायकों को पुलिस के कड़े पहरे में होटल के बाड़े में रखा जा रहा है.

ये भी पढ़ें: इलाहाबाद हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, पहली बार परिवार न्यायालयों में प्रधान न्यायाधीश की नियुक्ति 



कांग्रेस पर साधा निशाना
डाॅ. सतीश पूनिया ने कहा कि पहली बात तो बाड़े पर ही ऐतराज है. बाड़े की संस्कृति  राज्यसभा चुनाव के दौरान और अब प्रदेश में चल रहे सियासी घटनाक्रम पर खुद कांग्रेस ने  शुरू की. राजस्थान में बाड़ों की परिभाषा थोड़ी अलग किस्म की होती है. कांग्रेस ने विधायकों के भी बाड़े बना दिए. कांग्रेस ने यह नया आविष्कार और नवाचार है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस 55 वर्षों तक लूट और झूठ का खेल खेलती रही और अब बाड़ा संस्कृति को उन्होंने प्रोत्साहन दे रही है. मुख्यमंत्री गहलोत पर निशाना साधते हुए डाॅ. पूनिया ने कहा कि इनकी यू-टर्न सरकार है. यह अपनी बात से यू-टर्न लेने में माहिर है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने कहा था कि 124 ए गलत हुई तो इस्तीफा दे दूंगा, अब इस्तीफा क्यों नहीं देते? राजस्थान तलवार और बात के धनी लोगों की धरती कही जाती है, यू-टर्न लेकर मुख्यमंत्री कितने दिन सरकार चलाएंगे. विधायकों पर लगाई गई 124 ए को लेकर डाॅ. पूनिया ने कहा कि यह गलत लगाई गई है. आपने कहा था कि यह झूठ हुई तो मैं इस्तीफा दे दूंगा, तो अब उनको इस्तीफा दे देना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज