राजस्थान: पायलट गुट ने दिखाया '19' का दम, कहा- समय बताएगा कौन किसके साथ रहेगा

पायसट खेमे के विधायकों ने बसपा के आऱोपों को नकारा.

Pilot v/s Gehlot: बसपा विधायकों द्वारा लगाए गए आरोपों पर नाराजगी जहिर करते हुए पायलट (Sachin Pilot) गुट के विधायक मुकेश भाकर (Mukesh Bhaker) और राकेश पारीक (Rakesh Pareek) ने कहा कि पार्टी ने पायलट के कद के मुताबिक  सम्मान मिलना चाहिए.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) में पिछले कुछ समय से शांत मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) और सचिन पायलट (Sachin Pilot) के बीच का पॉलिटिकल ड्रामा फिर तेज होता दिख रहा है. बीएसपी (BSP) छोड़कर कांग्रेस में आए विधायकों ने सचिन पायलट पर हमला बोलने की कोशिश की तो पायलट समर्थक भी आगे आ गए. बसपा विधायकों ने खुद को असली और सचिन पायलट को नकली बता दिया. इन सबके बीच मंगलवार को पायलट समर्थक विधायकों ने एक प्रेसवार्ता की और बसपा विधायकों के लगाए आरोपों पर नाराजगी जताई. टीम पायलट में शामिल मुकेश भाकर और राकेश पारीक ने कहा कि बसपा से आए विधायकों को कांग्रेस का इतिहास नहीं पता. बिना शर्त के इन्हें कांग्रेस में शामिल होने का कहा था. फिर अब क्या पीड़ा हो रही है? मुकेश भाकर ने कहा कि कौन विधायक किसके साथ रहेगा ये तो समय बताएगा. हम 19 हैं. आगे देखियेगा.

उन्होंने कहा कि राजस्थान में किसान कर्ज माफ जैसी चीजें नहीं हो पा रही थी. कार्यकर्ता पूछते थे. इसलिए पार्टी हाईकमान से मिलने सचिन पायलट दिल्ली गए थे. हाईकमान से मिलना हमारा अधिकार है. एक कवि की पत्नी को RPSC का मेम्बर बना दिया गया. ऐसी स्थितियों में आलाकमान से मिलना हमारा अधिकार है. उन्होंने कहा कि हम अनुशासित हैं, लेकिन नए आने वाले लोग हम पर अंगुली उठा रहे हैं. सचिन पायलट ने कुछ भी गलत नहीं कहा. सरकार से केवल 10 महीने पहले के वादे पूरे करने को कहा है.

पालट खेमे के विधायकों का दावा

विधायक मुकेश भाकर और राकेश पारीक ने कहा कि पूरा राजस्थान सचिन पायलट के साथ है. कुछ लोगों के आने जाने से क्या फर्क पड़ता है?  जब बसपा के लोग बिना शर्त पार्टी में आए तो आज प्रेसवार्ता करने की क्या जरूरत पड़ी. मुकेश भाकर ने कहा कि मैं जीतकर यूथ कांग्रेस का अध्यक्ष बना. आज हमसे कहा जा रहा कि कौन कांग्रेसी और कौन नहीं. हमने कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के मान सम्मान की बात की. हमने अपने लिए कुछ नहीं मांगा.  संदीप यादव से किसने गद्दार होने की बात कहलवाई, इसका संज्ञान लेना चाहिए. समय बताएगा कौन किसके साथ रहेगा.

बसपा विधायको के आरोपों विधायक मुकेश भाकर और राकेश पारीक ने कहा कि ढाई साल में तीन पार्टी बदलने वाले हमें वफादारी सिखा रहे है.अभी तो इनका मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है. इनकी सदस्यता का ही पता नहीं है. जरूरत पड़ी तो फिर AICC में जाकर मिलेंगे. सरकार हमारी गतिविधियों पर निगाह रख रही है. मुकेश भाकर ने दावा किया कि मेरे घर के आस पास 2-3 लोग सादे वर्दी में थे. मैंने उनसे पूछा तो कहा कि हम अपनी डयूटी कर रहे हैं. वो लोग मुझे संदिग्ध लगे. हमें नहीं पता फोन टेप हो रहे हैं या नहीं. कलेक्टर, एसपी हमारे फोन नहीं उठाते. उन्होंने कहा कि हम पार्टी में सचिन पायलट के लिए उनके कद के हिसाब से मान सम्मान चाहते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.