राजस्थान में कोरोना पर सियासत हाई, सीएम गहलोत की अपील पर हनुमान बेनीवाल ने दिया ये जवाब

बेनीवाल ने लिखा कि आप राजनीति को छोड़कर कोरोना के खिलाफ जंग को और मजबूत करें.

बेनीवाल ने लिखा कि आप राजनीति को छोड़कर कोरोना के खिलाफ जंग को और मजबूत करें.

Politics High in rajasthan on Corona : राजस्थान में कोरोना महामारी को लेकर सियासी संग्राम छिड़ा हुआ है. केन्द्र और राज्य की लड़ाई खुलकर सामने आ रही है. वहीं नेताओं के बीच जुबानी और ट्वीटर वार छिड़ा हुआ है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में कोरोना को लेकर सियासत (Politics High on Corona) जोरों पर है. कभी वैक्सीन की कमी तो कभी ऑक्सीजन की कमी और कभी फ्री वैक्सीन को लेकर केन्द्र तथा राज्य (Center Vs state) की लड़ाई खुले तौर पर सामने आ रही है. गेंद एक-दूसरे के पाले में डालकर घेराबंदी के प्रयास किये जा रहे हैं. एक बार फिर यह सियासत ट्वीट के जरिए खुले तौर पर सामने आई है.

सीएम अशोक गहलोत ने प्रदेश में ऑक्सीजन और दवाइयों की कमी के मामले में प्रदेश के सभी सांसदों से केन्द्र में राजस्थान की बात गंभीरता से रखने की अपील की है. प्रदेश से लोकसभा के सभी 25 सांसद गैर कांग्रेसी हैं. लोकसभा में प्रदेश का नेतृत्व करने वाले सांसदों में से 24 बीजेपी और एक राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी का है. वहीं राज्यसभा में भी 10 में से 7 सांसद बीजेपी के हैं. सीएम की इस अपील के बाद नागौर से लोकसभा सांसद हनुमान बेनीवाल ने ट्वीट के जरिए केन्द्र सरकार से अपील तो की लेकिन ही प्रदेश सरकार को नसीहत भी दे दी.

यह कहा सीएम गहलोत ने

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर कहा कि मेरी प्रदेश के सभी माननीय सांसदों से अपील है कि वो कृपा करके दिल्ली में ऑक्सीजन और दवाइयों के मामले में राजस्थान की बात गंभीरता से रखें. दवाइयों, ऑक्सीजन और वैक्सीन के मामले में केन्द्र और राज्यों के बीच समन्वय अच्छा बना रहे इसके लिए माननीय सांसदों को भी आगे आना चाहिए. विशेषज्ञों की राय में 30 अप्रेल तक का समय बेहद मुश्किल है. इसलिए सभी माननीय सांसद 30 अप्रेल तक इस ओर विशेष ध्यान दें. गहलोत पिछले कई दिनों से केन्द्र सरकार पर हमलावर हैं और कोरोना से जुड़े विभिन्न मसलों को लेकर कभी ट्वीट के जरिए तो कभी बयानों के जरिए लगातार केन्द्र सरकार पर निशाने साध रहे हैं.
बेनीवाल से मिला यह जवाब

सीएम अशोक गहलोत के इस ट्वीट के बाद सबसे पहले नागौर से राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के सांसद हनुमान बेनीवाल आगे आए और गहलोत सरकार पर पलटवार किया. बेनीवाल ने ट्वीट के जरिेए कहा कि मुख्यमंत्री जी आपके स्मरण के लिए यह बता दूं कि सर्वप्रथम विगत वर्ष सांसद कोष से मैंने 50 लाख रुपये वेंटिलेटर और अन्य उपकरण आदि खरीदने के लिए स्वीकृत किये थे. वहीं 2 लाख रुपये व्यक्तिगत रूप से कोरोना आपदा में व्यय किये. इसके साथ ही आरएलपी परिवार के सदस्यों और मित्रों के माध्यम से एक करोड़ से अधिक की राशि नागौर में कलक्टर द्वारा बनाये गए कोष और सीएम व पीएम रिलीफ फंड में दिलवाए.

आप और आपके मंत्री औपचारिकता निभा रहे हैं



बेनीवाल ने कहा कि इस महामारी में बिना किसी भेदभाव के जरूरतमंद की हरसंभव मदद की और कर रहा हूं. परन्तु आप और आपके मंत्री बंद कमरों में वीसी के माध्यम से महज औपचारिकता निभा रहे हो. जबकि आपको और आपके स्वास्थ्य मंत्री और अन्य मंत्रियों को राज्य के स्वास्थ्य संस्थानों का दौरा करके वहां की स्थिति को देखने की जरुरत है जो आप नही कर रहे हैं. विगत वर्ष भी आपने ऐसा ही किया.

आप स्वयं की नैतिक जिम्मेदारी को भी नही भूलें

बेनीवाल ने आगे लिखा कि आप राजनीति को छोड़कर कोरोना के खिलाफ जंग को और मजबूत करें. मेरे द्वारा व्यक्तिगत रूप से पूर्व में भी केन्द्र सरकार से राजस्थान के संदर्भ में आवश्यक मदद की पुरजोर पैरवी की गई थी और अब भी की है तथा भविष्य में भी करूंगा. लेकिन ऐसे समय मे आप स्वयं की नैतिक जिम्मेदारी को भी नही भूलें.

बेनीवाल ने केन्द्र से अपील भी की

बेनीवाल ने ट्वीट के जरिए सीएम गहलोत पर तो निशाना साधा लेकिन साथ ही उन्होंने ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री से अपील भी की. बेनीवाल ने लिखा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी आप तत्काल प्रभाव से राजस्थान के लिये बिना किसी भेदभाव के ऑक्सीजन की आपूर्ति और जीवन रक्षक दवाओं की आपूर्ति बढ़ाते हुए राज्य सरकार को आवश्यक संसाधन कोरोना से लड़ने के लिए उपलब्ध करवायें. ताकि लोगों के जीवन को बचाया जा सके. बेनीवाल ने कहा कि राजस्थान के साथ किसी प्रकार का सौतेला व्यवहार नहीं करें. क्योंकि आप जब प्रधानमंत्री बने थे तब राजस्थान की जनता ने आपको 25 सांसद दिए थे. मामले में स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन भी संज्ञान लें.

जयपुर ग्रामीण सांसद राठौड़ ने दिया ये जवाब

वहीं जयपुर ग्रामीण सांसद राज्यवर्द्धन सिंह राठौड़ ने केन्द्र की ओर से अब तक मिली मदद का हवाला देते हुये लिखा कि PM श्री @narendramodi जी के नेतृत्व में राजस्थान को अब तक मिल चुकी मदद. 1.275 करोड़ वैक्सीन, रेमडेसिविर 26500 इंजेक्शन 160MT ऑक्सीजन और 1900 वेंटिलेटर. राठौड़ ने कहा कि अब राज्य सरकार से आह्वान है कि वह अपने दायित्व का निर्वहन करें और केन्द्र सरकार से मिली इस मदद का लाभ जनता को दे. PM श्री @narendramodi जी के नेतृत्व में राजस्थान के सभी सांसद पूरे मनोयोग से प्रदेश की जनता को आवश्यक दवाएं और चिकित्सा सहायता उपलब्ध करवाने के लिए प्रतिबद्ध हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज