• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • शौर्य पर सियासत: गोविंद डोटासरा सेना को क्रेडिट देना भूले, BJP ने कहा- 1971 का युद्ध सेना की जीत

शौर्य पर सियासत: गोविंद डोटासरा सेना को क्रेडिट देना भूले, BJP ने कहा- 1971 का युद्ध सेना की जीत

मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने बताया कि 1971 का युद्ध इंदिरा गांधी ने जिताया थ, हालांकि वह सेना को क्रेडिट देना भूल गए.

मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने बताया कि 1971 का युद्ध इंदिरा गांधी ने जिताया थ, हालांकि वह सेना को क्रेडिट देना भूल गए.

Rajasthan News: बांग्लादेश में 1971 की जीत के 50 साल पूरे होने पर राजस्थान में कांग्रेस ने विजय जलसा मनाने का निर्णय लिया है. लेकिन जनजागरण कार्यक्रम की शुरुआत के पहले ही सियासत शुरू हो गई है.

  • Share this:

जयपुर. भारत पाकिस्तान के बीच 1971 के युद्ध (Indo-Pak war of 1971) में भारतीय सेना (Indian Army) की ऐतिहासक जीत के 50 वर्ष पूर्ण होने पर राजस्थान में कांग्रेस इस इस विजय को सालाना जलसे के रूप में मनाने जा रही है. लेकिन कांग्रेस (Congress) के इस जीत के जनजागरण कार्यक्रम की शुरुआत से पहले ही सियासत शुरू हो गई. विपक्षी भाजपा ने कांग्रेस पर सेना के शौर्य के आड़ में सियासत का आरोप लग रहा है. इसकी शुरुआत खुद कांग्रेस ने की है.

राजस्थान कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasara) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के नेता सवाल उठाते हैं कि कांग्रेस ने 70 साल में क्या किया. इसका जबाब है 1971 में पाकिस्तान के दो टुकड़े औऱ बांग्लादेश का निर्माण. ये काम पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने किया. डोटासरा ने कहा कि इस उपलब्धि को अब जन-जन तक पहुंचाया जाएगा. आज की पीढ़ी को बताया जाएगा कि कैसे इंदिरा गांधी ने 1971 में पाकिस्तान को विभाजित कर दिया था. इंदिरा गांधी ने देश के स्वाभिमान के लिए कौन-कौन से काम किए, ये आज की पीढ़ी को बताया जाएगा. जिससे युवा जान सकें कि कांग्रेस ने देश के स्वाभिमान के लिए कितना काम किया.

सेना की शौर्यगाथा बताना भूले डोटासरा 

गोविंद सिंह डोटासरा ये बताने के साथ सेना के जवानों का साहस और उस युद्ध में जवानों की शौर्यगाथा बताना भूल गए. डोटासरा ने ये भी नहीं कहा कि सेना की इस उपलब्धि को लोगों तक पहुंचाया जाएगा. जाहिर है बीजेपी को डोटसरा पर हमले का मौका मिल गया. बीजेपी ने सवाल उठाया कि जब सेना ने पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक की तब कांग्रेस ने इस स्ट्राइक पर सवाल खड़े कर सेना का मनोबल तोड़ने का काम किया. अब वही कांग्रेस सेना की इस महाविजय का इस्तेमाल भी अपनी सियासी रोटी सेंकने में कर रही है.

बीजेपी का पलटवार, कहा- 1971 का युद्ध सेना की जीत

बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता रामलाल शर्मा ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि 1971 का युद्ध भारतीय सेना ने जीता. जीत का सेहरा सेना के सिर पर है. कहा कांग्रेस जबरन इसका श्रेय सेना के बजाय तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को देने की कोशिश कर रही है. रामलाल शर्मा ने कहा कि अगर वे कांग्रेस की तब की उपलब्धियां गिनाना चाहती है तो इमरजेंसी और कांग्रेस सरकार के भ्रष्टाचार भी जनता को बताए.

कांग्रेस ने 1971 की युद्ध की जीत के 50 वर्ष पूर्ण होने पर साल भर इस जीत का जश्न मनाने के लिए बाकायादा शौर्य कमेटियों का गठन किया. राज्य स्तर पर सीनियर विधायक महेंद्रजीत सिंह मालवीय को इसका संयोजक बनाया है. सभी 33 जिलों में कमेटियों का गठन किया गया. कमेटियां कार्यक्रम तय कर साल भर जन जागरण करेगी इंदिरा गांधी की इस उपलब्धि को आज की पीढ़ी को बताएगी कि कैसे इंदिरा गांधी ने पाकिस्तान को धूल चटाई थी.

क्या है 1971 की महाविजय
1971 में पाकिस्तान ने अपने ही देश के पूर्वी हिस्से में जब दमन शुरु किया. कत्ले आम किया, तब इसका मुकाबला पूर्वी पाकिस्तान की मुक्ति वाहिनी ने किया. भारत मुक्ति वाहिनी का साथ न दे सके, इसलिए पाकिस्तानी सेना ने भारत के पश्चिमी हिस्से पर आक्रमण कर दिया था. भारतीय सेना ने पश्चिम में तो पाकिस्तान को धूल चटाई ही पूर्वी पाकिस्तान में पाकिस्तान की सेना को आत्मसमर्पण पर मजबूर कर दिया था. पाकिस्तानी सेना के 90 हजार सैनिकों और अफसरों ने ढाका में भारतीय सेना के सामने सरेंडर किया. पूर्वी पाकिस्तान को पाकिस्तान से आजादी मिली और बांग्लादेश के निर्माण हुआ.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज