Rajasthan: 48 घंटे से लगातार बढ़ता जा रहा है प्रदूषण का स्तर, जयपुर में दो दिन में AQI 300 के पार हुआ

राजधानी जयपुर के बुधवार को ऐसे रहे हालात.
राजधानी जयपुर के बुधवार को ऐसे रहे हालात.

जयपुर में प्रदूषण (Pollution) खतरनाक स्तर पर बना हुआ है। मंगलवार रात को नौ बजे राजधानी जयपुर का AQI 353 पर पहुंच गया था. अलवर के औद्योगिक टाउन भिवाड़ी (Bhiwadi) में प्रदूषण का स्तर 450 से ज्यादा है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान में प्रदूषण (Pollution) का स्तर पिछले 48 घंटे से लगातार बढ़ता ही जा रहा है. बुधवार को सुबह तक बीते 36 घंटों में राजधानी जयपुर (Jaipur) में प्रदूषण का स्तर तीन गुना तक बढ़ गया. जयपुर में AQI का स्तर 300 के आसपास बना हुआ है. मंगलवार रात को नौ बजे तक राजधानी का AQI 353 पर पहुंच गया था. अलवर के औद्योगिक टाउन भिवाड़ी (Bhiwadi) में प्रदूषण का स्तर 450 से ज्यादा है. जबकि जयपुर के शाहपुरा में 330 से ज्यादा प्रदूषण है.

AQI का स्तर लगातार इतना ज्यादा बने रहना स्वास्थय के लिए काफी हानिकारक है. बुधवार को AQI ज्यादा होने की वजह से राजधानी में दिनभर ऐसा माहौल रहा जैसे बादलों ने घेरा हुआ हो. चारों ओर कोहरा सा छाया रहा. भरी दोपहरी में भी राजधानी में धूप नजर नहीं आई. जयपुर में विजिबिलिटी के हालात बेहद खराब हैं. इन हालात में प्रदूषण नियंत्रण मंडल की ओर से लगातार चेताया जा रहा है कि AQI का लेवल मानक स्तर 100 से ज्यादा रहने पर ही सावधानी बरतना शुरू कर देना चाहिए.

Karauli: भारी-भरकम चट्टान के नीचे दबी महिला को मौत के मुंह से खींच लाए ग्रामीण, तस्‍वीरों से जानें पूरी घटना

जयपुर में प्रदूषण का स्तर काफी समय से मानक से तीन गुना ज्यादा बना हुआ है


ऐसे में जब जयपुर जैसे शहर में प्रदूषण का स्तर काफी समय से मानक से तीन गुना ज्यादा बना हुआ है तो कोराना काल में चिंता और बढ़ जाती है. स्वास्थय विभाग की एडवाइजरी के मुताबिक सांस संबंधी मामलों और अस्थमा से जूझ रहे लोगों के साथ कोरोना से पीड़ित लोग खास अहतियात बरतें. ऐसे लोग बाहर जाने से बचें. उल्लेखनीय है कि अलवर का भिवाड़ी क्षेत्र पूरी तरह से औद्योगिक क्षेत्र है. यहां औद्योगिक इकाइयों के कारण प्रदूषण का स्तर अमूमन बढ़ा हुआ रहता है. वहीं जयपुर में वाहनों की रेलमपेल ने प्रदूषण के स्तर को बढ़ा रखा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज