लाइव टीवी

नई पहल की तैयारी- आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और साथिन बनेंगी रेप पीड़िताओं की मददगार

News18 Rajasthan
Updated: June 8, 2019, 1:05 PM IST
नई पहल की तैयारी- आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और साथिन बनेंगी रेप पीड़िताओं की मददगार
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और साथिन बनेंगी रेप पीड़िताओं का सहारा।

अलवर गैंगरेप केस के बाद सतर्क हुई सरकार अब इस तरह के अपराधों की शिकार हुई पीड़िताओं की हरसंभव मदद के लिए नित नई योजनाएं तैयार करने में जुटी है.

  • Share this:
अलवर गैंगरेप केस के बाद सतर्क हुई राज्य सरकार अब इस तरह के अपराधों की शिकार हुई पीड़िताओं की हरसंभव मदद के लिए नित नई योजनाएं तैयार करने में जुटी है. अब रेप पीड़िताओं को आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाने में आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और साथिन की भी मदद मुहैया कराई जाएगी. अगर सबकुछ ठीकठाक रहा तो इस नई योजना को जल्द ही अमली जामा पहना दिया जाएगा.

शिक्षकों को तगड़ा झटका, रद्द होंगे 6 माह पुराने तबादले

यह होगा नई व्यवस्था में
राज्य सरकार ने अलवर गैंगरेप केस में थाना स्तर पर हुई लापरवाही के बाद अब 1 जून से सीधे पुलिस अधीक्षक कार्यालय में रेप की रिपोर्ट दर्ज कराने की व्यवस्था शुरू कर दी है. उसके बाद सरकार इस दिशा अब नई पहल करते हुए एक और नई व्यवस्था करने जा रही है. इसके तहत अगर लैंगिक अपराध से पीड़ित महिला या बालिका रिपोर्ट कराने से डरती है तो आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और साथिन उसकी मदद करेगी.

चूरू के बीदासर थाने पर भीड़ ने रात को किया हमला

गृह विभाग तैयार कर रहा है इसका परिपत्र
एक दैनिक अखबार में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार पीड़िता आंगनबाड़ी कार्यकर्ता या साथिन को अपराध की जानकारी देगी. इन महिला समूहों का पुलिस से सामजंस्य कराया जाएगा. उसके बाद पुलिस खुद पीड़िता से मिलकर मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई करेगी. इस व्यवस्था गांव-गांव, ढाणी-ढाणी प्रचार भी किया जाएगा. गृह विभाग इसका परिपत्र तैयार करने में जुटा है.एसएमएस अस्पताल में लगी आग, ऑपरेशन थिएटर हुआ खाक

घटना से सबक लिया सरकार ने
उल्लेखनीय है कि अलवर गैंगरेप केस के बाद पुलिस और सरकार की काफी किरकिरी हुई है. उसके बाद राज्य सरकार ने महिलाओं के खिलाफ होने वाले लैंगिक अपराधों में त्वरित पुलिस कार्रवाई के लिए कई कदम उठाने की शुरुआत की है.

Weather Alert: एक ही दिन में नौ लोगों की मौत, भरतपुर में दिल दहला देने वाली घटना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 8, 2019, 12:59 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर